Friday, November 27, 2020

अम्बेडकर-बौद्ध जी के मूर्ति के समक्ष संविधान दिवस मनाया गया

अम्बेडकर-बौद्ध जी के मूर्ति के समक्ष संविधान दिवस मनाया गया 


बरघाट। गोंडवाना समय।
 

26 नवम्बर को संविधान दिवस के अवसर पर नगर कांग्रेस कमेटी द्वारा बस स्टैंड प्रांगण मे स्थित अम्बेडकर व भगवान बौद्ध मूर्ति जी के पास संविधान दिवस मनाया गया। गुरुवार को अम्बेडकर-बौद्ध जी के मूर्ति के पास मोमबत्ती जलाकर संविधान निमार्ताओ के सपनों को जमीनी स्तर पर पूरा करने और उनके सम्मान में चर्चा कार्यक्रम रखा गया। इस अवसर पर विधायक श्री अर्जुन सिंह काकोड़िया द्वारा सभी उपस्थित जनों को संविधान की प्रस्तावना की शपथ दिलाई गयी। कार्यक्रम में डा. अंबेडकर जी व भगवान गौतम बुद्ध की प्रतिमा में माल्यार्पण कर मोमबत्ती जलाकर पंंचशील का वाचन किया गया। 

विधायक ने दी संविधान गठन की दी जानकारी 


कार्यक्रम में बरघाट विधायक श्री अर्जुन सिंह काकोड़िया ने कहा कि भारतीय संविधान सभा की पहली बैठक 9 दिसंबर 1946 को की गई, जिसका गठन भारतीय नेताओं और ब्रिटिश कैबिनेट मिशन के बीच हुई बातचीत के परिणाम स्वरूप किया गया था। इस सभा का उद्देश्य भारत को एक संविधान प्रदान करना था जो दीर्घ अवधि प्रयोजन पूरे करेगा और इसलिए प्रस्तावित संविधान के विभिन्न पक्षों पर गहराई से अनुसंधान करने के लिए अनेक समितियों की नियुक्ति की गई। सिफारिशों पर चर्चा, वादविवाद किया गया और भारतीय संविधान पर अंतिम रूप देने से पहले कई बार संशोधित किया गया तथा 3 वर्ष बाद 26 नवंबर 1949 को आधिकारिक रूप से अपनाया गया। 

कार्यक्रम में ये रहे मौजूद 

कार्यक्रम मे नगर परिषद के पूर्व अध्यक्ष अनिल सिंह ठाकुर, जिला कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष जाहिद खान, नगर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष व पूर्व पार्षद ऋषभ संचालन, सुनीला अवधिया, डोमन जायसवाल, सुरेंद्र जायसवाल, नवीन नगभीरे, संतोष दहाटे, आसिफ खान, यासीन खान, छोटू लुधियाना, राकेश वासनिक, हर्ष गुप्ता, अनुराग पंद्रे, फारुख फैजान, मदन भालेकर, अमित चौहान, महेंद्र महोबिया, नारायण सूर्यवंशी, अमित सोनटके, आबिद कुरैशी, भीकचंद लुधियाना, मदन भालेकर, नितिन सूर्यवंशी, सुभाष साहू, रेखु परते के साथ अन्य कांग्रेसी व तथागत  पंचशील कल्याण समिति के अनिल गजभीये, रजनीश सोनटके, जंगबहादुर गजभिए सहित अन्य सदस्य मौजूद रहे। 


No comments:

Post a Comment

Translate