Monday, July 29, 2019

म.प्र. सरकार ने 89 ब्लॉकों में आदिवासी दिवस कार्यक्रम हेतु 1 लाख रूपये बजट का किया प्रावधान

म.प्र. सरकार ने 89 ब्लॉकों में आदिवासी दिवस कार्यक्रम हेतु 1 लाख रूपये बजट का किया प्रावधान  

आदिवासी युवा उत्सव कार्यक्रम के साथ धूमधाम से मनायेंगे 9 अगस्त को विश्व आदिवासी दिवस 

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमल नाथ ने विश्व आदिवासी दिवस के अवसर पर पहले ही 9 अगस्त को अवकाश घोषित कर दिया है । जिसकी मांग मध्य प्रदेश के आदिवासी समाज के विभिन्न सामाजिक संगठन व जनप्रतिनिधिगण करते आ रहे थे लेकिन मध्य प्रदेश के कई जिलों में कलेक्टर द्वारा अवकाश घोषित कर दिया गया था तो कुछ जिलों में कलेक्टर द्वारा अवकाश घोषित नहीं किया गया था जिसको लेकर आदिवासी समाज में एक ही प्रदेश में शासन की मंशा भेदभाव रूपी स्पष्ट नजर आती थी वहीं विशेष रूप से शासकीय कर्मचारी व अधिकारी विश्व आदिवासी दिवस को त्योहार को अवकाश नहीं मिलने के कारण नहीं मना पाते थे लेकिन मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री कमल नाथ ने पहले ही आदिवासी दिवस के अवसर पर 9 अगस्त को अवकाश घोषित कर दिया था जिससे प्रदेश के आदिवासियों में हर्ष व्याप्त था । वहीं अब आदिवासी दिवस के अवसर पर मध्य प्रदेश के 89 ब्लॉकों में विशेष रूप से कार्यक्रम के आयोजन के लिये 1 लाख रूपये का बजट का प्रावधान कर आदिवासी युवा उत्सव के रूप में कार्यक्रम का आयोजन करने के लिये मध्य प्रदेश शासन द्वारा दिशा निर्देश जारी किये गये है।

भोपाल/सिवनी। गोंडवाना समय।
मध्य प्रदेश के आदिवासी बाहुल्य 89 विकासखंडों में आदिवासी दिवस के अवसर पर आदिवासी युवा महोत्सव कार्यक्रम के आयोजन के लिये प्रत्येक जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को 1 लाख रूपये बजट का प्रावधान किये जाने का आदेश कार्यालय आयुक्त आदिवासी विकास मध्य प्रदेश द्वारा जारी किया गया है। मध्य प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री कमल नाथ व आदिम जाति कल्याण मंत्री ओमकार मरकाम के द्वारा किये गये विशेष प्रयासों से यह संभव हो पाया है ।
वहीं इसके लिये विशेष रूप से 14 जुलाई को निरंतर आदिवासी की आवाज विधानसभा में उठाने वाले मनावर से युवा आदिवासी विधायक डॉ हीरालाल अलावा ने बकायदा पत्र लिखकर मुख्यमंत्री कमल नाथ से एवं संस्कृति मंत्री विजय लक्ष्मी साधौ से मांग भी किया था कि आदिवासी दिवस पर कार्यक्रम के लिये फंड जारी किया जाये।

