Thursday, February 6, 2020

गोंडी भाषा संस्कृति एवं संरक्षण करने की ओर इंस्टीट्यूट आॅफ कोयान द विजन

गोंडी भाषा संस्कृति एवं संरक्षण करने की ओर इंस्टीट्यूट आॅफ कोयान द विजन 

हम पढेगें, हम बढ़ेंगे, चलो-चलें शिक्षा की ओर

सिवनी। गोंडवाना समय। 
कोयान संचालक महोदय तिरूमाल रावेनशाह उइके एवं सहसंचालक तिरूमाल राजा ककोड़िया ने जानकारी देते हुये बताया कि इंस्टीट्यूट आॅफ कोयान द विजन में प्रितदिन क्लास लगाई जाती है जिसमें गोंडी भाषा संस्कृति एवं संरक्षण करने में इंस्टीट्यूट आॅफ कोयान द विजन सिवनी प्रेरणा का केंद्र बना हुआ है। इंस्टीट्यूट आॅफ कोयान द विजन एक प्रमुख सामाजिक संस्था हैं जो कि जिला मुख्यालय सिवनी में इंस्टीट्यूट आॅफ कोयान दा विजन गोंडी भाषा संस्कृति संरक्षण एवं स्वालंबनल व नेतृत्व क्षमता परिवर्धन तथा शैक्षणिक एवं प्रशासनिक सेवाओं की प्रतियोगिता परीक्षाओं की तैयारी हेतु विशेष प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाया जा रहा हैं। इंस्टीट्यूट आॅफ कोयान द विजन द्वारा सामाजिक शैक्षणिक आर्थिक एवं सांस्कृतिक हक अधिकार की गतिविधियों को संगठन के माध्यम से बढ़ा रहे हैं। 

मूल पहचान को कायम करने में हो सके सफल 

इंस्टीट्यूट आॅफ कोयान दा विजन भी प्रतिबद्ध होकर कार्य कर रहा है। वहीं जो भी परिवार चाहे वे बच्चों के साथ स्वयं भी संगठन को भी गोंडी भाषा को सीखने व जोड़ने एवं बचाने के लिए अपनी सहभागिता निभा सकते है। गोंडी भाषा संस्कृति एवं सामाजिक संप्रेषण की भावना जागृत करने व इसके प्रचार प्रसार भी किया जा रहा है कि ताकि गोंडियन सगा समाज की मूल पहचान को कायम करने में सफल हो सके।

No comments:

Post a Comment

Translate