Saturday, February 1, 2020

दुघर्टनाग्रस्त बस में फंसे यात्रियों को निकालकर अस्पताल पहुंचाने वाले आरक्षक व पायलट हुये सम्मानित

दुघर्टनाग्रस्त बस में फंसे यात्रियों को निकालकर अस्पताल पहुंचाने वाले आरक्षक व पायलट हुये सम्मानित 

सिवनी। गोंडवाना समय।
एक्सीडेंट में यात्रियों की जान बचाकर अस्पताल पहुंचाने वाले आरक्षक एवं 100 डायल के पायलट को पुलिस अधीक्षक ने किया पुरूस्कृत। बीते 28 जनवरी 2020 को प्रात: 05.30 बजे सिवनी से नागपुर मार्ग पर मोहगांव के पास बस क्रमांक एमपी 15पीए 4644 सड़क किनारे खड़े ट्रक से पीछे से टकरा गई थी। जिससे बस में बैठे यात्रीगण घायल हो गये एवं 01 व्यक्ति की घटना स्थल पर ही मृत्यु हो गई थी। बस का
दरवाजा पिचक जाने से घायल यात्री बस में फंसे रहे। जैसे ही डायल 100 को सूचना प्राप्त हुई, डायल 100 में ड्यूटी पर तैनात थाना लखनवाड़ा के आरक्षक अंशुमान राजपूत एवं 100 डायल के चालक कमल ठाकुर तत्काल घटना स्थल मे पहुंचे। दोनों के द्वारा बस के दरवाजे का लोहे की रॉड से खोलकर गंभीर रूप से घायल 10-12 यात्रियों को बस से निकालकर एम्बुलेंस की मदद से जिला अस्पताल पहुंचाकर उनकी जान बचाई गई। आरक्षक अंशुमान एवं चालक कमल ठाकुर द्वारा पूर्ण सजगता एवं कर्तव्य परायणता तथा मानवीयता का परिचय देते हुये कार्य किया गया। जिस पर पुलिस अधीक्षक सिवनी श्री कुमार प्रतीक द्वारा आरक्षक अंशुमान राजपूत को 500 रू0 नगद पुरूस्कार एवं प्रशस्ति पत्र तथा एवं 100 डायल के चालक कमल ठाकुर को प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया गया है। इस दौरान अति. पुलिस अधीक्षक श्री कमलेश खरपुसे भी मौजूद रहे। 

No comments:

Post a Comment

Translate