गोंडवाना समय

Gondwana Samay

गोंडवाना समय

Gondwana Samay

Sunday, December 20, 2020

सी एम हेल्पलॉइन की शिकायत नहीं कटवाया तो कनिष्ठ यंत्री ने कटवा दिया विद्युत लॉइन

सी एम हेल्पलॉइन की शिकायत नहीं कटवाया तो कनिष्ठ यंत्री ने कटवा दिया विद्युत लॉइन  




अजय नागेश्वर संवाददाता
उगली। गोंडवाना समय। 

सी एम हेल्पलॉइन का उद्देश्य भले ही मुख्यमंत्री व मध्य प्रदेश सरकार का जनता की समस्याओं का निराकरण कराना सर्वोपरि व प्राथमिकता में शामिल होगा परंतु मध्य प्रदेश शासन के विभागीय अधिकारी सी एम हेल्पलॉइन में दर्ज शिकायतों का निराकरण न कराकर दबाव बनाकर उसे बंद करवाने में या कटवाने में ज्यादा विश्वास रखते है। यहां तक कि यदि शिकायतकर्ता निराकरण से संतुष्ट नहीं होता है उस पर दबाववश विभागीय कार्यवाही को भी अंजाम दिये जाने से विभाग के अधिकारी कोई कसर नहीं छोड़ते है।


सिवनी जिले के म.प्र.पू.क्षे.वि.वि.कं. लि. पाण्डिया छपारा कनिष्ठ यंत्री ने सीएम हेल्पलॉइन में विद्युत बिल ज्यादा आने के संबंध में शिकायत दर्ज कराया था। जिसका निराकरण से वह शिकायतकर्ता संतुष्ट नहीं था। वहीं शिकायतकर्ता को म.प्र.पू.क्षे.वि.वि.कं. लि. पाण्डिया छपारा कनिष्ठ यंत्री ने बकायदा सलाह देते हुये सीएम हेल्प लॉइन के संबंध में पत्र लिखते हुये उल्लेख किया है कि आप बिल का भुगतान शीघ्र करें भुगतान नहीं होने पर लॉइन बिच्छेदन की कार्यवाही की जावेगी। 

कातोली के अंकित कुमार ने किया है शिकायत 

शिकायतकर्ता अंकित कुमार ने शिकायत नंबर 12709744 पर दर्ज कराया था कि सरस्वती बाई के घर का बिल पिछले दो माह से अधिक दिया जा रहा है। जिससे कारण समस्या हो रही है वहीं बिल अधिक होने के कारण बिजली विभाग में सूचित किया जा रहा है लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही है। इस संंबंध में दर्ज शिकायत के बाद समस्या का निराकरण विभाग द्वारा किया जाना था। विभाग के द्वारा निराकरण का प्रयास किया गया लेकन उक्त निराकरण से शिकायतकर्ता संतुष्ट नहीं था। जिससे विभाग द्वारा शिकायतकर्ता को कहा गया कि आप शिकायत बंद कराओ नहीं तो लॉइन विच्छेदन की कार्यवाही की जायेगी। 

शिकायतकर्ता के पिता जी ने संतुष्टी जाहिर किया है, इसलिये शिकायत आंशिक रूपसे बंद की जाये 

कनिष्ठ यंत्री उगली द्वारा शिकायत के संंबंध में जांच के बाद यह पाया कि कातोली में सरस्वती बाई के नाम से घरेलू कनेक्शन है जिसका आईवीआरएस क्रमांक 5844114723 है। उपभोक्ता के परिसर में मीटर युक्त कनेक्शन लगा हुआ है। उपभोक्ता के मीटर की रीडिंग दक्षता एप्प के माध्यम से ली गई है जो कि सही है। सितंबर 2020 में एक साथ 1134 यूनिट का देयक जारी होने से देयक रािश में वृद्धि पायी गई परंतु पूर्व के माहों में 00 यूनिट की बिलिंग की गई थी। इस कारण विगत माहों में फरवरी 2020 से सिंतबर 2020 तक 8 माहों में समान भागों में विभाजित कर समान खपत अनुसार बिल पुनरीक्षित करने पर 5707 की छूट सीसीबी के माध्यम से समायोजन कर दिया गया है एवं सशोधित बिल बनाकर उपभोक्ता को भेज दिया गया है।  नियमानुसार शिकायत का निराकरण कर दिया गया है। शिकायतकर्ता से संपर्क करने पर शिकायतकर्ता के पिता जी द्वारा संतुष्टी जाहिर की गई है। कृपया शिकायत आंशिक रूप से बंद करने का कष्ट करें। 

कनिष्ठ यंत्री पाण्डियाछपारा ने ये लिखा पत्र 


शिकायतकर्ता द्वारा सीएम हेल्पलॉइन में शिकायत करने के बाद म.प्र.पू.क्षे.वि.वि.कं. लि. पाण्डिया छपारा कनिष्ठ यंत्री ने बकायदा सलाह देते हुये पत्र लिखा है जिसमें उन्होंने उल्लेख किया है कि उपरोक्त विषयार्न्तगत लेख है कि आपका बिल माह सितम्बर 2020 में 1134 यूनिट का एक मुख्य बिल 9850 रूपये का आया था। आपके द्वारा सी. एम. हेल्पलाइन 181 पर कम्पलेंट की गई कि बिल में सुधार किया जायें। आपके कम्पलेंट अनुसार माह नवम्बर 2020 के बिल में 3823 रूपये की राशि छूट दी गई परन्तु आपके द्वारा कम्पलेंट वापस नहीं ली गई माह दिसंम्बर 2020 में पुन: संशोधित करते हुए फिर से 2484 की छूट दी जा चुकी है। इस प्रकार आपकों कुल 5707 रूपये की छुट दी गई है। आपको सलाह दी जाती है कि सी.एम. हेल्प लाइन क्र. 12709744 को वापस लेते हुए बिल का भुगतान शीघ्र करें भुगतान नहीं होने पर लाइन विच्छेदन की कार्यवाही की जावेगी। जिसके सम्पूर्ण जिम्मेदार आप स्वयं होंगे। 

No comments:

Post a Comment

Translate