Thursday, September 24, 2020

अमित मिश्रा जी की गाड़ी है, वो सीएम के खास है, मुख्यमंत्री के यहां से घन-घनाकर आयेगा फोन तो डेरा डंडा लेकर ढूढ़ते रहना

अमित मिश्रा जी की गाड़ी है, वो सीएम के खास है, मुख्यमंत्री के यहां से घन-घनाकर आयेगा फोन तो डेरा डंडा लेकर ढूढ़ते रहना 

डिंडौरी जिले में एक महिला नेत्री का वनकर्मी को धमकाने का आॅडियो जमकर हो रहा वायरल 


डिंडौरी। गोंडवाना समय।

शिवराज सरकार में एसडीएम पर कालिख पोतना, पटवारी को लहुलुहान करना जैसी घटनाआें से जहां राजस्व विभाग सरकार से खफा हैस। वहीं बीते दिनों भाजपा के विधायक द्वारा रेंजर को वन विभाग की कार्यवाही में धमकाया गया था अब डिंडौरी जिले में जिला पंचायत सदस्य वनकर्मी को सीएम के खास आदमी की गाड़ी की जप्ती बनाने के मामले में धमकाती हुई आडियों में वायरल होती आवाज में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री के द्वारा माफियाओं पर कार्यवाही किये जाने के लिये दी गई हरी झण्डी की पोल खोलती नजर आ रही है। 

रेत ठेकेदार की मदद से बनाया जा रहा वनभूमि पर सड़क 

वायरल आॅडियो में महिला नेत्री जिला पंचायत सदस्य चन्द्रकला परस्ते वनकर्मी को कार्यवाही न करने के लिये धमकाते हुए सुनाई दे रही हैं, हालांकि आॅडियो वायरल होने के बाद चंद्रकला परस्ते ने सफाई दी है और उनका कहना है कि गांव के मवेशियों को आने जाने में दिक्कत होती है। इसलिए जनहित में वनभूमि पर रेत ठेकेदार की मदद से सड़क बनाया जा रहा था। वहीं जिला पंचायत सदस्य चंद्रकला परस्ते ने भी खुद आॅडियो की पुष्टि की है और उन्होंने वनकर्मियों की कार्यवाही पर सवाल भी खड़े किये हैं। 

वन भूमि कक्ष क्रमांक 1492 में अनुमति के बिना पोकलेन मशीन से बना रहे थे सड़क 

जानकारी के मुताबिक बुधवार की शाम को अमरपुर वन परिक्षेत्र अंतर्गत मौहारी ग्राम में वन भूमि कक्ष क्रमांक 1492 में अनुमति के बिना पोकलेन मशीन से सड़क बनाया जा रहा था। जिसकी सूचना मिलने के बाद वनकर्मी मौके पर पहुंचे और वाहन को जब्त कर पंचनामा बना रहे थे, उसी दौरान जिला पंचायत सदस्य चन्द्रकला परस्ते ने मौके पर मौजूद वनकर्मी को फोन में कार्यवाही न करने के लिए धमकाया था। क्षेत्र के डिप्टी रेंजर धनीराम धुर्वे ने आॅफ द रिकार्ड बताया की मौहारी ग्राम में बुढ़नेर नदी से रेत निकालने के लिए वनभूमि में बिना अनुमति के पोकलेन मशीन से सड़क बनाई जा रही थी। जिसकी सूचना मिलने पर वनकर्मी मौके पर कार्यवाही के लिए पहुंचे थे और उन्होंने पंचनामा बनाकर वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत करा दिया है। वहीं इस पूरे मामले में वन विभाग के आला अधिकारी कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है। 

वनकर्मी को धमकाते हुये क्या कह रही है महिला नेत्री  

हम आपको बता दे कि वन भूमि में सड़क बनाये जाने की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंचे वनकर्मी जो कि बैगा जनजाति से आते है, उन्हें जिला पंचायत सदस्य द्वारा मुख्यमंत्री के खास है, जिनकी गाड़ी की तुम जप्ती बना रहे हो, उस संबंध में हुई चर्चा की बाते कुछ इस तरह हुई है। 

