Sunday, September 1, 2019

एकलव्य तीरंताजी की विश्व विजेता रागनी मार्कों का हुआ सम्मान

एकलव्य तीरंताजी की विश्व विजेता रागनी मार्कों का हुआ सम्मान

जबलपुर। गोंडवाना समय। 
भारत संघ राज्य की बेटी गोल्ड परी द्वितीय एकलव्य तीरंदाजी की विश्व विजेता रागनी मार्कों का भव्य स्वागत सम्मान समारोह कार्यक्रम जबलपुर में 1 सितंबर दिन रविवार को 11:00 बजे से कौंसिल के समस्त पदाधिकारीगण की उपस्थिति में पनेहरा जी.सी.एफ. इस्टेट जबलपुर में किया गया इस दौरान रागनी मार्कों को बधाई देते हुये उज्ज्वल भविष्य की कामना की गई । हम आपको बता दे कि विश्व तीरंदाजी स्वर्ण पदक विजेता गोल्ड परी रागिनी मार्को जी द्वितीय एकलव्य को और उनके सपोर्टिंग टीम को उनके परिवार, उनके समाज को और भारत देश का नाम विश्व में रोशन करने के लिए एस.सी./एस. टी. डिफेन्स एम्प्लाइज कौंसिल जी. सी. एफ. जबलपुर की ओर से सम्मान किया गया । सम्मान समारोह कार्यक्रम में समस्त संरक्षक/अध्यक्ष/समस्त उपाध्यक्ष/महासचिव सहित एस. सी / एस. टी. डिफेंस एम्प्लाइज कौंसिल जी.सी.एफ. जबलपुर के सदस्यगण मौजूद रहे।

स्विट्जरलैंड की जोड़ी एंड्रिया क्लोरोजेने को 152-147 अंको से हराया

मैड्रिड(स्पेन)में आयोजित विश्व युवा तीरंदाजी चैंपियनशिप में 18 वर्ष की रागनी मार्को बघराजी कुंडम क्षेत्र के ग्राम छपरा निवासी ने शानदार प्रदर्शन करते हुए कंपाउंड मिक्स्ड टीम इवेंट में भारत के लिए स्वर्ण पदक जीता और उन्होंने टीम साथी सुखविंदर सिंह(पंजाब)के साथ शनिवार को स्वर्ण पदक के लिए हुए मुकाबले में स्विट्जरलैंड की जोड़ी एंड्रिया क्लोरोजेने को 152-147 अंको से हराया।

रागनी मार्कों का जबलपुर से मेट्रिड तक का सफर

रागनी ने महज तीन साल पहले जबलपुर के रानीताल खेल परिसर स्थित राज्य तीरंदाजी अकादमी में प्रशिक्षण आरम्भ किया। पिछले साल सीनियर राष्ट्रीय तीरंदाजी के व्यक्तिगत वर्ग में कांस्य पदक विजेता रागनी ने महज दो वर्षों में करीब छह: घंटे अभ्यास और उनकी लगन ने उन्हें अंतरराष्ट्रीय स्तर का तीरंदाजी गोल्ड परी द्वितीय एकलव्य बना दिया।

No comments:

Post a Comment

Translate