Monday, February 24, 2020

जनजातिय विद्यार्थियों का स्वाभिमान, आत्मविश्वास, मनोबल बढ़ाने के लिये डॉ सुधीर वाड़िवा हुये सम्मानित

जनजातिय विद्यार्थियों का स्वाभिमान, आत्मविश्वास, मनोबल बढ़ाने के लिये डॉ सुधीर वाड़िवा हुये सम्मानित

दमोह। गोंडवाना समय। 
दिनाक 23 फरवरी 2020 को गोंड समाज महासभा, मध्य प्रदेश के तत्वाधान में दमोह में आयोजित तीसरे वार्षिक सम्मेलन में डॉ सुधीर वाड़ीवा को व्यक्तित्व विकास कार्यक्रम के माध्यम से जनजातीय बच्चो में स्वाभिमान, आत्मविश्वास, प्रेरणा एवं मनोबल बढ़ाने का शैक्षणिक कार्य व समाज सेवा के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य कर, गोंड समाज को गौरवान्वित करने के लिए गोंडवाना गौरव सम्मान से सम्मानित किया गया।

गोंडवाना गौरव सम्मान से गोंड समाज महासभा ने किया सम्मानित

हम आपको बता दे कि बीते 2 वर्षों से डॉ सुधीर वाडिवा निरंतर रविवार के दिन जनजातिय बच्चों को मार्गदर्शन देते है। विद्यार्थियों शैक्षणिक दिशा में आगे बढ़ने के लिये आसान तरीके के साथ सामान्य ज्ञान का त्वरित जवाब देने का तरीका भी बताते है।
इसके साथ ही आगे बढ़ने के लिये किस देश में किस तरह से कार्य किया जा रहा है उसका प्रमाण सहित जानकारी प्रदान करते है। कौन सी पुस्तक पढ़ना चाहिये वहीं इंटरनेट के माध्यम से किस तरह जानकारी प्राप्त कर सकते है और मोबाईल का उपयोग किस तरह व कितना करना चाहिये, समय का सदुपयोग की जानकारी भी विद्यार्थियों को देते है।
इसके साथ ही विद्यार्थियों को अपना लक्ष्य कैसे निर्धारित करना चाहिये इसकी जानकारी भी वे प्रमाणिकरण के साथ जानकारी देते है। डॉ सुधीर वाड़िवा द्वारा जनजातिय बच्चों के शैक्षणिक विकास के क्षेत्र में किये जा रहे मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के साथ साथ अन्य जिलों में जाकर बीते 2 वर्ष से किये जा रहे कार्य पर गोंड समाज महासभा के द्वारा गोंडवाना गौरव सम्मान से सम्मानित किया गया है। 

No comments:

Post a Comment

Translate