Tuesday, June 11, 2019

शिवराज के बाद कमल नाथ सरकार की योजनाओं को आईना दिखा रही घंसौर की तीन विकलांग बेटियां

शिवराज के बाद कमल नाथ सरकार की योजनाओं को आईना दिखा रही घंसौर की तीन विकलांग बेटियां

जनप्रतिनिधियों गैरजिम्मेदारी, अधिकारियों की हिटलरशाही से सरकारी दफ्तरों के चक्कर काटने को हैं मजबूर

संवाददाता दीपक कुड़ोपा 
घंसौर। गोंडवाना समय। 
सत्ता आप बदलो व्यवस्था हम बदलेंगे वालों की सरकार बदल गई और वक्त है बदलाव वालों की सरकार आ गई लेकिन सरकार की योजनाओं को हितग्राहियों या जरूरतमंदों तक पहुंचाने में सरकारी मिशनरी की लापरवाही कहो या हिटलरशाही आज भी जस की तस बनी हुई है। हम बात कर रहे है सिवनी जिले के जनजाति बाहुल्य ब्लॉक घंसौर मुख्यालय की ग्राम पंचायत की जहां पर विकलांग वो एक नहीं तीन जिन्हें सरकार की योजनाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा है । जबकि सरकार ने विकलांगों के लिए अनेकों योजनाएं बनाई है ताकि गरीब निर्धन लोगों और विशेष तौर पर विकलांगों को कुछ आर्थिक लाभ मिल सके परंतु ग्राम पंचातय घंसौर में एक ऐसा परिवार है । जिसके परिवार के तीन बच्चे विकलांग हैं और वह ग्राम पंचायत एवं जनपद पंचायत के 6 वर्षों से चक्कर काट रहे है । उनका नाम है श्री भागीरथ विश्वकर्मा जो ग्राम पंचायत घंसौर के शांति नगर के निवासी है । जिनकी 3 बालिकाएं हैं जिसमें एक पैर से विकलांग और दो बालिका मंदबुद्धि है जिन्हें आज तक किसी भी शासकीय योजनाओं का लाभ नहीं मिला है ।

हाथठिलिया चलाकर करते है अपने परिवार का भरण पोषण

जबकि लड़कियों के पिता श्री भागीरथ विश्वकर्मा ने ग्राम पंचायत में अनेकों बार आवेदन दिया ओर निवेदन भी किया है और इसके लिये विकलांगता के प्रमाण पत्र भी जमा किया परंतु अभी तक किसी भी प्रकार की सहायता नहीं मिली है । जबकि श्री भागीरथ विश्वकर्मा का परिवार आज भी आर्थिक रूप से कमजोर स्थिति में है और भूमिहीन एवं आवास हीन होने के बाद भी कोई लाभ नहीं मिला है । जबकि श्री भागीरथ विश्वकर्मा हाथठिलिया चलाकर अपने परिवार का भरण पोषण करते है ।

पंचायतों के जनप्रतिनिधि का निक्कमापन हो रहा उजागर 

जबकि सिवनी जिले  के जिला पंचात उपाध्यक्ष श्री चंद्रशेखर चतुवेर्दी भी घंसोर ग्राम पंचायत में निवास करते है और उन्हें भी श्री भागीरथ विश्वकर्मा ने कई बार निवेदन करते हुये गुहार लगाया है परंतु उनकी समस्या का समाधान नहीं हो पाया है । यह भी संयोग की बात है कि
जनपद पंचायत घंसौर के उपाध्यक्ष पंडित विजय तिवारी के घर के पीछे ही श्री भागीरथ विश्वकर्मा का परिवार निवास करता है एवं सबसे बड़ी बात तो यह है कि
घंसौर ग्राम पंचायत के सरपंच श्री आनंद मरकाम भी श्री भागीरथ विश्वकर्मा के मोहल्ले के रहने वाले हैं । दुर्भाग्य यह है कि सिवनी जिला पंचायत से लेकर जनपद एवं जनपद से लेकर ग्राम पंचायत के मुखिया भी इस समस्या पर कोई ध्यान नहीं दे रहे हैं । हम आपको बता दे कि ऐसा ही एक मामला ग्राम पंचायत पाटन के ग्राम दावाझिर से से भी है जहां के गेंदलाल बरकड़े  2 वर्ष पहले गंभीर बीमारी के चलते दोनों पैर गवा बैठे थे जो आज सरकारी योजनाओं का लाभ लेने के लिए ग्राम पंचायत से लेकर जनपद तक दर-दर भटक रहे हैं लेकिन उनकी समस्याआें पर सरपंच सचिवों का कोई ध्यान नहीं है और परिवार ने शासन से सरकारी योजनाओं के लाभ लेने के लिए गुहार लगाई है ।

योगेन्द्र सिंह बाबा से तो कोई उम्मीद ही नहीं 

यदि हम क्षेत्रिय विधायक योगेन्द्र सिंह बाबा की बात करें तो अपनी स्वर्गीय माता जी के जनहितेषी और हमेशा क्षेत्र की जनता के लिये सक्रिय रहने वाली उर्मिला सिंह जी के अच्छे कार्यों के चलते एक बार नहीं दो-दो बार जनता ने मौका दिया परंतु कमीशन ठेकेदारों से हमेशा घिरे रहने वाले योगेन्द्र सिंह बाबा विधायक के यदि बीते पांच वर्ष और नये कार्यकाल के महिनों के कार्यों की बात की जाये तो शायद ही कोई एकाध कार्य अन्य समाज की तो छोड़ों अपने ही समुदाय के सगाजनों की निर्धनों, जरूरतमंदों के लिये कोई कार्य किया होगा ।

No comments:

Post a Comment

Translate