Thursday, December 3, 2020

पैसों की डीलिंग के चलते गाड़िया वहां से लौटी है-राकेश पाल

पैसों की डीलिंग के चलते गाड़िया वहां से लौटी है-राकेश पाल 

रिजेक्ट धान को वापस किये जाने पर किसानों में आक्रोश


सिवनी। गोंडवाना समय। 

वेयर हाउस से रिजेक्ट कर अनावश्यक वापस की जा रही धान को लेकर कान्हीवाड़ा क्षेत्र के किसानों गुरूवार को सड़क पर आकर विरोध जताया। किसानों के समर्थन में स्वयं किसान व भारतीय जनता पार्टी के जिला उपाध्यक्ष श्रीराम ठाकुर ने किसानों की धान को रिजेक्ट कर वेयर हाऊस से वापस किये जाने पर नाराजगी जताते हुये गुरूवार की सुबह से अधिकारियों व केवलारी विधानसभा क्षेत्र के विधायक श्री राकेश पाल सिंह को भी अवगत करा दिया था।



        जहां प्रशासन व विभाग के अधिकारी द्वारा श्रीराम ठाकुर जिला उपाध्यक्ष भाजपा की बातों को गंभीरतापूर्वक न लिये जाने पर वे स्वयं किसानों के साथ सड़क पर आकर विरोध करते नजर आये। वहीं केवलारी विधानसभा क्षेत्र के विधायक श्री राकेश पाल सिंह भी किसानों के द्वारा विरोध प्रदर्शन स्थल पर पहुंचे जहां उन्होंने किसानों की समस्याओं को लेकर कलेक्टर से चर्चा भी किया वहीं अधिकारियों पर इस मामले में डीलिंग किये जाने का खुला आरोप भी लगाया है।
             विधायक ने कहा कि सिर्फ ये पैसों की डीलिंग के चलते गाड़िया वहां से लौटी है, वहीं कलेक्टर ने संबंधित अधिकारियों को अपने पास बुलाया है। वहीं किसानों से मिलने के बाद वे अपने निर्धारित तय कार्यक्रम लोकापर्ण हेतु 1 घंटे में वापस आता हूं कहकर चले गये। 

अच्छी हुई धान रिजेक्ट का कोई सवाल ही नहीं


विरोध कर रहे किसानों का कहना है कि इस वर्ष की धान सबसे अच्छी हुई व पक्की हुई है। इसके बाद भी अधिकारियों के द्वारा क्यों धान को रिजेक्ट किया जा रहा है। धान रिजेक्ट कर वापस पहुंचाने के मामले में किसानों के द्वारा विरोध किया जा रहा है।

वहीं विधायक के आश्वासन के बाद रिजेक्ट धान को लेकर प्रशासन का निर्णय का इंतजार किसान कर रहे है। किसानों की समस्याओं को सड़क पर उतरकर विरोध करने के लिये भाजपा के प्रमुख पदाधिकारी ही मैदान में नजर आ रहे है। 

सहकारिता कर्मचारी संघ ने भी उठाया था समस्या 

वहीं  किसानों की धान रिजेक्ट किये जाने के मामले में किसानों के द्वारा आक्रोश व्यक्त किये जाने पर बीते दिवस म.प्र.सहकारिता कर्मचारी महासंघ जिला सिवनी के जिलाध्यक्ष श्री वंशीलाल ठाकुर व संघ के अन्य पदाधिकारियों ने कलेक्टर सिवनी को पत्र लिखकर वास्तविकता से अवगत कराते हुए बताया था कि नागरिक आपूर्ति निगम सिवनी द्वारा वर्तमान में गोदाम स्तर पर खरीदी हेतु ही सर्वेयर नियुक्त किये है।
        वर्तमान में खरीदी केंद्रों भोमा, मेहरा पिपरिया, धोबीसर्रा, चक्की खमरिया, दारासीकला, डिवटी, छुई में खरीदी गई धान का परिवहन कराया गया तब गोदाम स्तर पर उपलब्ध सर्वेयर द्वारा धान को चमक विहीन बताकर भरे धान के ट्रको को समिति भोमा, मेहरा पिपरिया, धोबीसर्रा, चक्की खमरिया, दारासीकला, डिवटी, छुई द्वारा प्रेषित धान को नरेला गोदाम से रिजेक्ट कर वापस कर दिया गया।
             गोदाम से धान रिजेक्ट कर वापस कर देने के कारण खरीदी केंद्र प्रभारी अनावश्यक परेशान हो रहे है। इसके साथ ही जिन विक्रेता किसानों की धान ट्रको में परिवहन कर भेजी गई थी, उन किसानों को जब खरीदी केंद्र प्रभारी द्वारा धान खरीदी स्थल पर वापस आने के उपरांत किसानों को बुलाकर वापस ले जाने को कहा तो किसान आक्रोशित होकर खरीदी प्रभारी व समिति कर्मचारियों से अभद्रता पर उतारू हो गए।

1 comment:

  1. प्रशासन भाजपा का भाजपाइयों की अधिकारी नही सुनते
    शर्मनाक

    ये भाजपा नेता मुद्दे को जानबूझकर डायवर्ट करते है ताकि जनचर्चा का बिषय धान खरीदी बन जाये और असली मुद्दा दिल्ली में जो आंदोलन से भाजपा की किरकिरी हो रही है वो दब जाए।
    ये आजकल बहुत षड्यंत्र कारी रवैया से शासन कर रहे है धान का मुद्दा सुलझा देंगे और फिर वाहवाही लूटेंगे
    क्योंकि भोला भाला किसान इनके षड्यंत्र को नहीं समझ पाता।

    ReplyDelete

Translate