गोंडवाना समय

Gondwana Samay

गोंडवाना समय

Gondwana Samay

Monday, November 16, 2020

क्रांतिसूर्य महामानव बिरसा मुंडा जी की जयंती पर ग्राम घाटकुकड़ा में प्रतिमा का हुआ अनावरण

क्रांतिसूर्य महामानव बिरसा मुंडा जी की जयंती पर ग्राम घाटकुकड़ा में प्रतिमा का हुआ अनावरण 

छिंदवाड़ा और नागपूर की वॉर्डर पर स्थित घाटकुकड़ा में प्रतिमा का अनावरण 


अनिल उईके/जितेंद्र कड़पे की रिपोर्ट
छिंदवाड़ा। गोंडवाना समय।

क्रांतिसूर्य महामानव बिरसा मुंडा जी की 145 वीं जन्म जयंती के मौके पर जगह-जगह पर लोगों ने उन्हें याद करते हुए उनके द्वारा किए गए जीवन पर्यंत त्याग व बलिदान की संघर्ष गाथा की सराहना की जाकर जनमानस को अवगत कराया गया। इस दौरान अनेक सामाजिक संगठन सहित राजनैतिक दलों ने भी क्रांतिकारी बिरसा मुंडा जी की अलग-अलग जगहों पर उनके छाया चित्र पर माल्यार्पण एवं पुष्पांजलि अर्पित कर उन्हें याद किया। इसी क्रम में छिंदवाड़ा और नागपुर जिले की बॉर्डर पर बसे  जिला नागपुर महाराष्ट्र के ग्राम घाटकुकड़ा में भी क्रांतिसूर्य महामानव बिरसा मुंडा जी की जन्म जन्म जयंती के अवसर पर 15 नवंबर 2020 को क्रांतिसूर्य महामानव भगवान बिरसा मुंडा जी की प्रतिमा का अनावरण किया गया एवं सामाजिक और सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन हुआ।

कपूरखेड़ा से वाईक रैली का जगह-जगह हुआ स्वागत के बाद घाटकुकड़ा पहुंचे सगाजन 


वहीं जयंति के अवसर पर बिछुआ ब्लॉक के ग्राम कपुरखेड़ा से बाईक रैली का आयोजन किया गया था। रैली कपुरखेड़ा से होती हुई खमारपानी  पहुची वहां पर स्तिथ रानीदुर्गावती जी की प्रतिमा स्थल पर माल्यार्पण  किया गया। इसके उपरांत रैली फड़ापेन ठाना घाटकामटा पहुंची यहां पर भी फड़ापेन ठाना में विधिवत पूजन अर्चन कर माल्यार्पण एवं पुष्प अर्पित किया गया। इसके उपरांत रैली ग्राम सागुनवन से होते हुये धनेगाँव पहुची। यहां पर मुख्य अतिथि तिरु भवानी सिंग वाड़ीवा पूर्व न्यायाधीश छिंदवाड़ा, तिरु ठाकुर प्रहलाद सिंह कुसरे गोंडवाना महासभा जिला अध्यक्ष छिंदवाड़ा, तिरु प्रताप सिह इनवाती आदिजन कार्यवाहक अध्यक्ष छिंदवाड़ा, नागपुर प्रबोधनी समिती तिरु डॉ सुखलाल भलावी, गोंडियन चैरेटी इंदौर समिति सदस्य तिरुमाय गीता परतेती, तिरु तेजराम भलावी रामटेक, तिरु डॉ एन एस नोरे जुनारदेव असिस्टेंट प्रोफेसर, तिरु पवनशाह सरयाम जिला अध्यक्ष अखिल भारतीय गोंडवाना पार्टी युवा प्रकोष्ठ छिंदवाड़ा, तिरु देवीरावन भलावी जीएसयू जिला अध्यक्ष छिंदवाड़ा, तिरु पुष्पा लखन उईके जनपद अध्यक्ष बिछुआ, तिरु सतीश भलावी अखिल गोंडवाना युवा प्रकोष्ठ अध्यक्ष बिछुआ तथा सभी अतिथिओं का हल्दी चावल का तिलक लगाकर स्वगत किया गया। 

धनेगांव में स्वतंत्रता संग्राम सेनानी बादलभोई जी की प्रतिमा स्थापना हेतु भूमिपूजन  


ग्राम धनेगाव में मुख्य अतिथि तिरु भवानी सिह वाड़िवा जी के हस्ते स्वतंत्रता संग्राम सेनानी बादल भोई कि प्रतिमा स्थापना हेतु भूमि पूजन किया गया और उसके पश्चात रैली मुख्य कार्यक्रम स्थल घाटकुकडा पहुंची। जहां पर मुख्य अतिथि सहित सभी अथितिओ का हल्दी चावल का तिलक एवं बेच लगाकर स्वगात किया गया। 

प्रतिमा अनावरण के साथ कंगाली जी, मरकाम जी व बट्टी जी को दी पेनांजलि 


मुख्य अतिथि तिरु भवानी सिंह वड़ीवा, तिरु ठाकुर प्रहलाद कुसरे द्वारा क्रांति सूर्य महामानव बिरसा मुंडा जी कि प्रतिमा का अनावरण रिविन काट किया गया तथा भगवान बिरसा मुंडा जी कि प्रतिमा पर माल्यार्पण कर पुष्पांजलि अर्पित की गई और  सतरंगी झंडा फहराया गया। इसके साथ ही  आदिवासी समाज को धार्मिक व सांस्कृतिक इतिहास की राह दिखाने वाले लिगोवासी तिरु मोतीरावन कंगाली जी, दादा लिंगों तिरु. मनमोहन शाह वट्टी जी, लिंगोवासी तिरु हीरा सिंग मरकाम दादा जी के छायाचित्र पर भी माल्यार्पण श्रद्धासुमन अर्पित कर पेनांजली दी गई। वहीं  ग्राम के पेन ठाना के देवी देवताओं और फड़ापेन की पूजा अर्चना कर सुमरनी पाटा गायन किया गया। 

उनकी शौर्य गाथा हमें नई दिशा प्रदान करती है


इसके पश्चात कार्यक्रम में उपस्थित बुद्धिजीवियों ने बारी बारी से अपने अपने वक्तव्य में कहा कि क्रांतिसूर्य महामानव बिरसा मुंडा जी के विचार और उनकी शौर्य गाथा हमें नई दिशा प्रदान करती है।

उन्होंने समाज को जगाने व जनजातियों के हक अधिकार के लिए छोटी सी उम्र में देश और समाज के हित के लिए लड़ाई लड़ी और शोषित वंचितों की आवाज को बुलंद करते रहे और अपनी जान देश के लिए कुर्बान कर दी। बिरसा मुण्डा जी ने अंग्रेजो के द्वारा जो आदिवासियों पर हो रहे अत्याचार के खिलाफ लड़े गए आंदोलन में अपना बहुमूल्य योगदान दिया, जिसे हम कभी नहीं भूल सकते। 

सांस्कृतिक कार्यक्रम की दी प्रस्तुति 


जयंति कार्यक्रम के दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी आयोजन किया गया था। जिसमें आदिवासी युवक-युवतियों ने अपनी पारंपरिक वेशभूषा में उपस्थित होकर सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति दिया। गोंडी गीतों के माध्यम से लोगों का भरपूर मनोरंजन किया। इस मौके पर छिंदवाड़ा जिले के अन्य ग्रामों के लोग तथा ग्राम घाटकुकड़ा के आसपास के ग्राम के लोग भारी संख्या में मौजूद रहे। 

No comments:

Post a Comment

Translate