Saturday, August 15, 2020

क्या मोनिका बट्टी संभालेंगी, अपने पिता की राजनैतिक विरासत ?

क्या मोनिका बट्टी संभालेंगी, अपने पिता की राजनैतिक विरासत ?

सब कम उम्र की राष्ट्रीय अध्यक्ष बनकर आज कर सकती है पदभार ग्रहण 

भोपाल। गोंडवाना समय। 

लिंगोवासी पूर्व विधायक मनमोहन शाह बट्टी जी का 15 अगस्त स्वंतत्रता दिवस कार्यक्रम के साथ ही श्रद्धांजलि कार्यक्रम भी भोपाल में अखिल भारतीय गोंडवाना पार्टी के कार्यालय में दोपहर 12 बजे से आयोजित किया गया है। राजनैतिक सूत्रों की माने तो अपने पिता की आकस्मिक व संदिग्ध मृत्यू के मामले में न्याय प्राप्त करने के लिये वह राजनैतिक संरक्षण प्राप्त चिरायू अस्पताल पर एफआईआर दर्ज कराने के लिये भोपाल के खजूरी सड़क पुलिस थाना में शिकायत दर्ज कराने के बाद जब कोई कार्यवाही नहीं हुई तो वे सीधे महामहिम राज्यपाल के द्वार व मानव अधिकार आयोग अध्यक्ष भोपाल के कार्यालय में पहुंचकर शिकायत दर्ज करा आई है। 

श्रद्धांजलि सभा के बाद कर सकती है पदभार ग्रहण 

इसके साथ ही हम आपको बता दे कि 15 अगस्त के दिन लिंगोवासी पूर्व विधायक श्री मनमोहन शाह बट्टी जी को श्रद्धांजलि दिये जाने का कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। जहां पर श्रद्धांजलि कार्यक्रम के साथ ही सबसे कम उम्र की अखिल भारतीय गोंडवाना पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में मोनिका बट्टी को बनाकर भागोपा के राष्ट्रीय व प्रांतीय पदाधिकारी विधिवत पदभार भी ग्रहण करा सकते है अर्थात लिंगोवासी पूर्व विधायक मनमोहन शाह बट्टी जी की राजनैतिक विरासत को मोनिका बट्टी ही संभालेंगी यह तय माना जा रहा है।  

अपने पिता की हत्या करने का लगाया है आरोप

हम आपको बता दे कि पूर्व विधायक स्व श्री मनमोहन शाह बट्टी जी की संदिग्ध मृत्यू के मामले में उनकी बेटी मोनिका बट्टी भी न्याय प्राप्त करने के लिये सत्ता सरकार से संरक्षण प्राप्त चिरायू अस्पताल से टक्कर लेने में पीछे नहीं हट रही है उन्होंने अपनी शिकायती पत्र सीधे आरोप लगाया है कि उनकी मृत्यू नहीं राजनैतिक षडयंत्र के तहत हत्या की गई है। वहीं इसके लिये जिम्मेदार मोनिका बट्टी ने चिरायू अस्पातल प्रबंधन व अन्य लोगों पर खुलकर आरोप लगाकर एफआईआर दर्ज कराने की मांग किया है। अब मोनिका बट्टी अपने संघर्षशील पिता की मृत्यू के लिये न्याय प्राप्त करने के लिये निडर होकर जिस तरह से संघर्ष कर रही है उसे देखकर पूर्व विधायक लिंगोवासी श्री मनमोहन शाह बट्टी को जानने पहचानने वाले सगा समाज के लोग यही कह रहे है कि मोनिका बट्टी अपने पिता के संघर्षशील रास्ते पर चल रही है। 


5 comments:

  1. जय सेवा जय जोहार लिंगोवासी मनमोहनशाह बट्टी को न्याय मिलना चाहिये।

    ReplyDelete
  2. हां,जरूर न्याय मिलना चाहिये दादा लिंगोवासी मनमोहनशाह बट्टी जी को ।

    ReplyDelete
  3. Lingo vashi tiru manmohanshah vatti ko nyay milna chahiye yadi esa nahi huva to hame koi nahi pachan payga

    ReplyDelete
  4. Watti dada Sat Sat Naman ...asrupuran Sader Sewa.Johar ...unka Jana hamare Samaj ke liye dukhad ghatna hai...unke dosiyo par karywahi hona chahiye...Sewa johar

    ReplyDelete

Translate