Sunday, March 29, 2020

ऐसे कर्मचारी जो 'विकलांगता वाले व्यक्ति' (पीडब्लूडी) या दिव्यांगजन हैं उन्हें छूट दी गई


ऐसे कर्मचारी जो 'विकलांगता वाले व्यक्ति' (पीडब्लूडीया दिव्यांगजन हैं उन्हें छूट दी गई


डीओपीटी मेमोरेंडम

नई दिल्ली। गोंडवाना समय।
कार्मिक
 मंत्रालय द्वारा जारी किए गए ताजा ऑफिस मेमोरेंडम (ओएमके अनुसारसभी मंत्रालयों और विभागों को निर्देश दिया गया है कि अपने संबंधित मंत्रालयों या विभागों में आवश्यक सेवाओं के लिए जरूरी स्टाफ का रोस्टर तैयार करते समय इस बात का ध्यान रखें कि ऐसे कर्मचारी जो 'विकलांगता वाले व्यक्ति' (पीडब्लूडीया दिव्यांगजन हैं उन्हें छूट दी गई है।

इस बात का उल्लेख करना उचित है कि 21 दिनों का लॉकडाउन शुरू होने के तुरंत बाद डीओपीटी द्वारा जारी पहले के ऑफिस मेमोरेंडम के अनुसारविभागों के प्रमुखों (एचओडीको उन कर्मचारियों की सूची तैयार करने को कहा गया था जो विभाग के भीतर अतिरिक्त आवश्यक सेवाओं को पूरा करने के लिए 'बिल्कुल जरूरीहैं।

इस बीचडीओपीटी के एक अन्य नोट (मेमोरेंडमके माध्यम से केंद्रीय सेवाओं के ग्रुप- अधिकारियों के संबंध में वार्षिक प्रदर्शन मूल्यांकन रिपोर्ट (एपीएआरजमा करने की समयसीमा कोविड-19 के प्रसार से पैदा हुए हालात को देखते हुए साल 2019-20 के लिए बढ़ा दी गई है। पहले के कार्यक्रम के अनुसारसभी संबंधित अधिकारियों को रिक्त एपीएआर के वितरण की तारीख 31 मार्च थीजिसे अब संशोधित कर 31 मई तक बढ़ा दिया गया है।

इसी प्रकार सेकिसी अधिकारी द्वारा रिपोर्टिंग अधिकारी (आरओको स्व-मूल्यांकन प्रस्तुत करने की तारीख पहले के कार्यक्रम के अनुसार 15 अप्रैल थीलेकिन अब इसे संशोधित कर 30 जून तक बढ़ा दिया गया है।

इस बीचअधिकांश अधिकारियों को घर से काम करना जारी रखने और टेलीफोन और संचार के इलेक्ट्रॉनिक माध्यमों पर उपलब्ध रहने को कहा गया है। जब भी आवश्यकता पड़ती है तो उन्हें उपलब्ध रहने के लिए कहा जा सकता है।

No comments:

Post a Comment

Translate