Saturday, May 16, 2020

भोमा, करकोटी में प्रबंधक का खरीदी में लगा कुनबा

भोमा, करकोटी में प्रबंधक का खरीदी में लगा कुनबा 

समिति संचालक ओर प्रभारी प्रबंधक राजेश रजक समितियों में करवा रहे भाई, भतीजो से काम

सिवनी। गोंडवाना समय। 
जिले की भोमा ओर करकोटी गेंहू खरीदी केंद्र में खाद्य आपूर्ति अधिकारी श्री एस के मिश्रा, डीएमओ श्री हीरेन्द्र रघुवंशी के संरक्षण में भोमा का प्रभारी प्रबंधक बने खरीदी प्रभारी राजेश रजक का गेंहू की खरीदी में पूरा कुनबा काम कर रहा है। भाई से लेकर भतीजो को भोमा ओर करकोटी खरीदी केंद्र में डेलीविजेश पर रख लिया गया है। वहीं भोमा समिति के तीन सरकारी कर्मचारियों से काम करने की वजाय उन्हें कार्यालय में ही रखा गया है।

खरीदी में गोलमाल के लिए भाई भतीजे

सूत्र बताते हैं कि भोमा ओर करकोटी में गेंहू की खरीदी कर रहे राजेश रजक खरीदी में पैसा कमाने ओर गोलमाल करने के लिए समिति के कर्मचारियों को दर किनार करते हुए भतीजे सहित रजक, बसंत रजक सहित भाई को भी गेंहू खरीदी में रखे जाने की चचार्एं जोरो पर है। चचार्एं तो यह भी है कि किसानों से पैसे लेने के बाद गेंहू तौली जा रही है। 

कहां से देंगे वेतन

सरकारी कर्मचारी होने के बावजूद गेंहू खरीदी में रखे हुए रिस्तेदारों को क्या समिति से पैसे दिए जाएंगे। यदि नहीं तो फिर राजेश रजक अपने घर से तो पैसे नही देंगे ऐसे में निश्चित तौर पर गेंहू खरीदी में ही हेरफेर कर भुगतान किए जाने से इनकार नही किया जा सकता है।

हम्मालों के मेहनताना पर सेंध

समिति से जुड़े हुए सूत्र बताते हैं कि भोमा ओर करकोटी में खरीदी कर रहे राजेश रजक की नियतखोरी हम्मालों की रोजी रोटी पर भी सेंध लगा रहे है। भराई, तुलाई ओर लोडिंग के लिए हम्मालों के लिए 12 रुपये निर्धारित है लेकिन सूत्र बताते हैं कि हम्मालों को 8 रुपये ही दे रहे हैं और चार रुपये खुद का कमीशन बताकर डकार रहे है। इसको लेकर हम्मालों ने लिखित शिकायत भी की लेकिन समिति संचालको से मोटी कमीशन पाने वाले खाद्य आपूर्ति विभाग, सहकारिता विभाग और मार्कफेड के अधिकारी कोई कार्यवाही नही कर रहे हैं। इस संबंध में उपयुक्त सहकारिता ओर खाद्य आपूर्ति अधिकारी एसके मिश्रा ने जांच कराकर कार्यवाही करने की बात कही है।

No comments:

Post a Comment

Translate