Sunday, February 9, 2020

मुख्यमंत्री निवास में बैगा आदिम जनजाति के संवर्धन व अन्य अधिकारों को लेकर मिला प्रतिनिधिमण्डल

मुख्यमंत्री निवास में बैगा आदिम जनजाति के संवर्धन व अन्य अधिकारों को लेकर मिला प्रतिनिधिमण्डल

राष्ट्रीय मानव बैगा के बैगा-बैगिन की स्मृति चिंह देकर मुख्यमंत्री का अभिनंदन किया

मण्डला/भोपाल। गोंडवाना समय। 
बैगा आदिम जनजाति समाज विकास एवं कल्याण संघ मध्य प्रदेश का एक प्रतिनिधि मंडल जिसमें महिलाएं और पुरुष दोनों शामिल रहे। विगत दिवस मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री आवास में श्री कमलनाथ से सौजन्य भेंट किया। सर्वप्रथम प्रतिनिधि मंडल ने राष्ट्रीय मानव बैगा के बैगा-बैगिन की स्मृति चिंह देकर  मुख्यमंत्री कमलनाथ का अभिनंदन किया। प्रतिनिधि मंडल ने मुख्यमंत्री के समक्ष राज्य एवं जिला स्तर में गवर्निंग बॉडी का गठन की मांग, जिसमें मंडला ,डिंडोरी, बालाघाट ,उमरिया, अनूपपुर, सीधी, शहडोल में अध्यक्ष की नियुक्ति के संबंघ में चर्चा किया। 

बैगा बोली से पढ़ाने वाले शिक्षकों की मांग

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ के साथ मुलाकात कर समाजिक समस्याओं से अवगत कराते हुये बैगा आदिम जनजाति समाज विकास एवं कल्याण संघ मध्य प्रदेष के प्रतिनिधि मण्डल ने सी एम श्री कमल नाथ को बताया कि राजधानी भोपाल मुख्यालय में एवं जिला स्तर में बैगा जनजाति के लिए सामुदायिक भवन, रेन बसेरा की मांग, विशेष भर्ती अभियान के तहत बैगा जाति के शिक्षित बेरोजगारों को चतुर्थ एवं तृतीय श्रेणी के भर्ती के प्रक्रिया के अनुसरण किए बिना सीधी भर्ती की मांग, बैगा बोली से पढ़ाने वाले शिक्षक की नियुक्ति की मांग, जो पूर्व में भर्ती नियुक्ति की गई थी, उन्हें सेवा में लिए जाने की मांग, बैगा माताओं को कुपोषण से मुक्ति के लिए दी जाने वाली राशि 1000 से  बढ़ाकर 1500 की मांग एवं बालाघाट, डिंडोरी  जिले में विशेष पिछड़ी जनजाति बालक एवं बालिका छात्रावास की बैहर एवं डिंडोरी में यथावत संचालन रखने की मांग किया गया । 

बैगा जनजाति की समस्याओं का निराकरण यथाशीघ्र करने का आश्वासन दिया

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ के साथ मुलाकात कर समाजिक समस्याओं से अवगत कराते हुये बैगा आदिम जनजाति समाज विकास एवं कल्याण संघ मध्य प्रदेश के प्रतिनिधि मण्डल ने सी एम श्री कमल नाथ को बताया कि बैगा शिक्षित बेरोजगार युवक एवं युवतियों को शिक्षा की मुख्य धारा से जोड़ने के लिए बालाघाट, मंडला  एवं डिंडोरी में कंप्यूटर प्रशिक्षण संस्थान स्थापना  की मांग किया गया। वहं बैगा जाति के मूलभूत आधारभूत सुविधाओं जैसे कि सड़क, बिजली एवं पानी की समस्याओं को प्रत्येक बैगा  बाहुल्य ग्राम में सुविधा उपलब्ध कराने की मांग किया। इसके साथ ही बैगा आदिम जनजाति के संवर्धन आदि की मांग रखी गयी। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ द्वारा बैगा जनजाति की समस्याओं का निराकरण यथाशीघ्र करने का आश्वासन दिया गया। 

मुख्यमंत्री से मिलने पहुंचे प्रतिनिधिमण्डल में ये रहे शामिल 

प्रतिनिधि मंडल में प्रदेश संरक्षक नंदराम बैगा, प्रदेश संयोजक पचलू भारतीया, प्रदेश अध्यक्ष नारायण भारतीया, प्रदेश सचिव दिनेश भारतीया,  प्रदेश कोषाध्यक्ष शिव लाल बगदिया, प्रदेश सदस्य दुलेश मरकाम, जिलाध्यक्ष मंडला संजय बिलवर, जिलाध्यक्ष बालाघाट साधूराम झुमाडिया जिला अध्यक्ष अमर मरावी,  सचिव गुलाब मरावी, अनूप  बिलठरिया, महेश पुढिया, गीता बैगा, आरती भारतीया आदि उपस्थित रहे। बता दें कि बैगा आदिम जनजाति समाज विकास एवं कल्याण संघ अपने समाज को मुख्यधारा में जोड़ने के लिए सतत प्रयासरत है। रूढ़ि परंपरा व अपनी संस्कृति के साथ साथ वे आधुनिकता के दौर में जीने के लिए लालायित है। बैगा जनजाति की जागरूकता से नई पीढ़ी भी देश की मुख्यधारा में जुड़ने के लिए शासन-प्रशासन से आवश्यक सहयोग के लिए राह देख रहे है।

No comments:

Post a Comment

Translate