Saturday, April 11, 2020

7447 पुष्ट मामले, 239 की मृत्यु और 642 व्यक्ति स्वस्थ्य होकर हुये डिस्चार्ज


7447 पुष्ट मामले, 239 की मृत्यु और 642 व्यक्ति स्वस्थ्य होकर हुये डिस्चार्ज
कोविड.19 पर अपडेट





नई दिल्ली। गोंडवाना समय। देश में कोविड
 19 की रोकथाम नियंत्रण एवं प्रबंधन के लिए राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों के साथ साथ भारत सरकार द्वारा विभिन्न अग्ररोधी, सक्रिय एवं श्रेणीबद्ध उपाय किए गए हैं। इनकी नियमित रूप से निगरानी एवं पुनरीक्षण सर्वोच्च स्तर पर किया जा रहा है।
माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आज राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये परस्पर बातचीत की और वर्तमान स्थिति की समीक्षा की तथा कोविड-19 से लड़ने के उनके सामूहिक संकल्प के बारे में बताया।
भारत सरकार एक श्रेणीबद्ध रिस्पांस दृष्टिकोण अपनाते हुए अपने सतत प्रयासों के जरिये यह सुनिश्चित कर रही है कि देश भर में प्रत्येक राज्य को महत्वपूर्ण वस्तुओं जिनमें पीपीईएन95 मास्कटेस्टिंग किटदवाओं और वेंटिलेटर शामिल हैंकी आपूर्ति में कोई कमी न हो। सरकार कोविड-19 रोगियों का ध्यान रखने के लिए केंद्र एवं राज्य दोनों ही स्तरों पर समर्पित कोविड-19 अस्पतालों का पुनरोद्धार सुनिश्चित करती रही है।
वर्तमान मेंकेंद्र एवं राज्योंदेानों के लिए संचयी संख्या इस प्रकार है:
  • समर्पित कोविड सुविधा केंद्रों की संख्या: 586
  • आईसोलेशन बेड: 1,04,613
  • आईसीयू बेड: 11,836
अग्रिम पंक्ति स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के क्षमता निर्माण के लिए एम्सनई दिल्ली कोविड-19 मरीजों की देखभाल के लिए वेबीनारों की एक श्रृंखला आयोजित कर रहा है। इन वेबीनारों की समयसूची का https://www.mohfw.gov.in. पर नियमित रूप् से अद्यतन किया जा रहा है।
इसके अतिरिक्तआयुष मंत्रालय ने श्वसन स्वास्थ्य के लिए प्रतिरक्षण बढ़ाने के लिए दिशानिर्देश जारी किए हैं और प्रस्ताव भी रखा है कि आयुष समाधानों को देश भर में वायरस को नियंत्रित करने में जिला आकस्मिकता योजना में शामिल किया जाए। ये दिशानिर्देश स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की वेबसाइट पर भी उपलब्ध हैं।
कई जिले कोविड-19 से मुकाबला करने के लिए नवोन्मेषी माडलों को अपनाते रहे हैं।
आगराजहां से पहले क्लस्टर का पता लगा थाने अपने कोविड-19 प्रबंधन दृष्टिकोण के एक हिस्से के रूप में क्लस्टर नियंत्रण कार्यनीति पर ध्यान केंद्रित किया। राज्यजिला प्रशासन और अग्रिम पंक्ति कार्यकर्ताओं ने वार रूमों की तरह कमांड एंड कंट्रोल सेंटर (आईसीसीसी) के साथ समेकित अपने वर्तमान स्मार्ट सिटी के उपयोग के द्वारा अपने प्रयासों को समन्वित किया। क्लस्टर नियंत्रण एवं प्रकोप नियंत्रण योजनाओं के तहत जिला प्रशासन ने अधिकेंद्रों की