Thursday, March 11, 2021

तेंदूपत्ता संग्रहण के लिए शाख कर्तन का कार्य 15 से 20 मार्च तक चलेगा

तेंदूपत्ता संग्रहण के लिए शाख कर्तन का कार्य 15 से 20 मार्च तक चलेगा


घंसौर। गोंडवाना समय। 

तेंदूपत्ता संग्रहण के लिए शाख कर्तन का कार्य 15 मार्च 2021 से प्रारंभ होगा, जो कि 20 मार्च 2021 तक चलेगा। इसके लिए 56 फड़ बनाए गए हैं। वन विभाग ने इस बार भी तेंदूपत्ता संग्रहण का लक्ष्य लग भाग सैकड़ों मानक बोरा रखा है। जिले के उत्तर वन मंडल घंसौर परिक्षेत्र में तेंदूपत्ता संग्रहण के लिए 5 प्राथमिक लघु वनोपज सहकारी समिति कार्यरत हैं। शिकारा, घंसौर, पहाड़ी, किंदरई , भिलाई समितियों के जरिए तेंदूपत्ते का संग्रहण कराया जाएगा। इस बार भी 15 मार्च से शाख कर्तन प्रारंभ हो जाएगा। इसके लिए विभाग ने तैयारी प्रारंभ कर दी है।


शाख कर्तन का कार्य करीब 7 दिनों तक चलेगा। शाख कर्तन के 45 दिन बाद पेड़ों पर कोमल पत्ते आ जाएंगे। हर साल एक मई से यहां तेंदूपत्ता संग्रहण प्रारंभ हो जाता है। विभाग ने इस बार भी सभी समितियों का लगभग सैकड़ों हजार मानक बोरा संग्रहण का लक्ष्य निर्धारित किया है। इसके लिए विभिन्न समितियों अंतर्गत 56 फड़ बनाए गए हैं। विभागीय सूत्रों के मुताबिक शाखा कर्तन के बाद भीषण गर्मी तेंदूपत्ता बढ़वार के लिए अनुकूल है। 

संग्रहण मौसम पर निर्भर


पिछले साल भी वन विभाग ने तेंदूपत्ता संग्रहण का लक्ष्य रखा था लेकिन काफी जद्दोजहद के बाद भी 85 फीसदी ही संग्रहण हो पाया था। इसके पूर्व के सालों की भी यही स्थिति थी। पिछले कुछ सालों से तेंदूपत्ता संंग्रहण के दौरान ही आंधी तूफान व बारिश शुरू हो जाती है, जिससे संग्रहण कार्य पूरा नहीं हो पाता है। इस बार यदि मौसम ने साथ दिया तो संग्रहण का लक्ष्य पूरा कर लिया जाएगा। तेंदूपत्ता का संग्रहण पूरी तरह मौसम के मिजाज पर निर्भर है।

No comments:

Post a Comment

Translate