Friday, September 4, 2020

बाढ़ प्रभावितों का केवलारी में हंगामा

बाढ़ प्रभावितों का केवलारी में हंगामा

जनप्रतिनिधियों पर ध्यान नहीं देने का लगाया आरोप 




सिवनी। गोंडवाना समय। 

गुरूवार 3 सितंबर 2020 को ही प्रशासन की और से बाढ़ प्रभावितों को राहत राशि दिये जाने के संबंध में जानकारी दी गई थी। वहीं राहत राशि मात्र 4 दिनों में ही पीड़ितों को मिल जाने पर क्षेत्रिय विधायक राकेश पाल ने भी मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री व जिला प्रशासन व स्थानीय प्रशासन की तारिफ किया था। 
 

वहीं दूसरे दिन 4 सितंबर 2020 को ही सुबह से ही केवलारी मुख्यालय में बाढ़ प्रभावितों ने राहत राशि व अन्य सहायता की मांग को लेकर केवलारी एसडीएम निवास व कार्यालय में शुक्रवार 4 सितंबर 2020 को सुबह से ही जमकर नारेबाजी किया।

बाढ़ प्रभावितों ने इस दौरान केंद्रीय मंत्री, क्षेत्रिय विधायक व पूर्व विधायक पर भी नजरअंदाज कर कोई सुनवाई नहीं करने, मदद करने के उद्देश्य से मिलने तक नहीं आये कहते हुये केंद्रीय मंत्री, क्षेत्रिय विधायक व पूर्व विधायक पर नाराजगी व्यक्त किया। 


बीते दिनों अतिवर्षा के बाद आई बाढ़ व अधिक जल भराव हो जाने के कारण बाढ़ प्रभावितों जिनके घर पर पानी भर जाने के कारण उनके घरेलू सामग्री, भोजन के साथ वस्त्र आदि सब डूब गये है। कुछ लोगों के सामान घरों पर ही दबे पड़े हुये उन्हें न तो कोई राहत सामग्री मिल पाई है और न ही उनका कोई ठिकाना है।

उन्हें भोजन आदि की भी परेशानी हो रही है। इस संबंध में बाढ़ प्रभावितों ने केवलारी मुख्यालय में शुक्रवार 4 सितंबर 2020 को केवलारी एसडीएम निवास पर पहुंचकर अपनी समस्याओं को लेकर अपनी मांगों को लेकर नारेबाजी भी किया। 


बाढ़ प्रभावितों के केवलारी एसडीएम के घर पर पहुंचने और नारेबाजी करने की जानकारी मिलने के बाद उन्हें बाढ़ प्रभावितों से मिलकर उन्हें एसडीएम कार्यालय पहुंचने के लिये कहते हुये समस्या का निराकरण का आश्वासन दिया।

जिस पर वे एसडीएम कार्यालय पहुंचे लेकिन अधिक समय तक नहीं आने पर बाढ़ प्रभावितों ने केवलारी एसडीएम कार्यालय में भी अपनी मांगों को रखते हुये मदद किये जाने के लिये नारेबाजी कर प्रशासन का ध्यान आकृष्ट कराया। 

No comments:

Post a Comment

Translate