गोंडवाना समय

Gondwana Samay

गोंडवाना समय

Gondwana Samay

Sunday, July 21, 2019

कानून व्यवस्था को लेकर जनजाति समुदाय कर रहा असुरक्षित महससू

कानून व्यवस्था को लेकर जनजाति समुदाय कर रहा असुरक्षित महससू 

सोनभद्र के उंभा गांव की घटना पर गोंड समाज महासभा, भोपाल ने सौपा ज्ञापन

भोपाल। गोंडवाना समय। 
उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले में गोंड समुदाय के सगाजनों के साथ हुये सामूहिक गोली, हत्या कांड पर 21 जुलाई 2019 को रविवार को 58 वरूण नगर कोलार रोड, भोपाल की गोंडी क्लास में एकत्रित होकर, देवात्मा मे विलीन, सगाजनो की आत्मीय शान्ति हेतु श्रद्धांजलि अर्पित की गई एवं दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा व उचित न्याय हेतु तहसील कार्यालय कोलार, भोपाल में मजिस्ट्रेट साहब को महामहिम राष्ट्रपति, राज्यपाल, अनुसूचित जनजाति आयोग नई दिल्ली के नाम ज्ञापन सौंपा गया। इस दौरान गोंड समाज महासभा के पदाधिकारी, कार्यकारिणी सदस्यों सहित समाज के सगाजन सैकड़ों की संख्या में मौजूद रहे उक्त जानकारी देते हुये जे.एस. धुर्वे उपाध्यक्ष गोंड समाज महासभा भोपाल ने बताया कि गोंड समाज महासभा द्वारा सौँपे गये ज्ञापन में उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले के उंभा गांव में गोंड जनजाति समुदाय के साथ हुये सामुहिक नरसंहार के दोषियों को सख्त सजा एवं मृतकों के परिजनों को एक-एक करोड़ की मुआवजा राशि दिलाये जाने विषयक के संबंध में दिया गया है।

एक-एक करोड़ मुआवजा और दोषियों को कड़ी सजा देने की मांग

आगे उन्होंने बताया कि इस संबंध में खेद जताते हुये ध्यान आकृषित कराने के लिये यह उल्लेख किया है कि दिनांक 17 जुलाई 2019 को सोनभद्र उत्तर प्रदेश घोरावल तहसील के उंभा गांव में जमीन पर कब्जे को लेकर गोंड जनजाति समुदाय के सगाजनों पर अंधाधुंध फायरिंग की गई जिसमें तीन महिलाओं सहित 11 गोंड जनजाति सगाजनों की हत्या कर दी गई एवं कई लोग घायल हुये है जो जिंदगी और मौत के बीच संघर्ष कर रहे है ।
आगे उन्होंने ज्ञापन यह उल्लेख किया है कि अंहकारी, क्रूर हत्यारे लोगों के द्वारा बेखौफ कानून व्यवस्था को ताक में रखकर निहत्थे गरीब जनजातियों पर गोली मारकर हत्या की गई है । जो देश की कानून व्यवस्था के लिये कलंक है तथा कानून व्यवस्था को लेकर जनजाति समुदाय भी अपने आपको असुरक्षित महससू करने लगा है।
आगे उन्होंने उल्लेख किया है कि सोनभद्र उंभा गांव में 11 जनजातियों की हत्या के मामले को आप अपने संज्ञान में लेकर दोषियों को सख्त सजा देकर मृतक परिवार को न्याय दें एवं उनके परिवार को एक-एक करोड़ रूपये मुआवजा राशि तथा घायलों को 10-10 लाख रूपये की मुआवजा राशि प्रदान की जावे ।

No comments:

Post a Comment

Translate