गोंडवाना समय

Gondwana Samay

गोंडवाना समय

Gondwana Samay

Monday, November 16, 2020

गोंडवाना महासभा जिला अध्यक्ष तिरु ठाकुर प्रहलाद सिंह कुसरे ने दिखाई मानवता

गोंडवाना महासभा जिला अध्यक्ष तिरु ठाकुर प्रहलाद सिंह कुसरे ने दिखाई मानवता 

सिवनी के धूमा थाना अंतर्गत नागनदेवरी के पीड़ितों की मदद


छिंदवाड़ा। गोंडवाना समय। 

छिंदवाडा  गोंडवाना महासभा के जिला अध्यक्ष तिरु ठा. प्रहलाद सिंह कुसरे आदिवासी समाज के लिये और मानव सेवा के लिए हमेशा संघर्षरत रहते हैं और आये दिन उनकी समस्याओं को लेकर धरना प्रदर्शन एवं ज्ञापन देकर उनकी समस्याओं का निराकरण करवाने हेतु तत्पर रहते हैं। तिरु प्रहलाद सिंह कुसरे ने बताया कि जबलपुर की जहरवीर सिक्यूरिटी एण्ड मेन पॉवर सर्विसेस जो कि एक सिक्यूरिटी सर्विस है । इस कंपनी के महाप्रबंधक द्वारा सिवनी जिले के ग्राम नागनदेवरी निवासी-राजाराम धुर्वे, श्रीमती ललीता धुर्वे, आकाश बंशकार, नंदकिशोर साहू, भूपेन्द्र रजक, रूपलाल रजक को सिक्यूरिटी गार्ड के पद पर नौकरी दिलवाने हेतु दिनांक 1 नवम्बर 2020 को इनके ग्राम से साथ में लेकर आये और इन्हे ताप्ती एग्रो इण्डस्ट्रीज खजरी आमला में सिक्यूरिटी गार्ड के पद पर कार्य करने हेतु प्रतिमाह 8000/- रुपए की दर से कार्य पर रखा एवं दोनों टाईम का भोजन देने की बात कही परंतु इन्हे मात्र एक ही टाईम का भोजन दिया जाता था।

सिकुरिटी कंपनी के शोषण के शिकार से हुये परेशान 

जबकि इनसे 12 घंटे तक सुबह 7 से शाम 7 बजे तक काम लिया जाता था और जब 15 दिन होने पर इनके द्वारा पैसों की मांग की गई तो कहा गया कि 3 माह हो जायेंगे तब तुम्हे वेतन मिलेगा। इस बात से प्रताड़ित होकर ये सभी अपने डेढ़ वर्षीय छोटे बच्चे एवं गृहस्थी का सामान सिर पर लेकर दिनांक 15 नवंबर 2020 दिन रविवार की दोपहर को इनके पास पैसा नहीं था। इसलिये आमला से दोपहर 12 बजे पैदल चलकर सोमवार 16 नवंबर 2020 को दोपहर 1 बजे छिंदवाड़ा पहुॅचे। इस बात की जानकारी तिरु प्रहलाद कुसरे को मिलने पर तुरन्त उनसे मिलने पहुंचे और सारे मामले की जानकारी लेकर उनके द्वारा सिक्यूरिटी कंपनी के महाप्रबंधक से बात की गई परंतु उन्होनें किसी भी प्रकार की सहायता करने से स्पष्ट इंकार कर दिया। 

सिवनी पुलिस अधीक्षक व धूमा थाना प्रभारी के नाम बनवाया आवेदन 

इसके पश्चात तिरु प्रहलाद सिंह कुसरे ने सिवनी पुलिस अधीक्षक एवं थाना प्रभारी धूमा के नाम आवेदन बनवाकर एवं उन्हे भोजन करवाकर, स्वयं के पास से 2 हजार रुपए की मदद कर उन्हे जबलपुर बस में बिठाकर धूमा के लिये रवाना किया। इस तरह से तिरु प्रहलाद सिंह कुसरे ने बिना किसी भेदभाव के लोगो की मदद कर मानवता का परिचय दिया है। इससे सिद्ध होता है कि आज भी समाजसेवी लोगों से इंसानियत जिंदा है। 

No comments:

Post a Comment

Translate