Sunday, August 16, 2020

भूतपूर्व सैनिक झामरा धुर्वे जी के निधन पर श्रद्धांजलि

भूतपूर्व सैनिक झामरा धुर्वे जी के निधन पर श्रद्धांजलि

15 अगस्त 2020 को हृद्य गति रूकने से हुआ निधन 

सिवनी। गोंडवाना समय। 

भारत की मातृभूमि में जन्म लेने वाला वतन का हर वह नागरिक किस्मत वाला होते जिन्हें मातृभूमि की सुरक्षा करने करने का शुभ अवसर प्राप्त होता है। ऐसे ही सिवनी जिले के एक छोटे से गांव बखारी बकोड़ी में किसान परिवार में जन्म लिये और पढ़ लिख कर बड़े हुए और अपनी मेहनत और लगन से देश की सेवा में तैनात हुए भूतपूर्व वीर सैनिक श्री झामरा धुर्वे जी का जन्म 5 जनवरी 1935 को हुआ था। वहीं उनका दुखद निधन स्वतंत्रता दिवस के दिन 15 अगस्त 2020 को यानि आजादी के एक खास दिन में हृदय गति रुकने से हो गया। 

उनकी प्रेरणा से क्षेत्र कई ग्रामीण युवा सेना में हुये भर्ती 

भूतपूर्व वीर सैनिक श्री झामरा धुर्वे जी जिन्होंने कई बार आतंकियों से मुकाबला किया एवं 1965 में भारत पाकिस्तान युद्ध में वतन की रक्षा करने के लिए अपनी सेवा दी।पूरी सेवा काल की कहानी वीर सैनिक अपने आसपास के युवाओं को बताकर प्रेरित करते रहते थे। वहीं क्षेत्र के युवा वर्ग भी उनसे प्रेरणा लेकर अब तुम्हारे हवाले वतन साथियों नगर सैनिकों ने सैनिक सम्मान कार्यक्रम का शुभारंभ किया था। इन से प्रेरणा लेकर आज आसपास क्षेत्र के बहुत सारे युवा देश की सेवा में तैनात हैं। ऐसे वीर सैनिक को अब तुम्हारे हवाले वतन साथियों नगर सैनिक पर्यावरण संरक्षण स्वच्छता संगठन एवं बखारी क्षेत्रवासियों की ओर से की ओर से भूतपूर्व वीर सैनिक को अश्रुपूर्ण श्रद्धांजलि देते हुये कहा गया कि आप हमेशा आने वाली पीढ़ी के दिलों में अमर रहेंगे। 

No comments:

Post a Comment

Translate