Tuesday, March 9, 2021

महिलाओं के लिए चौखट से चौपाल तक आने का सफर आसान नहीं-मातृ शक्ति संगठन

 महिलाओं के लिए चौखट से चौपाल तक आने का सफर आसान नहीं-मातृ शक्ति संगठन

जैतपुर कला, छिड़िया पलारी में मातृ शक्ति संगठन यूथ विंग समर्पण युवा संगठन की उपशाखाओं का हुआ गठन 


सिवनी। गोंडवाना समय।

देश में ना तो महिलाओं को सशक्त बनाने वाली सरकारी योजनाओं की कमी है और ना ही स्त्री के अधिकारों को लेकर विचार विमर्श करने वालों की, फिर भी लगता है कि जो कुछ भी हो रहा है वह व्यवहारिक जीवन में हमारे आसपास के परिवेश में नजर नहीं आ रहा है।

ऐसे में सरकारी नीतियां कहां तक सफल हो पाएंगीं ? 


कुछ योजनाएं और जागरूक करने वाले विज्ञापन समाज में महिलाओं की स्थिति ना तो बदल पाए हैं और ना ही बदल पाएंगे। अगर सामाजिक-पारिवारिक और वैचारिक बदलाव आए तो शायद महिलाओं की समस्याएं कुछ कम हों। साथ ही, विचारों के इस परिवर्तन को व्यव्हार में भी लाया जाए। महिलाएं पंच-सरपंच बन भी जाए तो क्या? अगर उन्हें निर्णय लेने का अधिकार ही ना मिले या फिर उनके इन अधिकारों को घर के लोग ही छीन लें, ऐसे में सरकारी नीतियां कहां तक सफल हो पाएंगीं ? 

नारी शक्ति अब पूरी दुनियां में पुरुष के समकक्ष आ कर खड़ी हो गयी


सरकार महिलाओं को हक तो दे सकती हैं पर जब तक उनके अपनों की सोच में परिवर्तन नहीं आता, उनका चौखट से चौपाल तक आने का सफर आसान नहीं है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए महिला दिवस के अवसर पर मातृ शक्ति संगठन अपने कर्तव्य पथ पर अग्रसर होते हुए ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं को भी जागरूक करते हुए उन्हें लगातार इस बात का एहसास दिलाता रहा है कि किसी भी नारी का जीवन अब सिर्फ चूल्हा चक्की तक सिमट कर नहीं रह गया है। नारी शक्ति अब पूरी दुनियां में पुरुष के समकक्ष आ कर खड़ी हो चुकी है किंतु ग्रामीण अंचलों में अभी भी पुरुष प्रधान समाज इसे स्वीकार नहीं कर पाता है। 

पुलिस प्रशासन का समाजहित व जनहित के कार्यों में मिलेगा सहयोग 


संगठन से लगातार ग्रामीण महिलाओं द्वारा मातृ शक्ति संगठन की शाखाओं को बनाने की माँग निरंतर की जाती रही है और संगठन द्वारा निरंतर इस ओर प्रयास जारी रहे हैं। अंतराष्ट्रीय महिला दिवस के महत्वपूर्ण दिन संगठन की सिवनी की प्रमुख ग्राम पंचायतों में नई शाखाओं का शुभारंभ किया गया। जिसमें जैतपुर कला एवं छिड़िया पलारी शामिल हैं।
        

इस कार्यक्रम में मुख्यातिथि के रुप में कार्यक्रम को संबोधित करते हुए एसडीओपी सुश्री पारुल शर्मा ने ग्रामीण महिलाओं को ये विश्वास दिलाया कि वो भी किसी से कम नहीं हैं, उनकी हर परेशानी में संगठन उनके साथ रहेगा। वहीं पुलिस प्रशासन का निरंतर सहयोग समाजहित एवं जनहित के कार्यों में ग्रामीण क्षेत्रों की शाखाओं को मिलता रहेगा। खुशी से भरी हुई महिलाओं द्वारा कार्यक्रम के दौरान कुछ शिकायतें संगठन को सौपी गई हैं जिन्हें संगठन ने गम्भीरता से लेते हुए जल्द ही अंजाम तक पहुंचाने का विश्वास दिलाया है।

आप भी रखें पक्षियों के लिए पानी


वहीं दूसरी ओर तेज गर्मी को देखते हुए ग्रामीण जनों को अपने अपने घरों की क्षत पर पक्षियों को पानी रखने के लिए सकोरे भी वितरित किये गए हैं। ज्ञात हो कि विगत कई वर्षों से संगठन द्वारा सिवनी नगर के अंदर अभियान चलाया जाता रहा है जिसके सुखद परिणाम अब देखने मिल रहे हैं कि लगभग हर घर में आमजन अपने घरों में पक्षियों के लिए क्षत पर सकोरे में पानी रखने लगे हैं। अब इस अभियान में संगठन अपनी सभी ग्रामीण शाखाओं को भी जोड़ रहा है। जिससे गर्मी में प्यास से दम तोड़ते उन पक्षियों की प्रजातियों को भी बचाया जा सके जो हमारे देश में विलुप्त की कगार पर हैं।


No comments:

Post a Comment

Translate