89 विकासखंडों में होंगे कार्यक्रम, शासन ने किया दिशा निर्देश जारी 

आगामी 9 अगस्त 2019 को विश्व आदिवासी दिवस के अवसर पर मध्य प्रदेश के आदिवासी बाहुल्य 89 विकासखंडों में आदिवासी युवा महोत्वस कार्यक्रम के रूप में धूमधाम से मनाया जायेगा इसके लिये मध्य प्रदेश सरकार ने महत्वपूर्ण निर्णय लेते हुये प्रदेश के 89 विकासखंडों में प्रत्येक जनपद पंचायत में 1 लाख रूपये की राशि का प्रावधान करते हुये आवंटन भी जारी कर दिया है। इस संबंध में कार्यालय आयुक्त आदिवासी विकास मध्य प्रदेश द्वारा मध्य प्रदेश के समस्त कलेक्टरों को पत्र जारी कर सूचित कर दिया गया है । जिसमें यह उल्लेख किया गया है कि शासन द्वारा दिनांक 9 अगस्त 2019 को आदिवासी दिवस के अवसर पर आदिवासी युवा महोत्सव के रूप में मनाने का निर्णय लिया गया है । यह कार्यक्रम प्रदेश स्तरीय एवं विकासखंड स्तरीय होगा । विकासखंड
स्तरीय कार्यक्रम प्रदेश के समस्त 89 आदिवासी विकासखण्डों में संपन्न किया जाना है । कार्यक्रम के आयोजन हेतु प्रत्येक जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को 1 लाख रूपये का आबंटन जारी किया जा रहा है। आदिवासी युवा महोत्सव कार्यक्रम में मंत्रीगण, जनप्रतिनिधिगण को शामिल कर आमंत्रित करने के निर्देश भी दिये गये है। कार्यक्रम की रूपरेखा के संबंध में दिशा निर्देश भी जारी किये गये है ।

कलेक्टर, सहायक आयुक्त को भेजा पत्र

विश्व आदिवासी दिवस के अवसर पर मध्य प्रदेश के आदिवासी ब्लॉकों में फंड जारी किये जाने के संबंध में कार्यालय आयुक्त आदिवासी विकास मध्य प्रदेश द्वारा छिंदवाड़ा, बुरहानपुर, खण्डवा, झाबुआ, अलीराजपुर, बड़वानी, खरगौन, धार, मण्डला, सिवनी, बालाघाट, डिण्डौरी, होशंगाबाद, बैतुल, रतलाम, शहडोल, अनूपपुर, सीधी, उमरिया, श्योपुर को पत्र कर दिशा निर्देश जारी किया गया है ।

होनहार विद्यार्थियों व खिलाड़ियों का होगा सम्मान

आदिवासी दिवस के अवसर पर 9 अगस्त को होने वाले कार्यक्रम में विकासखण्ड स्तर पर आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता जनजातिय वर्ग के निर्वाचित जनजप्रतिनिधि मंत्री, मध्य प्रदेश शासन के विधायक, जिला पंचायत अध्यक्ष या अन्य जनप्रतिनिधि करेंगे। इसके साथ ही कार्यक्रम की रूपरेखा इस प्रकार रहेगी। विकासखण्ड स्तरीय प्रवीण्य सूची में प्रथम, द्वितीय, तृतीय स्थान पर रहे आदिवासी विद्यार्थियों का सम्मान कार्यक्रम होगा। इसके साथ ही विकासखण्ड के आदिवासी खिलाड़ियों का सम्मान जिन्होने राष्ट्रीय व अंतराष्ट्रीय स्तर पर विजेता अथवा प्रदर्शन किया हो।

स्वतंत्रता संग्राम में आदिवासियों की योगदान की दिखेगी झलक 

आदिवासी दिवस के अवसर पर आगे कार्यक्रम के तहत आदिवासी लोकनृत्य का प्रदर्शन एवं अन्य आदिवासी सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन होगा। इसी तरह स्वतंत्रता संग्राम में आदिवासियों के योगदान पर प्रदर्शन (नाटक, नृत्य, नाटिका) आदि का आयोजन किया जायेगा। इसी तरह स्थानीय जनजातिय नाम के स्वतंत्रता आंदोलन में योगदान विषय पर भाषण एवं निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया जायेगा । इसके साथ ही चित्रकला एवं रंगोली प्रतियोगिता का आयोजन किया जायेगा। कार्यक्रम समापन स्थानीय आदिवासी जनप्रतिनिधि के समक्ष पुरस्कार वितरण एवं उद्बोधन के पश्चात किया जायेगा ।

