Sunday, March 8, 2020

महिलाओं और नवजात बच्चों की सेहत को लेकर हुई पोषण आहार कार्यशाला

महिलाओं और नवजात बच्चों की सेहत को लेकर हुई पोषण आहार कार्यशाला 

5 मार्च से 20 मार्च तक चलेगा पोषण आहर कार्यशाला, किशोरी बालिकाओं और धात्री महिलाओं को दी जाएगी जानकारी

सिवनी। गोंडवाना समय।
 किशोरी बालिकाओं और धात्री महिलाओं  ओर नवजात बच्चों के स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करने के उद्देश्य को लेकर महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा 5 मार्च से 20 मार्च तक पोषण आहार पखवाड़े का आयोजन किया जा रहा है। कार्यक्रम के प्रचार प्रसार ओर रूप रेखा की जानकारी देने के उद्देश्य  बीझांवाड़ा स्थित महिला एवं बाल विकास विभाग के मुख्य कार्यालय में  शनिवार 8 मार्च को एक कार्यशाला का आयोजन किया गया जिसमें जिला कार्यक्रम अधिकारी लक्ष्मी धुर्वे सहायक कार्यक्रम अधिकारी अभिजीत पचौरी सहित महिला बाल विकास की सिवनी ग्रामीण एक  की परियोजना अधिकारी श्रीमति राजकुमारी जंघेला,सिवनी शहरी परियोजना अधिकारी श्रीमति मेहरीन मरावी, पर्यवेक्षक श्रीमति मधु बघेल, श्रीमति बीनू सक्सेना, श्रीमति राजदुलारी यादव, श्रीमति साधना उइके,श्रीमति कमला दुबे, श्रीमति कविता दुबे,श्रीमति कौशल्या भांगरे,श्रीमति ऊषा मेहराल और आंगनवाड़ी कार्यकर्ता एवं पत्रकार उपस्थित रहे।

पावर पाइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से दी गई जानकारी-

कार्यशाला के दौरान सुपरवाइजर द्वारा उपस्थित पत्रकारों को पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से पोषण आहार पखवाड़े के दौरान आयोजित होने वाली विभिन्न गतिविधियों की जानकारी दी गई उन्होंने बताया कि महिलाओं और किशोरी बालिकाओं को पोषण आहार के प्रति जागरूक करने के उद्देश्य जिले की सभी आंगनवाड़ी केंद्रों में प्रभात फेरी भजन कीर्तन एवं स्कूलों में निबंध और कुछ प्रतियोगिता आयोजित कर पोषण की जानकारी दी जाएगी

मुनगा को लेकर भ्रांतिया मिथ्या-

महिलाओं एवं बच्चों की सेहत के लिए मुनगा के फल और पत्तों के सेवन से स्वास्थ्य के लिए कितना फायदे मन्द है उसकी जानकारी दी गई। मुनगा के सेवन से दवा का असर न होने की भ्रांतियों को पर्वक्षक श्रीमति ऊषा मेहराल ने दूर किया। इस दौरान विभिन्न प्रकार के पोषण आहार की प्रदर्शनी का भी आयोजन किया गया।

No comments:

Post a Comment

Translate