Thursday, October 3, 2019

पाठ्यक्रम में शामिल कर गोंडी भाषा में होगी स्कूलों में पढ़ाई

पाठ्यक्रम में शामिल कर गोंडी भाषा में होगी स्कूलों में पढ़ाई

पाठ्यक्रम के लिये कार्य समूह का हुआ गठन 

भोपाल/छिंदवाड़ा। गोंडवाना समय। 
आगामी शिक्षण सत्र से गोंड बाहुल्य क्षेत्रों में जनजातिय विभाग द्वारा संचालित स्कूलों में गोंडी भाषा को शिक्षण पाठ्यक्रम लागू करने के संबंध में पूर्व विधायक मनमोहन शाह बट्टी ने मुख्यमंत्री कमल नाथ को पत्र लिखा था। जिस पर मुख्मंत्री कमल नाथ द्वारा कार्यवाही करते हुये मध्य प्रदेश शासन ने स्कूलों में बोली/भाषा को शिक्षण पाठ्यक्रम में लागू करने की पूर्ति संचालक, राज्य शिक्षा केंद्र भोपाल द्वारा की जा रही है के संबंध में पत्र के जवाब में भेजे गये के माध्यम से अवगत कराया है।

पूर्व विधायक को उप सचिव ने भेजा पत्र का जवाब

इस सबंध में पत्र का जवाब देते हुये मध्य प्रदेश शासन के उप सचिव द्वारा पूर्व विधायक मनमोहन शाह बट्टी को अवगत कराते हुये पत्र में यह उल्लेख किया है कि संचालक राज्य शिक्षा केंद्र के आदेश के तहत आदिवासी बोली/भाषा एवं संस्कृति को कक्षा-1 से कक्षा 12 वीं के पाठ्यक्रम में समावेश करने हेतु प्राथमिक रूप से कार्य
करने के लिये कार्य समूह का गठन कर दिया गया है। यह सतत प्रक्रिया है । इस संबंध में बैठक शीघ्र आयोजित होना है।

1 comment:

Translate