गोंडवाना समय

Gondwana Samay

गोंडवाना समय

Gondwana Samay

Friday, February 12, 2021

सहकारी कर्मचारियों ने सरकार की सदबुद्धि के लिए किया यज्ञ

सहकारी कर्मचारियों ने सरकार की सदबुद्धि के लिए किया यज्ञ

हड़ताल स्थल पर पहुँचे लखनादौन विधायक योगेंद्र सिंह बाबा


सिवनी। गोंडवाना समय। 

म.प्र.सहकारी समिति कर्मचारी महासंघ के तत्वाधान में शुक्रवार को जिला सिवनी के सहकारी समिति के कर्मचारियों ने श्री वंशीलाल ठाकुर की अध्यक्षता में अपनी विभिन्न माँगो को लेकर सरकार की सदबुद्धि के लिए यज्ञ का आयोजन किया। इस मौके पर पंडित शास्त्री जी द्वारा सर्वप्रथम भगवान गणेश की विधिवत पूजन अर्चन कराकर उच्चारित वेद मंत्रों के साथ कर्मचारियों को यज्ञ में आहुतियां दिलवाया।

9 दिनों से अनिश्चितकालीन कलमबंद हड़ताल जारी  


विदित होवें कि विगत 9 दिवस से प्रदेश के 55000 सहकारी समिति कर्मचारी अपनी विभिन्न माँगो को लेकर अनिश्चितकालीन कलमबंद हड़ताल पर है। इसी के तहत सिवनी जिले के भी समस्त सहकारी समिति कर्मचारी हड़ताल पर है, ये हड़ताली कर्मचारी प्रतिदिन तमाम प्रकार के प्रदर्शन करते हुए विरोध कर रहे है परंतु आज दिनाँक तक शासन व सहकारी समितियों की माँगो के मध्य सामंजस्य की स्थिति नहीं बन रही है। 

शासन तक पहुंचायेंगे सहकारिता कर्मचारियों की मांग-योगेन्द्र सिंह बाबा 


म.प्र.सहकारी समिति कर्मचारी महासंघ जिला इकाई सिवनी के जिलाध्यक्ष श्री वंशीलाल ठाकुर एवं मीडिया प्रभारी श्री जोगेश ठाकुर द्वारा बताया गया कि हड़ताल स्थल पर लखनादौन के कांग्रेस विधायक श्री योगेंद्र सिंह बाबा भी पहुँचे जिन्होंने कर्मचारियों की माँगो को सुना और माँगो को शासन तक शीघ्र अति शीघ्र पहुँचाने का आश्वासन दिया। हड़ताल के दौरान जिले के उपभोक्ता भंडार, पांचों विकासखंडों की मार्केटिंग सोसाइटी, महिला स्व सहायता समूह सहित अन्य संगठनो द्वारा पूर्ण समर्थन दिया जा रहा है।

सहकारी कर्मचारियों कार्यों से 5 वीं बार मिला कृषि कर्मण पुरस्कार 

संघ के पदाधिकारियों ने बताया कि मध्यप्रदेश में 4530 प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों में समिति प्रबंधन एवं शासन की अनेक जनकल्याणकारी योजनाओं का क्रियान्वन पूर्ण ईमानदारी व निष्ठा से करते हैं। समिति में कार्यरत कर्मचारियों द्वारा केन्द्र व राज्य शासन की कई महत्वपूर्ण योजनाओं के सफलता पूर्वक संचालित किया जा रहा है। जैसे-किसानों को 0 प्रतिशत ब्याज दर पर ऋण उपलब्ध कराना, रासायनिक खाद, बीज, दवाइयां तथा कृषि यंत्र, समर्थन मूल्य पर गेहूं व धान खरीदी, भावांतर पंजीयन योजना, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, मध्यान्ह भोजन, सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अन्तर्गत शासकीय उचित मूल्य दुकानों का सफलता पूर्वक संचालन समिति के कर्मचारियों द्वारा किया जा रहा है। जिसके कारण ही मध्यप्रदेश शासन को पांचवीं बार कृषि कर्मण पुरस्कार प्राप्त हुआ है। 

राज्य शासन के कर्मचारियों का दर्जा दिया जावे


इसके बाद भी समिति कर्मचारियों की महत्वपूर्ण मागों के संदर्भ में अनेकों ज्ञापन दिए गए जिस पर आज तक निराकरण नहीं हो पाया। समितियों के कर्मचारियों को राज्य शासन द्वारा किसी प्रकार का कोई लाभ कर्मचारियों को नहीं मिला है जिसके कारण कर्मचारियों में भारी असंतोष हो रहा है। समितियों में भुगतान क्षमता के मापदण्ड को पूर्णत: समाप्त कर कर्मचारियो को राज्य शासन के कर्मचारियों का दर्जा दिया जावें। प्रदेश के सहकारी कर्मचारी संघ निरंतर अपनी माँगो पर अड़े हुए है और महासंघ ने स्पष्ट कर दिया है कि जब तक हमारी माँगे पूरी नहीं होगी हड़ताल समाप्त नही की जावेंगी जब तक शासन द्वारा तीनों माँगो को विधिवत मान नहीं लिया जाता है तब तक कलमबंद आंदोलन यथावत जारी रहेगा।

No comments:

Post a Comment

Translate