Tuesday, August 4, 2020

छपारा के प्रतीक सिंगोतिया को यूपीएससी में मिली सफलता

छपारा के प्रतीक सिंगोतिया को यूपीएससी में मिली सफलता 

छपारा व जिले के नाम किया रोशन 

छपारा। गोंडवाना समय। 
जनजाति विकास विभाग के अंतर्गत स्कूल में शिक्षक श्री जगदीश सिंगोतिया के पुत्र प्रतीक सिंगोतिया ने यूपीएससी की परीक्षा उत्तीर्ण कर छपारा नगर व सिवनी जिले का नाम गौरवांवित किया है। प्रतीक सिंगोतिया की मेहनत व लगन से मिली सफलता के बाद उनके पिता व परिजनों की खुशी व प्रसन्नता की कोई सीमा नहीं है।
वहीं उनके िपता श्री जगदीश सिंगोतिया जी ने गोंडवाना समय समाचार पत्र से चर्चा के दौरान बताया कि वे अपने पुत्र प्रतीक सिंगोतिया की सफलता के लिये सभी शुभचिंतकों के सहयोग के साथ उनके पुत्र प्रतीक की मेहनत व लगन को देते हुये कहते है कि आज खुशी और प्रसन्नता का कोई ठिकाना नहीं है। पुत्र प्रतीक की सफलता से सिर्फ हमारे परिवार का ही नहीं वरन छपारा व सिवनी जिले का नाम रोशन हुआ है। 

यूपीएससी में कड़ी मेहनत से मिली सफलता 

हम आपको बता दे कि छपारा नगर के साथ साथ सिवनी जिले के लिये यह बड़े ही गौरव की बात है कि जायसवाल कॉलोनी छपारा निवासी प्रतीक सिंगोतिया का कड़ी मेहनत व लगन के साथ किये अध्ययन के बाद वे यूपीएससी में चयनित हुये है। प्राप्त जानकारी के अनुसार यूपीएससी के आये परिणाम में छपारा निवासी प्रतीक सिंगोतिया 
की रेंक आॅल इण्डिया लेवल पर 760 है।  

छपारा में प्राथमिक शिक्षा के बाद नवोदय में की पढ़ाई 

यूपीएससी में चयनित हुये प्रतीक सिंगोतिया की प्राथमिक शिक्षा छपारा के शिशु मंदिर में हुई है। उसके पांचवी के बाद उनका नवोदय विद्यालय में चयन होने के बाद उन्होंने कान्हीवाड़ा नवोदय में पढ़ाई किया है। इसके बाद उन्होंने नागपूर से गेज्यूेट कर बीटेक किया। 

दिल्ली में 1 वर्ष की कोचिंग 

यूपीएससी में चयनित प्रतीक सिंगोतिया के पिता श्री जगदीश सिंगोतिया जी ने बताया कि प्रतीक सिंगोतिया ने यूपीएससी की पढ़ाई के लिये 1 साल तक दिल्ली में कोचिंग किया है। वह बचपन से ही शैक्षणिक अध्ययन के प्रति हमेशा लगन व मेहतन के साथ अध्ययन कार्य करता था। वहीं यूपीएससी की पढ़ाई के लिये भी उन्होंने कड़ी मेहनत किया है तब उन्हें सफलता मिली है। 

5 comments:

Translate