Thursday, November 19, 2020

आदमी तो आदमी मूक पशुओं पर भी राधेश्याम सोनी कर रहा अत्याचार

आदमी तो आदमी मूक पशुओं पर भी राधेश्याम सोनी कर रहा अत्याचार

किसके इशारे पर काम कर रही उगली पुलिस, उठ रहे सवाल 


उगली। गोंडवाना समय।

तहसील केवलारी के अंतर्गत ग्राम पंचायत खैरी के ग्राम मोहगांव का एक ऐसा मामला सामने आया है। जहां पर मूक पशु भी प्रताड़ना का शिकार हो रहे है, और मूक पशुओं व पशुधन के मालिक को प्रताड़ित करने वाले पर उगली पुलिस भी मेहरबान है। हम आपको बता दे कि लक्ष्मण धानेश्वर जो कि ग्राम मोहगांव के रहने वाले हैं। इनका कहना है कि मेरे आजा पुरखों के द्वारा वर्षों से घर के सामने गाय-बेलों को बांधते आ रहे हैं लेकिन घर के सामने ही रहने वाले राजनैतिक पकड़ रखने वाले दबंग राधेश्याम सोनी द्वारा पिछले कुछ दिनों से जहां हमारे बैल बंधते हैं, वहां पर थ्रेसर खड़ी कर देता है, जिससे पशुओं को बांधने व बैठने में परेशानी होती है। इसके साथ ही घर में जो पिकअप वाहन है, वह भी अच्छे से खड़ी नहीं हो पा रही है। पिकअप का एक चका रोड पर रहता है। हालांकि राधेश्याम सोनी को बहुत दिनों से समझा रहे हैं कि आप थ्रेसर थोड़ा पीछे खड़ी कर लीजिए लेकिन वह है ही मानते नहीं है। 

विवाद को दे रहे बढ़ावा 

पीड़ित ने बताया कि बीते 11 नवंबर 2020 को रात्री में लगभग 8 बजे की बात है जब लक्ष्मण धानेश्वर के पुत्र संजय धानेश्वर सरेखा से अपने घर ग्राम मोहगांव पहुंचे तो राधेश्याम सोनी ने पहले ही थ्रेसर लक्ष्मण धानेश्वर के घर के सामने जहां बैलों को बांधा जाता है वहां पर खड़ा कर दिया था। इस कारण पिकअप को खड़े करने में परेशानी हो रही थी। फिर संजय धानेश्वर ने कहा कि जहां मेरे बैल बंधते हैं और वहां पर आपने थ्रेशर लगा दिया है। इस बात पर राधेश्याम सोनी ने अपशब्दो का प्रयोग कर कहा कि मेरी मर्जी मैं कहीं भी खड़ी करूं जा तेरे को जो करना है कर ले। मेरा कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता मैं नेता हूं। इसके बाद विवाद बढ़ते गया।  

नहीं पहुंची 100 डायल 

100 लगाओ पुलिस बुलाओ लेकिन 11/11/2020 की रात 9 बजे संजय धानेश्वर ने डायल 100 नम्बर पर फोन लगाया चार बार बात हुई लेकिन पुलिस नहीं पहुंची। फिर गांव के पंचों को बुलाने गए लेकिन पंच भी नहीं आए। सुबह थाना जाएंगे कह कर संजय धानेश्वर का परिवार चुपचाप सो गया लेकिन सुबह राधेश्याम सोनी उगली थाना जाकर संजय धानेश्वर एवं उनके परिवार के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवा देते हैं। उसके कुछ देर बाद संजय धानेश्वर एवं उसका परिवार राधेश्याम सोनी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवाने उगली थाना पहुंचते हैं। दोनों पक्षों ने एक दूसरे के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराया लेकिन उगली पुलिस ने संजय धानेश्वर पर मामला बना दिया। इसी बात को लेकर उगली पुलिस की कार्य प्रणाली पर सवाल उठ रहे हैं।

पीड़ित ने पुलिस अधीक्षक से की शिकायत 


वहीं जब उगली पुलिस के अधिकारीगण मामले की जांच पड़ताल करने ग्राम मोहगांव गए। फिर संजय धानेश्वर को बोलते हैं कि पिकअप को खड़ी करके दिखा तो संजय धानेश्वर ने बोला ये लीजिए साहब चाबी आप ही खड़ी करके देखिए। उगली पुलिस के द्वारा धानेश्वर की पिकअप को खड़ी करके देखा गया लेकिन पिकअप ढंग से खड़ी नहीं हो रही थी और एक चक्का रोड के ऊपर जा रहा था। फिर राधेश्याम सोनी को बोलते हैं कि तेरी थ्रेसर को थोड़ा पीछे खड़ी कर ले लेकिन राधेश्याम सोनी फिर भी नहीं माना और संजय धानेश्वर को बोलते हैं कि तू ही आगे पीछे करके गाड़ी खड़ी कर लेना। संजय धानेश्वर मूक पशुओं के साथ साथ परिवार के साथ हुई नाइंसाफी को लेकर पुलिस अधीक्षक कार्यालय 18 नवंबर 2020 को आवेदन दिया है। 

मां को हो गया है एड्स कहकर किया था बदनाम 

वहीं लगभग 9 वर्ष पहले वर्ष 2011 में राधेश्याम सोनी के द्वारा संजय धानेश्वर की मां श्यामकली बाई धानेश्वर को अपशब्दों का प्रयोग करते हुये विवाद किया गया था वहीं मां को गंभीर बीमारी हो गई है कहकर बदनाम करता था इस संबंध में महिला आयोग सहित वरिष्ठ पुलिस अफसरों व प्रशासनिक अधिकारियों को शिकायत संयज धानेश्वर की मां के द्वारा की गई थी लेकिन उगली पुलिस के द्वारा समझौता करा दिया गया था। पूर्व में वर्ष 2011 में की गई थी शिकायत की प्रतिलिपि भी पुलिस अधीक्षक के कार्यालय में आवेदन के साथ देते हुये कार्यवाही की मांग किया है। 

No comments:

Post a Comment

Translate