Friday, September 11, 2020

भालू स्वस्थ होकर अपने पूर्व के प्राकृतिक आवास में पहुंचा

भालू स्वस्थ होकर अपने पूर्व के प्राकृतिक आवास में पहुंचा 

घायल भालू का रेस्कयू कर उपचार हेतु भेजा गया थ वन विहार भोपाल 


सिवनी। गोंडवाना समय।

जिले के दक्षिण सामान्य वनमंडल और पेंच नेशनल पार्क के संयुक्त दल ने बीते माह घायल एक भालू का रेस्क्यू कर वन विहार उपचार के लिए छोड़ा था जिसे पूर्णत: स्वस्थ्य होने के बाद पुन: संयुक्त दल ने गुरूवार को भोपाल से लाकर उसे प्राकृतिक आवास में छोड़ा है।


दक्षिण सामान्य वनमंडल के वनपरिक्षेत्र अधिकारी दानसी उइके ने बताया कि 17 जुलाई 2020 को परिक्षेत्र अंतर्गत आने बीट रजोला के कक्ष क्रमांक आर.एफ.423 से एक नर भालू घायल अवस्था में था। जिसे संयुक्त टीम ने रेस्क्यू कर पकड़ा था और पकड़कर भालू को पिंजरे में बंदकर भालू को उपचार के लिए वन विहार भोपाल ले जाया गया था। 

बावनथड़ी उदगम स्थल भालू के रहवास क्षेत्र पर छोड़ा 

जिसे गुरूवार 10 सितम्बर 2020 को पेंच नेशनल पार्क की टीम में डॉ. अखिलेश मिश्रा, गुरू रजक व किशोर और रूखड़ परिक्षेत्र की टीम में वन परिक्षेत्र अधिकारी दानसी उइके, डिप्टी  रेंजर दलाल मान सिंह वनवाले, बीट गार्ड रजोला श्याम लाल विश्वकर्मा की संयुक्त टीम ने रूखड़ परिक्षेत्र के बीट रजोला के बावनथड़ी उदगम स्थल भालू के रहवास क्षेत्र पर छोड़ा गया है। 

स्लौट बियर (सुस्त) का उपचार किया जाना, संभवतय: पहला मामला 


विभागीय जानकारों की मानें तो भारत संभवतय: इसके पहले कही भी ऐसा प्रकरण सामने नही आया है कि स्लौट बियर (सुस्त) जो कि घायल अवस्था मे था और लगभग 400 किलोमीटर से रेस्क्यू कर उपचार के लिये भेजा गया हो और उपचार के बाद उसे वापस पुन: उसे प्राकृतिक आवास में छोड़ा गया हो। ज्ञात हो कि विश्वविख्यात पेंच नेशनल पार्क के पास व्यवस्थाएं न होने के कारण स्लोट बियर का रेस्क्यू कर भोपाल भेजा गया था। वहीं जानकारों की मानें तो यहां पर सक्षम चिकित्सक व पर्याप्त अमला है फिर भी उपचार हेतु व्यवस्थाएं न होने के कारण उक्त भालू को भोपाल भेजा गया था। जिसे वापस लाकर पुन: उसके प्राकृतिक आवास में छोड़ा गया है। 

No comments:

Post a Comment

Translate