Sunday, March 15, 2020

राज्यसभा उम्मीदवार डॉ. सुमेर सिंह सोलंकी का बड़वानी में फूंका पुतला सौंपा ज्ञापन

राज्यसभा उम्मीदवार डॉ. सुमेर सिंह सोलंकी का बड़वानी में फूंका पुतला सौंपा ज्ञापन 

डॉ सुमेर सिंह सोलंकी के पर सख्त कार्यवाही करने की मांग 

बड़वानी। गोंडवाना समय। 
जयस एवं आदिवासी छात्र संगठन के पदाधिकारियों ने पुराने कलेक्टर कार्यालय के समीप बड़वानी में 15 मार्च 2020 को लगभग 5.30 बजे एकत्रित होकर पुतला दहन किया गया। जहाँ पर डॉ सुमेर सिंह सोलंकी के विरोध में आक्रोश जताते हुये नारेबाजी भी की गई। बड़वानी थाने में पहुचकर ज्ञापन भी दिया गया। ज्ञात हो कि गत दिनों बड़वानी कॉलेज में प्रोफेसर डॉ सुमेर सिंह सोंलकी को भाजपा ने राज्यसभा उम्मीदवार घोषित किया है। डॉ सुमेर सिंह  सोलंकी द्वारा अपने बायो-डाटा में अपनी राजनीतिक महत्वाकांक्षा पूरी करने के लिए आदिवासी समाज के संवैधानिक अधिकारों के लिए कार्य करने वाले सामाजिक संगठनों को अराष्ट्रवादी, नकारात्मक एवं आदिवासियों को भ्रमित करने वाला बताया गया है। 

बिना तथ्यों व आधारहीन रूप से बताया अराष्ट्रवादी 

जयस नारी शक्ति श्रीमती सीमा वास्कले एवं संदीप नरगावे ने बताया की डॉ सुमेर सिंह सोलंकी को आदिवासी समाज का प्रतिनिधित्व करने के लिए भाजपा ने अपना उम्मीदवार घोषित किया है। आदिवासी समाज के व्यक्ति होने के बावजूद आदिवासी समाज के संगठनों को बिना तथ्यों व आधारहीन रूप से अराष्ट्रवादी बताया गया है, इसलिये सामाजिक संगठन डॉ सुमेर सिंह सोलंकी का पुरजोर विरोध करता है। ऐसे में समाज तो क्या वो खुद का भी विकास नही कर सकते है। इसी के विरोध में 15 मार्च 2020 को जिले में सेंधवा, पलसूद, राजपुर, बड़वानी सहित आज प्रदेश के अन्य जिलों में विरोध स्वरूप पुतला दहन किया गया। इसके साथ ही महामहिम राष्ट्रपति एवं महामहिम राज्यपाल के नाम से ज्ञापन देकर उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही करने की मांग की गई। 

विरोध प्रदर्शन व ज्ञापन सौंपते समय ये रहे मौजूद 

विरोध प्रदर्शन व ज्ञापन सौंपते समय किसन बड़ोले, जयस नारीशक्ति सीमा वास्कले, शिवानी रावत, संगीता बरडे, आएप प्रकोष्ठ संगीता सुल्या, लाता नरगावे, गीता सस्ते, संगीता डुडवे, गिना रावत, जयस प्रवक्ता संदीप नरगावे, आदिवासी छात्र संगठन के बलराम बरडे, हमज्या रावत,  एनएसयूआई के जिला अध्यक्ष अमरेश गिरासे, भीम सेना जिलाध्यक्ष अनीश भार्गव, बद्रीलाल सोलंकी, संतोष चौहान, सहित बड़ी संख्या में मौजूद रहे।

No comments:

Post a Comment

Translate