गोंडवाना समय

Gondwana Samay

गोंडवाना समय

Gondwana Samay

Saturday, December 26, 2020

रंगून जेल में यातनाएं सहने वाले आजादी के दीवाने आजाद हिंद फौज के सेना अंकल नेताम को भी समाज याद करे

रंगून जेल में यातनाएं सहने वाले आजादी के दीवाने आजाद हिंद फौज के सेना अंकल नेताम को भी समाज याद करे 


बेमेतरा। गोंडवाना समय। 

अमर शहीद वीर नारायण सिंह शहादत दिवस बूढ़ादेव ठाना झालम बेमेतरा में एम डी ठाकुर अध्यक्ष केंद्रीय गोंड़ महासभा , श्री नीलकंठ गढ़े जी ,श्री विष्णुदेव ठाकुर प्रवक्ता, श्री सीताराम ठाकुर सलाहकार के मुख्य आतिथ्य एवं आरएन ध्रुव प्रांताध्यक्ष अनुसूचित जनजाति शासकीय सेवक विकास संघ छत्तीसगढ़ , जीवराखन लाल मरई जिला अध्यक्ष अनुसूचित जनजाति आशिकी सेवक विकास संघ जिला धमतरी, मुरीत मंडावी जिला अध्यक्ष आदिवासी विकास परिषद, राजकुमार ठाकुर जिला अध्यक्ष  बेमेतरा के अध्यक्षता एवं अकत  ध्रुव जिला अध्यक्ष अनुसूचित जनजाति शासकीय सेवक संघ मुंगेली, दरबार सिंह नेताम, भगवान सिंह नेताम, अर्जुन सिंह नेताम क्षेत्रीय अध्यक्ष, के एस परते संरक्षक, हीरउ ध्रुव , कोमल सिंह ठाकुर, शत्रुहन नेताम, तिहारीलाल नेताम, पुनीत मंडावी के विशेष उपस्थिति में संपन्न हुआ।

शिक्षा रूपी अस्त्र को अपनाकर संवैधानिक अधिकार की रक्षा हेतु आगे आना होगा


इस अवसर पर अपने विचार रखते हुए श्री ध्रुव जी ने कहा कि देश की आजादी में शहीद वीर नारायण सिंह सोनाखान का योगदान स्तुत्य है। शहीद वीर नारायण सिंह की लड़ाई अंग्रेजों के खिलाफ देश की आजादी, जल-जंगल-जमीन के साथ देश के आम जनता के सुरक्षा के लिए था। उन्होंने कहा कि अब आजादी के बाद लड़ाई की परिभाषा बदल गई है । अब समाज को समय के साथ शिक्षा रूपी अस्त्र को अपनाकर संवैधानिक अधिकार की रक्षा हेतु आगे आना होगा। 

लेकिन ऐसे अधिकारी कर्मचारियों को अभी तक नौकरी से बाहर नही किये

वर्तमान समय में आदिवासी हितों की लगातार सरकार अनदेखी कर रही है। आज सरकार स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम के स्कूलों में स्कूल को इकाई मानकर अधिकारी-कर्मचारियों की भर्ती की जा रही है। जिसमें किसी भी तरह का आरक्षण रोस्टर का पालन नहीं किया जा रहा है। जिसके कारण समाज को अनुपातिक रूप से भारी नुकसान झेलना पड़ रहा है। वहीं सरकार द्वारा फर्जी जाति प्रमाण पत्र धारियों की सूची तो जारी कर दिए हैं लेकिन ऐसे अधिकारी कर्मचारियों को अभी तक नौकरी से बाहर नही किये हैं। कोरोना काल में  बिना आरक्षण रोस्टर का पालन किए हजारों की तादाद में पदोन्नति हुई है।
            कर्नाटक पैटर्न पर क्वांटिफिएबल डाटा एकत्र करने हेतु पिंगुआ कमेटी की रिपोर्ट समय पर प्रस्तुत नहीं हुआ है जिसके कारण सरकार हाईकोर्ट में अभी तक अपना पक्ष नहीं रख पाई है। लगातार रातों-रात बिना किसी आरक्षण रोस्टर के अनारक्षित वर्ग के अधिकारी कर्मचारियों का प्रमोशन होने के कारण आरक्षित वर्ग के लोग कई कई वर्षों तक पदोन्नति से वंचित हो जाएंगे।
        उन्होंने कहा कि बेमेतरा जिला में आजादी के लिए लड़ने वाले स्वर्गीय अंकल नेताम जो आजाद हिंद फौज सेना में थे और जिन्होंने रंगून के जेल में यातनाएं काटी। ऐसे स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को भी समाज को याद करना चाहिए। इस अवसर पर समाज के प्रतिभाशाली छात्र-छात्राओं को सम्मानित किया गया एवं आदिवासी संस्कृति पर आधारित करमा नृत्य की सुंदर प्रस्तुति की गई।


No comments:

Post a Comment

Translate