Wednesday, April 15, 2020

नैनकली का शिकार करने वाला बाघ को कोर क्षेत्र में छोड़ा

नैनकली का शिकार करने वाला बाघ को कोर क्षेत्र में छोड़ा 

बाघ के दायें तरफ पेट के उपरी हिस्से में घाव का किया उपचार  

सिवनी। गोंडवाना समय। 
पेंच टाइगर रिजर्व सिवनी के परिक्षेत्र खवासा बफर के क्षेत्र में विचरण करने वाले बाघ के द्वारा 8 अप्रेल 2020 को राजस्व ग्राम खम्बा की एक युवती नैनकली को मारा था। घटना के बाद यह ज्ञात करने की कोशिश की गयी कि किस बाघ के द्वारा युवती को मारा गया है। लगातार संभावित क्षेत्र में कैमरा ट्रेप लगाये गये और कर्मचारियों एवं सुरक्षा श्रमिको के विभिन्न दल बनाकर लगातार गश्ती की गयी। 

बफर क्षेत्र से हटाकर कोर क्षेत्र में छोड़ा गया 

लगातार कोशिशो के बाद यह जानने में सफलता प्राप्त हुयी कि कौन से बाघ ने युवति को मारा है। इस बाघ के द्वारा पूर्व में पशुओं के किल करने को विभाग द्वारा लगातार निगरानी की गयी थी।
इस बाघ के दायें तरफ पेट के उपरी हिस्से में एक छोटा सा घाव था इसे ध्यान में रखते हुये 14 अप्रेल को मुख्य वन संरक्षक एवं क्षेत्र संचालक के निर्देशन एवं समक्ष में उपसंचालक एवं स्टाफ के साथ वन्यप्राणी चिकित्सक डॉ. अखिलेश मिश्रा के द्वारा इस बाघ का इलाज किया गया
एवं इलाज के बाद इसे बफर क्षेत्र से हटाकर कोर क्षेत्र में छोड़ा गया है।

निगरानी हेतु वी.एच.एफ. कॉलर पहनाया गया

सतत निगरानी हेतु इस बाघ को एक वी.एच.एफ. कॉलर पहनाया गया है। इस कार्य में 8 अप्रेल से लेकर 14 अप्रेल तक में श्री एम.बी. सिरसैया उपसंचालक परिक्षेत्र अधिकारी कर्माझिरी श्री राजू राजपूत, परिक्षेत्र अधिकारी खवासा बफर श्री नीरज बिसेन वन्यप्राणी चिकित्सक डॉ. अखिलेश मिश्रा एवं रेस्क्यू दल के सदस्य एवं पेंच टाइगर रिजर्व के परिक्षेत्र सहायको वनरक्षको एवं श्रमिको सहित लगभग 100 से अधिक लोगो के द्वारा अपने-अपने स्तर पर पूरे मनोयोग के साथ अपनी जवाबदारी का परिचय देते हुये प्रशंसनीय कार्य किया गया है। वहीं श्री अर्जुन सिंह काकोड़िया विद्यायक विधानसभा बरघाट क्षेत्र के द्वारा भी 8 अप्रेल को खम्बा ग्राम में आक्रोषित ग्रामीणों को समझाने में अपना योगदान दिया है।

महुआ बीनने व तेंदूपत्ता संग्रहण समुह में जाये 

ग्रामवासियों को समझाइस दी गयी कि वे अकेले न जाये ग्रुप में जाये एवं सर्तक रहे। इस हेतु सभी स्तरों पर क्षेत्र संचालक उप संचालक सहायक वन संरक्षक परिक्षेत्र अधिकारी परिक्षेत्र सहाकय, वनरक्षक एवं श्रमिक तक ने अपने अपने स्तर पर क्षेत्र में भ्रमण कर यदि कोई ग्रामीण महिला या पुरूष अकेले महुआ बीनते हुये पाये गये तो उन्हे समझाईश दी गयी कि वे अकेले महुआ बीनने न जाकर समूह में महुआ बीने। पेंच टाइगर रिजर्व सिवनी म.प्र. के बफर क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले ग्रामों में रहने वाले सभी ग्रामीणों से अपील है कि वें महुआ बीनते समय एवं आगे तेन्दुपत्ता संग्रहण करने समय वन क्षेत्र में अकेले न जायें समूह में जायें ताकि किसी भी तरह की कोई अप्रीय घटना किसी ग्रामवासी के साथ न हो।

No comments:

Post a Comment

Translate