Wednesday, June 3, 2020

शादी के लिये महिला को न लाने पर हुआ विवाद तो कुल्हाड़ी मारकर कर दिये हत्या

शादी के लिये महिला को न लाने पर हुआ विवाद तो कुल्हाड़ी मारकर कर दिये हत्या

धूमा पुलिस ने अंधे हत्याकांड का किया खुलासा, दो आरोपी गये जेल 

सिवनी। गोंडवाना समय। 
जिले के धूमा पुलिस थाना अंतर्गत पुलिस ने लगभग बीते 6 दिन पूर्व हुये अंधे हत्याकांड का खुलासा किया है। पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार बीते दिवस 28 मई 2020 को धूमा थाना क्षेत्र अंतर्गत आने वाले ग्राम गुरार की पहाड़ी के पास खेत में खून से सनी हुई लाश की सूचना ग्रामवासियों के द्वारा 100 डायल धूमा वाहन को दी 
गई थी। जहां मृतक की पहचान ग्राम गुरार के चम्मू लाल पिता प्यारेलाल गोंड उम्र 35 वर्ष के रूप में की गई थी। पुलिस ने प्रथम दृष्टय: अज्ञात आरोपियों के विरुद्ध धारा 302 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया था। 

पुलिस अधीक्षक ने जांच हेतु दिया था निर्देश 

पुलिस थाना धूमा के द्वारा पुलिस अधीक्षक श्री कुमार प्रतीक व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री कमलेश खरपुसे को घटना के संबंध में अवगत कराकर व निर्देश पर घटना की गंभीरता को देखते हुए एक टीम का गठन किया गया था। विवेचना के दौरान पुलिस अधीक्षक द्वारा मौके पर फॉरेंसिक टीम भेजकर घटनास्थल का निरीक्षण कराया गया। जिससे आवश्यक साक्ष्य को एकत्रित किया जा सके, साइबर सेल की सहायता से तकनीकी पहलुओं पर कार्य कर विवेचना में सम्मिलित किया गया।

शादी कराने के नाम पर लबे समय तक ऐंठते रह पैसा 

धूमा पुलिस थाना अंतर्गत बनी विवेचना टीम कोे मुखबिर से सूचना मिली थी कि घटना 27 मई 2020 को दिन में मृतक चम्मू के साथ ग्राम के ही परसराम और राजकुमार ने साथ में शराब का सेवन किया था और मछली भी खाया था। मृतक चम्मू की पत्नी ने दो साल पहले दूसरा विवाह कर ली तथा गांव में ही विधवा महिला रहती है, उससे चम्मू की शादी करा देने की बात कहकर मृतक चम्मू से दोनों आरोपियों के द्वारा लंबे समय तक मोटी रकम ऐंठते रहे और उससे खाना-पीना करते रहे। 

चम्मू को शादी करने के लिये 10 हजार रूपये लेकर बुलाया था 

शादी करवाये जाने के नाम पर बीते 27 मई 2020 को दोनो आरोपी राजकुमार व परसराम ने मृतक चम्मूलाल को 10 हजार रूपये लेकर आने की बात कहा था तथा आरोपी राजकुमार ने विधवा महिला को लेकर जंगल पहाड़ी में लेकर आता हूं कहा था। जिसके साथ चम्मूलाल का विवाह परसराम के साथ में लखनादौन ले जाकर शादी कराने के लिये कहें थे। 

महिला को साथ नहीं लाने पर हुये विवाद पर कर दिये हत्या 

जिस पर मृतक चम्मूलाल आरोपी परसराम के साथ बस्ती के किनारे पहाड़ी पर पहुंचकर राजकुमार का इंतजार करते रहे। जब राजकुमार अकेला ही वापस उनके पास पहुंचा तो उससे चम्मूलाल ने बोला कि तू अ‍ेकला ही आया, उसको क्यों नहीं लाया तो आरोपी राजकुमार ने बोला कि उनके यहां बहुत से आदमी है। वह नहीं आ सकती तब मृतक ने राजकुमार और परसराम से बोला कि तुम मेरी शादी करवाने के नाम पर मेरे से कई दिनों से रूपया ऐंठ रहे हो, इसी बात को लेकर मृतक चम्मूलाल व आरोपी राजकुमार और परसराम के साथ विवाद हो गया। तब आरोपीगणों ने एक राय होकर राजकुमार ने चम्मूलाल के गर्दन पर कुल्हाड़ी मारकर हत्या कर दिये और मृतक के पास रखे 4900 रूपये लेकर भाग गये जो आपस में बांट लिये थे। 

4900 रूपये किये जप्त, इन्होंने किया हत्या का खुलासा 

पुलिस थाना धूमा की जांच टीम द्वारा अनुसंधान के दौरान 2 जून 2020 को दोनो आरोपीगणों को गिरफतार किया गया। पुलिस पूछताछ पर दोनो आरोपियों ने अपना जुर्म स्वीकार किया तथा मृतक के पास से लिये गये 4900 रूपये भी पुलिस ने बदामद किया है। हत्या के मामले में खुलासा करने व आरोपियों को पकड़ने में अनुविभागीय दण्डाधिकारी पुलिस श्री आन एन परतेती एवं पुलिस थाना प्रभारी उप निरीक्षक श्री एम एल राहंगडाले, आरक्षक 167 हरिओम सिंह राजपूत, आरक्षक 506 मेघेन्द्र राहंगडाले, आरक्षक चालक 500 रवि यादव, सैनिक 229 राम सिंह की आरोपियों को गिरफतार कर अंधे कत्ल की गुल्थी सुलझाने में सराहनीय योगदान रहा। 

No comments:

Post a Comment

Translate