Tuesday, May 5, 2020

देश में कुल पुष्ट मामलों की संख्या 46,433 पर पहुंची

देश में कुल पुष्ट मामलों की संख्या 46,433 पर पहुंची 

अभी तक कुल 1,568 लोगों की मृत्यु हो चुकी 


कोविड-19 पर अपडेट

अभी तक उपचार के बाद 12,726 लोग स्वस्थ हुए


नई दिल्ली। गोंडवाना समय।
भारत सरकार राज्यों/ संघ शासित क्षेत्रों के साथ मिलकर एक क्रमिक, पूर्व-निर्धारित और सक्रिय दृष्टिकोण को अपनाते हुए कोविड-19 की रोकथाम, नियंत्रण और प्रबंधन की दिशा में कई प्रकार के कदम उठा रही है। इनकी उच्चतम स्तर पर नियमित रूप से समीक्षा और निगरानी की जा रही है।
केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्ष वर्धन की अध्यक्षता में हुई मंत्रियों के समूह (जीओएम) की 14वीं बैठक हुई, जिसमें कोविड-19 की रोकथाम और प्रबंधन तथा केंद्र व विभिन्न राज्यों द्वारा उठाए गए कदमों पर व्यापक विचार-विमर्श किया गया। जीओएम ने आवश्यकता की तुलना में पीपीई, मास्क, वेंटिलेटर, दवाओं और अन्य आवश्यक उपकरणों की पर्याप्तता और उपलब्धता की समीक्षा की। जीओएम के सामने आरोग्य सेतु ऐप के प्रदर्शन, प्रभाव और प्रभाव पर भी प्रस्तुतीकरण दिया गया।
स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने गैर कोविड अस्पतालों और कोविड ब्लॉक वाले अस्पतालों में गैर कोविड उपचार क्षेत्रों में स्वास्थ्य देखभाल करने वाले कर्मचारियों और अन्य के लिए पीपीई के तर्कसंगत उपयोग से संबंधित अतिरिक्त दिशानिर्देश जारी किए हैं। यह पीपीई के तर्कसंगत उपयोग पर 24 मार्च, 2020 को जारी दिशानिर्देशों के अनुरूप हैं।
अस्पताल के ओपीडी, चिकित्सकों के चैम्बर, एनिस्थीसिया पूर्व जांच क्लीनिक, आईपीडी-वार्ड/ आईसीयू, लेबर रूम, ऑपरेशन थिएटर आदि विभिन्न क्षेत्रों के लिए व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरणों (पीपीई) के विभिन्न स्तरों का सुझाव दिया गया है। विस्तृत दिशानिर्देश https://www.mohfw.gov.in/pdf/AdditionalguidelinesonrationaluseofPersonalProtectiveEquipmentsettingapproachforHealthfunctionariesworkinginnonCOVIDareas.pdf पर उपलब्ध हैं।
स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय गैर आवश्यक स्वास्थ्य सेवाओं की डिलिवरी के लिए 14 अप्रैल, 2020 को दिशानिर्देश जारी किए गए थे। इन दिशानिर्देशों के माध्यम से राज्यों/ संघ शासित क्षेत्रों में यह सुनिश्चित करना है कि विभिन्न क्षेत्रों में दी गई छूट के तहत सरकारी और निजी गैर कोविड केन्द्रों में टीकाकरण, मातृ-बाल स्वास्थ्य सेवाएं, डायलिसिस, कैंसर, मधुमेह, टीबी और रक्त दान सेवाओं जैसी गंभीर मरीजों के लिए जरूरी सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं।
अभी तक कुल 12,726 लोगों का उपचार किया जा चुका है। इससे हमारी कुल सुधार दर 27.41 प्रतिशत के स्तर तक पहुंच गई है। देश में कुल पुष्ट मामलों की संख्या 46,433 के स्तर पर पहुंच गई है। कल तक भारत में कोविड-19 के पुष्ट मामलों की संख्या में 3,900 की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। अभी तक कुल 1,568 लोगों की मृत्यु हो चुकी है, जिसमें से 195 की मृत्यु कल ही हुई है।
पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा पुष्ट मामले सामने आने और सबसे ज्यादा लोगों की मृत्यु के साथ राज्यों/ संघ शासित क्षेत्रों को प्रभावी रूप से संपर्क निगरानी, सक्रिय मामलों की खोज और मामलों के चिकित्सकीय प्रबंधन की सलाह दी गई है।
कोविड-19 से संबंधित तकनीकी मामलों के बारे में सभी प्रकार की विश्वसनीय और अद्यतन जानकारी, दिशा-निर्देशों एवं परामर्श के लिए कृपया नियमित रूप से https://www.mohfw.gov.in/ देखें।
कोविड-19 से संबंधित तकनीकी प्रश्नों को  technicalquery.covid19@gov.in और अन्य प्रश्नों को ncov2019@gov.in पर ई-मेल तथा ट्वीट के माध्यम से @CovidIndiaSeva पर भेजा जा सकता है।
कोविड-19 के बारे में किसी भी प्रश्न के बारे में कृपया स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय को हेल्पलाइन नम्बर : +91-11-23978046 या 1075 (टोल फ्री) पर सम्पयर्क करें। कोविड-19 के बारे में राज्यों/ संघ शासित क्षेत्रों के हैल्पलाइन नम्बरों की सूची https://www.mohfw.gov.in/pdf/coronvavirushelplinenumber.pdf पर भी उपलब्ध है।

No comments:

Post a Comment

Translate