Thursday, March 19, 2020

रेत माफियाओं के खेल को उजाकर कर रही जप्त खनिज रेत की नीलामी

रेत माफियाओं के खेल को उजाकर कर रही जप्त खनिज रेत की नीलामी 

सिवनी। गोंडवाना समय। 
अनुसूचित ब्लॉक कुरई में रेत माफियाआें के द्वारा राजस्व क्षेत्र के साथ साथ वन क्षेत्र में रेत का उत्खनन का कारोबार बेखौफ होकर किया जा रहा है। जबकि माफिया मुक्त बनाये जाने को लेकर शासन प्रशासन द्वार माफिया पर कार्यवाही के लिये दल भी गठित किया गया था। इसके बाद भी रेत माफियाओं को अवैध रूप से रेत का उत्खनन करने से नहीं रोक पाना आखिर कहां कमी है आखिर रेत माफियाओं को कौन सरंक्षण दे रहा है। रेत माफियाओं के द्वारा रात-दिन जेसीबी मशीन व पोकलेंड मशीन से रेत का अवैध रूप से उत्खनन का कार्य किया जा रहा है। रेत माफियाओं के हौंसले इतने बुलंद है कि वे राजस्व क्षेत्र की नदियों से तो रेत उत्खनन का कार्य कर रहे है वहीं वन क्षेत्र में रेत का उत्खनन करने वन विभाग को चुनौती देते हुये कर रहे है। 

वन विभाग छिपाता है कार्यवाही 

वन क्षेत्रों में रेत का उत्खनन करने वालों को वन विभाग द्वारा कागजी खानापूर्ति के लिये यदि पकड़ा भी जाता है। पारदर्शिता के साथ जनता के सामने में कार्यवाही को छिपाया जाता है आखिर क्यों ? वहीं वन क्षेत्र में जहां जरूरतमंद वनांचल क्षेत्र के आसपास रहने वाले यदि जलाऊ लकड़ी भी काट लेते है, पशुओं के लिये चारा भी काटते है तो उन पर वन विभाग नियम कानून का डण्डा चलाने में कोई कसर नहीं करता है । वहीं रात-दिन वन क्षेत्रों से रेत माफिया रेत का उत्खनन करते है उन्हें रोकने में वन विभाग पीछे हट जाता है आखिर इसके पीछे क्या वन विभाग का क्या स्वार्थ है। बीते दिनों ही कुरई क्षेत्र के पीपरकुट्टा वन क्षेत्र में रेत का उत्खनन करने की शिकायत ग्रामीणों के द्वारा कई दिनों से की जा रही थी लेकिन कोई कार्यवाही कुरई क्षेत्र वन अधिकारियों के द्वारा नहीं की जा रही थी। सिवनी से वन विभाग का उड़नदस्ता को पहुंचकर कार्यवाही करना पड़ा था। इसके बाद भी मात्र 2 टेÑक्टर ही वन विभाग के हाथ आये थे। जिन्हें वन विभाग के कुरई कार्यालय में खड़ा भी करवाया गया था लेकिन कार्यवाही क्या हुई इसका फोटो सेशन करवाकर मीडिया के माध्यम से सार्वजनिक वन विभाग के द्वारा नहीं किया गया ।

तो खनिज विभाग शिकायतों को करता है अनुसना 

खनिज विभाग की स्थिति भी यही है। रेत माफियाओं के द्वारा रेत का अवैध रूप से उत्खनन का कारोबार करने में कहीं कोई कमी नहीं आ रही है। रेत उत्खनन क्षेत्र से अवैध उत्खनन की शिकायत को खनिज विभाग के अधिकारियों के द्वारा अनसुना कर दिया जाता है। रेत माफियाओं का सफेद सोने का कारोबार ठेका लेने के साथ साथ अवैध रूप से भी खनिज विभाग की सांठगांठ चल रहा है। 

90 घनमीटर रेत की नीलामी में पहुंचने की अपील

सिवनी जिले के खनिज अधिकारी द्वारा जानकारी देते हुए बताया गया है कि ग्राम खैरघाट तहसील कुरई जिला सिवनी में पाये गए खनिज रेत के अवैध भंडार जिनकी कुल मात्रा 30 ट्राली लगभग 90 घनमीटर है। उसकी शासकीय बोली 31500 रुपए निर्धारित की गई है। जिसकी खुली नीलामी 27 मार्च को दोपहर 12 बजे से ग्राम 
पंचायत रमली के प्रांगण में रखी गई है, इच्छुक व्यक्ति खुली नीलामी में भाग ले सकते हैं। 

23 ट्राली लगभग 69 घनमीटर की होगी खुली नीलामी

इसी तरह ग्राम रमली तहसील कुरई जिला सिवनी के ख. नं. 261 में पाये गए खनिज रेत के अवैध भंडारण जिनकी कुल मात्रा 23 ट्राली लगभग 69 घनमीटर है, की शासकीय बोली 24150 रुपए निर्धारित की गई है। जिसके विक्रय हेतु खुली नीलामी 27 मार्च को दोपहर 12 बजे से ग्राम पंचायत रमली के प्रांगण में रखी गई है, इच्छुक व्यक्ति खुली नीलामी में भाग ले सकते है। 

No comments:

Post a Comment

Translate