Sunday, September 13, 2020

सहायक यंत्री बंधुआ मजदूर गुलाम बनाकर करवा रहे काम

सहायक यंत्री बंधुआ मजदूर गुलाम बनाकर करवा रहे काम 

कर्मचारियों को नौकरी से निकालते की देते है धमकी

प्रताड़ना से कुछ कर्मचारियों ने ले लिया है सेवानिवृत्ति 

बरघाट। गोंडवाना समय। 

विद्युत वितरण केन्द्र बरघाट में कार्यरत कर्मचारियों ने सहायक यंत्री की प्रताड़ना की शिकायत किया है। कर्मचारियों द्वारा की गई शिकायत में उल्लेख किया है कि विद्युत संबंधी कार्य कोरोना संकटकाल में अपनी जान की परवाह किये बिना अपना कार्य कर रहे है परंतु सहायक यंत्री बरघाट द्वारा हम सभी कर्मचारी को रात दिन मानसिक रूप से अपशब्दों का प्रयोग कर अपमानित कर हमारा शोषण किया जा रहा है।


इस संबंध में सहायक यंत्री बरघाट से प्रताड़ित समस्त विद्युत कर्मचारी एवं आऊटसोर्स कर्मचारियों ने मानसिक प्रताड़ित एवं शोषण करने को लेकर इसकी शिकायत उन्होंने 9 सितंबर 2020 को सिवनी कलेक्टर, विधायक, सासंद, एसडीएम बरघाट, अधीक्षण अभियंता, ईगल हंटर शोल्युशन लिमिटेड न्यू दिल्ली को किया है। 

दो लाईनमेनों की दुघर्टना में हो चुकी है मृत्यू 


इसके साथ ही अपने पद का दुरूपयोग कर हमें बंधुआ मजदूर की तरह गुलाम बनाकर कार्य करवाया जा रहा है। जिससे हमारी मानसिक एवं शारीरिक स्थिति ठीक नहीं है जिस कारण से पूर्व में भी इसी कार्यालय में पदस्थ दो लाईनमेनों की दुर्घटना में मृत्यू हो गई एवं कुछ कर्मचारियों ने स्वेच्छिक सेवानिवृत्ति ले लिया है। इस तरह के माहौल में हमें यातनाऐं दी जा रही है, जिससे आने वाले समय में दुर्घटनाएें बढ़ सकती है। जिसके जिम्मेदार सिर्फ सहायक यंत्री बरघाट होंगे। 

तुम्हारी नौकरी खा जाऊंगा की देते है धमकी 

यह सब अत्याचार (कुकृत्य) आमजन मानूष न देख सके इसलिए कार्यालय का मुख्य द्वार हमेशा बंद रखा जाता है, जो आवाज उठाता है या विरोध करता है। उसे नौकरी से बाहर निकालने का प्रयास किया जाता है एवं नौकरी से निकाल दिया जाता है एवं बार-बार तुम्हारी नौकरी खा जाऊंगा ऐसी धमकी दी जाती है। यह सब कुकृत्य मानव अधिकार का हनन है। 

नागरिकों व गरीबो उपभोक्ताआें को भी धमकाते है 

नगर एवं नगर के गणमान्य नागरिक एवं गरीब उपभोक्ताओं को भी डराया धमकाया जाता है जिसके कुछ साक्ष्य हमारे पास मौजूद है। इस संबंध में शिकायत करने वाले कर्मचारियों ने निवेदन किया है कि उक्त कृत्यों की जांच कर सहायक यंत्री बरघाट को जल्द से जल्द अन्य स्थान में स्थानांतरण किया जाए ताकि भविष्य में होने वाली दुर्घटनाओं को रोका जा सके। जिससे हम निर्भय होकर कार्य कर सकें। इसके साथ ही कर्मचारियों ने कहा है कि कार्यवाही न किये जाने पर आंदोलन व कार्य बंद का आव्हान किया जायेगा। 

स्थानांतरण के साथ ही इन्होंने की है जांच की मांग 

सहायक यंत्री से प्रताड़ित होकर शिकायत कर जांच करने वालों में जितेन्द्र बोपचे आऊटसोर्स कर्मचारी, तरूण बोपचे, आतसिंह पटले, रंजीत धुर्वे, कृष्णकुमार बिसेन, विरेन्द्र शरणागत, विनोद पटले, सुरेन्द्र यादव, मनोज चौहान, चंद्रकिशोर तुरकर, सुरेश तुरकर, राकेश कुमार बिसेन, प्रकाश बोपचे, मानसिंह ठाकुर,कंचन ठाकुर, रविन्द्र ठाकुर, चंद्रप्रकाश बोपचे, लोकेश कटरे, भीमेन्द्र राहंगडाले, चन्द्रलाल हिरकने, सावनलाल देशमुख एवं समस्त प्रताड़ित स्वेच्छिक सेवानिवृत्त कर्मचारीगण शामिल है। 

No comments:

Post a Comment

Translate