Wednesday, June 3, 2020

बम्होड़ी पंचायत में कार्यस्थल से गायब, सरपंच, सचिव, रोजगार सहायक और मेट

बम्होड़ी पंचायत में कार्यस्थल से गायब, सरपंच, सचिव, रोजगार सहायक और मेट

ग्राम पंचायत बम्होड़ी में मनरेगा में पंचायत के कर्णधार बरत रहे लापरवाही 

सिवनी। गोंडवाना समय। 
कोरोना वायरस संक्रमण के तहत दिशा निर्देशों का पालन जनपद पंचायत सिवनी के मुख्य कार्यपालन अधिकारी और कर्मचारी कार्यालय में ही बैठकर पूरा करवा रहे है। यही कारण है कि जिला मुख्यालय से ही लगी हुई ग्राम पंचायतों में ही ग्राम पंचायतों के जिम्मेदार श्रमिकों को कार्य करते समय अकेला छोड़कर गायब रहते हैं। जनपद पंचायत सिवनी के अंतर्गत ग्राम पंचायत बम्होड़ी के सरपंच, सचिव, रोजगार सहायक, मेट सभी गायब थे। 

शासन के निर्देशों का नहीं हो रहा पालन 

          कोविड 19 कोरोना वायरस के कारण देश मे बेरोजगारी बहुत ज्यादा बढ़ गयी थी। जिसके चलते केंद्र सरकार व राज्य सरकार द्वारा हर एक ग्राम पंचायत में मनरेगा योजना के अंतर्गत ग्रामीणों को रोजगार दिया जा रहा है, जिससे ग्रामीणजन रोजगार से वंचित न रहे।
           वहीं सरकार द्वारा कोरोना संकट के समय श्रमिकों को पूर्ण सुरक्षा प्रदान करने के लिये सख्त हिदायत दी गई है। वहीं कार्य करते समय जनपद पंचायत के अधिकारियों के गैर जिम्मेदारीपूर्वक कार्य के चलते यदि सरपंच, सचिव और रोजगार सहायक गायब भी रहते है तो कम से कम मेट को तो कार्य चलने के दौरान कार्यस्थल पर मौजूद रहना चाहिये लेकिन ग्राम पंचायत बम्होड़ी पंचायत के जिम्मेदार सभी गायब रहतेहै। 

न मास्क, न फर्स्टएड बॉक्स और मजदूरी कम मिलने की शिकायत 

            हालांकि अधिकांश ग्राम पंचायतों में जहां मनरेगा का कार्य करवाया जा रहा है वहां पर नियमों का पालन भी किया जा रहा है लेकिन जनपद पंचायत सिवनी की ग्राम पंचातय बम्होड़ी मनरेगा के अंतर्गत चल रहे काम मे सरपंच, सचिव, रोजगार सहायक और मेट की लापरवाही बरत रहे है।
             मनरेगा में काम करते मजदूरों के चेहरे पे न तो मास्क मिला, न ही कोई फर्स्टएड बॉक्स और सरपंच, सचिव, रोजगार सहायक के साथ साथ मेड भी गायब मिले, मजदूरों से पूछे जाने पे उन्होंने बताया सिर्फ कुछ मजदूरों को मास्क मिला ज्यादातर मजदूरों को मास्क नहीं मिला और सरपंच, सचिव, रोजगार सहायक में से कोई भी आकर नही देखते है, कभी-कभी सचिव आ जाते हैं बस। वहीं ग्राम पंचायत बम्होड़ी में काम कर रहे मजदूरों ने मिल रही मजदूरी को भी लेकर शिकायत की बताया की कभी 150, कभी और भी कम मजदूरी मिल रही है।

No comments:

Post a Comment

Translate