जिला स्तर पर लगेंगे स्वास्थ्य शिविर व योजनाओं की देंगे जानकारी

मध्य प्रदेश शासन के दिशा निर्देशानुसार आदिवासी दिवस के अवसर पर प्रदेश के 89 आदिवासी विकासखण्डों में तो प्रमुख रूप से आदिवासी युवा उत्सव का कार्यक्रम किया जायेगा वहीं जिला स्तर पर आयोजित होने वाले कार्यक्रमों में स्वास्थ्य विभाग द्वारा नि:शुल्क स्वास्थ्य परीक्षण शिविर आयोजित किया जायेगा एवं इकसे साथ ही सरकार की लोककल्याणकारी समस्त विभागों की योजनाओं की प्रदर्शनी लगाई जाकर जानकारी दी जायेगी ।

डॉ हीरालाल अलावा विधायक ने मुख्यमंत्री का किया आभार व्यक्त   

आदिवासी बाहुल्य मध्य प्रदेश में अगामी 9 अगस्त 2019 को मध्य प्रदेश में धूमधाम से मनाये जाने के लिए जय आदिवासी युवा शक्ति के राष्ट्रीय संरक्षक व मनावर विधानसभा क्षेत्र से विधायक डॉ हीरालाल अलावा ने 14 जुलाई 2019 को ही मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री कमलनाथ और मध्य प्रदेश शासन की संस्कृति मंत्री सुश्री विजय लक्ष्मी साधो को पत्र लिखा था। अपने पत्र में विधायक डॉ हीरालाल अलावा ने यह मांग किया था कि विश्व आदिवासी दिवस को आदिवासी संस्कृÞति, भाषा, रीति-रिवाज, सभ्यता को संरक्षित रखते हुये मध्य प्रदेश के ब्लॉक एवं तहसील स्तर पर कार्यक्रम आयोजन करने के लिये सभी ब्लॉकों में संस्कृति मंत्रालय द्वारा फंड जारी किया जाये। इसके लिये उन्होंने यह भी उल्लेख किया था आज जब पर्यावरण, जल, जंगल के संरक्षण के सवाल पैदा हो रहे है, ऐसे में आदिवासी संस्कृति, भाषा, रीति-रिवाज, सभ्यता को संरक्षित करना अति आवश्यक हो गया है क्योंकि आदिवासी के संस्कृति, सभ्यता एवं रीति रिवाजों में ही पर्यावरण, जल, जंगल के संरक्षण के मूल भावनाओं का वास है । यदि आज कहीं भी जल एवं जंगल बचे है और लोग सांस ले रहे है तो वह आदिवासियों द्वारा अपनी संस्कृति, सभ्यता एवं रीति-रिवाजों के अनुसार जीवन निर्वाह करने के उपरांत ही संभव हो पाया है । इसलिये आज जब जल, जंगल और जीवन के बचाने की बात हो रही है तो ऐसे समय में आदिवासियों के संस्कृति, सभ्यता एवं रीति रिवाजों को संरक्षित करना एवं ग्राम स्तर पर विश्व आदिवासी दिवस का आयोजन करना अति आवश्यक हो गया है । इसलिये आदिवासी दिवस के अवसर पर कार्यक्रम हेतु फंड मुहैया कराया जाये । उक्त पत्र पर संज्ञान लेते हुये मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री कमलनाथ ने विश्व आदिवासी दिवस को युवा महोत्सव के रूप में मनाने का निर्णय लिया है । इसके साथ  मध्य प्रदेश के 89 आदिवासी ब्लाकों में प्रत्येक ब्लाक स्तर पर विश्व आदिवासी दिवस पर एक लाख रुपये कार्यक्रम के आयोजन के लिये दिये जाने का प्रावधान किया है। इसके लिये मनावर विधायक डॉ हीरालाल अलावा ने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमल नाथ व मध्य प्रदेश सरकार का आभार व्यक्त किया है एवं समस्त प्रदेशवासियों को विश्व आदिवासी दिवस के अग्रिम बधाईया शुभकामनायें दिया है ।


No comments:

Post a Comment

Translate