चन्द्रकला परस्ते जिला पंचायत सदस्य-हेलो मरावी जी मे जिला पंचायत सदस्य बोल रही हूं क्या जब्ती बना रहे है गाड़ी की,

गंगाराम मरावी वनकर्मी-अभी जब्ती-अप्ती नहीं बना रहे है, पंचनामा बस तैयार किये है।

चन्द्रकला परस्ते जिला पंचायत सदस्य-जब मैं क्या कहते है, बात कर ली रेंजर साहब से, ये कोई ज्यदा समझ में आ रहा है क्या, नियम क्या होता है फिर हम लोग घुसेंगे, क्या-क्या काला पीला करते हो, बता दो अपने रेंजर साहब और डीएफओ को बता देना, किसकी गाड़ी जब्ती कर रहे हो मालूम है, अमित मिश्रा जी की गाड़ी है वो-वो उनके खास है सीएम मुख्यमंत्री के फिर आएगा घन घना के ऊपर से डेरा डंडा ले ले लेके ढूंढते रहना कहा जाना है सर्विस करने, जब एक बार बता दी तो हिंदी में समझ मे नहीं आता ,बताओ रेंजर सहाब को

गंगाराम मरावी वनकर्मी-जानकारी नहीे था मेंडम दूसरी बात हमको सहाब ही भेजे है।

चन्द्रकला परस्ते जिला पंचायत सदस्य-हां सहाब ही भेजे है तो में आपको बता दे रही हु आप भी ध्यान रखना और आपके डीएफओ भी ध्यान रख और रेंजर को फोन करके बोलो की मेडम ऐसा बोल रही है ।

गंगाराम मरावी वनकर्मी-आपके पास नम्बर हो तो आप ही बात कर लो।

चन्द्रकला परस्ते जिला पंचायत सदस्य- है तो उठा नहीं रहा है ना वो कमीना, अभी में देखती हूं क्या-क्या किये हो तुम लोग, अभी जा रही हुं पूरा एटीएम ले ले के पैसा निकाल निकाल के समितियों सुटा.सुट मचा रहे हो, अब मैं बताती हु कैसे सर्विस करते हैं, रोड बना रहे है कोई किसी का माल निकाल रहे है, क्या इसके पहले रोड नहीं बनी थी आप लोगो की वो दिये थे, आप लोग परमिशन में, निकलवाती हु आर टी आई से।

गंगाराम मरावी वनकर्मी - मेंडम हम छोटे कर्मचारी

चन्द्रकला परस्ते जिला पंचायत सदस्य- अरे मैं नही कह रही हु में मेरे को जब रोड बनी थी तब को फाइल चाहिए , आप वहां जिस भी पोस्ट में हो फोरेस्टगार्ड हो न  जिस दिन से वो रोड बनी थी, मेरे को ड्रॉइंग सहित नक्सा खसरा आपका जब लगा था मुझे चाहिए, आर टी आई में कल लगा रही हुं, आती हुं, तुम्हारे आॅफिस आएगा मेरे यहाँ कोई भी कर्मचारी रेंजर को बोलो अगर जब्ती बनाये तो सोच लेना मध्यप्रदेश में कहि भी उसको पैसा भी नसीब नहीं होगा। जिसकी गाड़ी की वो जब्ती बनायेगा ध्यान रखना हम लोग गाँव हित में काम करते है ऐसे लूट नहीं मार रहे है, पद में बैठ के लगाओ फोन आप जब्ती बनाये तो सोच लेना क्या हस्र होने वाला है तीनों का।

गंगाराम मरावी - पंचनामा बनाये है बस

चन्द्रकला परस्ते- अरे में ये कुछ नहीं कह रही पंचनामा बनाओं कुछ भी बनाओं, कुछ भी करों, अगर जब्ती बनी तो सोच लेना फिर मैं बोल रही हुं रिकॉर्डिंग करो कुछ भी करो मैं जनहित में रोड के लिये किराए से निवेदन करके लेकर आई थी, गाँव वालों के लिये मैं खुद सामने आऊंगी ऐप्लिकेट बन के कोर्ट में। 

No comments:

Post a Comment

Translate