पहचान कीमानचित्र पर पोजिटिव पुष्ट मामलों के प्रभाव को निरूपित किया और जिला प्रशासन द्वारा बनाई गई सूक्ष्म योजना के अनुरूप विशेष कार्यबल तैनात किया। एक सक्रिय सर्वे एवं नियंत्रण योजना के जरिये द्वारा हाटस्पाटों को प्रबंधित किया गया। अधिकेंद्र से 3 किमी के दायरे के भीतर क्षेत्र की पहचान की गई जबकि 5 किमी के बफर जोन की पहचान नियंत्रण जोन के रूप में की गई। इन नियंत्रण जोन मेंशहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों की सेवाएं ली गईं और 1248 टीमों को तैनात किया गया। प्रत्येक टीम में एएनएम/आशा/एडल्ब्यूडब्ल्यू सहित 2 कार्यकर्ता थे जो घरों की स्रकीनिंग के जरिये 9.3 लाख लोगो तक पहुंचे। इसके अतिरिक्तप्रथम कांटैक्ट ट्रेसिंग की प्रभावी एवं आरंभिक ट्रैकिंग का पूरी तरह मानचित्रण किया गया। इसके अतिरिक्तफोकस एक सक्रिय सार्वजनिक-निजी साझीदारी के जरिये आइसोलेशनटेस्टिंग एवं उपचार सुविधा केंद्रों की स्थापना पर भी था। इसके साथ साथसुनिश्चित किया गया कि जरुरतमंद लोगों को भोजन एवं आपूर्तियां प्रदान की जाएं तथा एक अनिवार्य आपूर्ति श्रंखला बना कर रखी गई। नागरिकों के लिए उनके दरवाजों पर वितरण सुनिश्चित किया गया एवं ई-पास सुविधा ने लाकडाउन के दौरान अनिवार्य वस्तुओं एवं सेवाओं की आवाजाही को सुगम बनाया।
ऐसा करने के दौरानजिला प्रशासन द्वारा नागरिक जागरूकता एवं भागीदारी पर निरंतर फोकस रखा गया। लोगों तक पहुंचने के लिए केंद्रीय हेल्पलाइनों की स्थापना की गई और अनुक्रियाओं को समन्वित करने के लिए एक बहुकार्यात्मक टीम  का गठन किया गया।
आगरा द्वारा अपनाई गई क्लस्टर नियंत्रण कार्यनीति को सर्वश्रेष्ठ प्रचलन के रूप में अन्य राज्यों के साथ साझा किया जा रहा है।
कल से भारत में कोविड-19 के पुष्ट मामलों में 1035 मामलों की बढोतरी दर्ज की गई है और सक्रिय मामलों में 855 की वृद्धि दर्ज की गई है। आज कुल 239 लोगों की इससे मृत्यु हुई है। उपचार के बाद 642 व्यक्ति स्वस्थ/डिस्चार्ज हो हो चुके हैं। अभी तक कुल 7447 पुष्ट मामले रिपोर्ट किए गए हैं।
कोविड.19 संबंधित तकनीकी मुद्वोंए दिशानिर्देशों एवं परामर्शदात्रियों पर सभी प्रमाणिक एवं अद्यतन जानकारी के लिए कृप्या नियमित रूप से https://www.mohfw.gov.in/. का अवलोकन करें।
कोविड.19 संबंधित तकनीकी पूछताछ के लिए  technicalquery.covid19@gov.in पर तथा अन्य प्रश्नों के लिए  ncov2019@gov.in .पर ईमेल करें।
कोविड.19 पर किसी पूछताछ के मामले मेंए कृप्या स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय हेल्पलाइन संख्या  +91-11-23978046 या 1075 ;टोल फ्री पर काल करें। कोविड.19 पर राज्यों/ केंद्र शासित प्रदेशों की हेल्पलाइन संख्या की सूची  https://www.mohfw.gov.in/pdf/coronvavirushelplinenumber.pdf .पर भी उपलब्ध है।

No comments:

Post a Comment

Translate