Tuesday, March 9, 2021

चुटका परमाणु परियोजना तो नर्मदा को बना देगा जहरीला

चुटका परमाणु परियोजना तो नर्मदा को बना देगा जहरीला 

चुटका परमाणु परियोजना नर्मदा घाटी के लिए होगी अभिशाप साबित      
चुटका से शुरू हुई नर्मदा चेतना यात्रा


सिवनी। गोंडवाना समय।

जीवन दायनी नर्मदा मध्यप्रदेश की जीवन रेखा एवं आस्था का केन्द्र है परन्तु कई वर्षों से इस पर संकट छाया हुआ है। शहर का कचरा एवं मल-मूत्र नालों से होकर नर्मदा में मिल रहा है। अवैध रेत खनन से नर्मदा को छलनी किया जा रहा है।


नर्मदा की सहायक नदियाँ सूखती जा रही है और प्रस्तावित चुटका परमाणु परियोजना तो नर्मदा को जहरीला बना देगा। उक्त चिंताओ को लेकर समाजवादी जन परिषद के गोपाल राठी, पिपरिया, होशंगाबाद एवं सामाजिक कार्यकर्ता गजानंद यादव देवास ने 7 मार्च 2021 दिन रविवार को चुटका से नर्मदा चेतना यात्रा शुरू किया।

शांतिपूर्ण एवं अहिंसक आंदोलन के समर्थन में यात्रा संगठन को देगा विस्तार         


दोनों यात्रियों का ग्राम वासियों ने चुटका पहुंचने पर तिलक वंदन कर पुष्प माला से स्वागत किया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए चुटका परमाणु विरोधी संघर्ष समिति के अध्यक्ष दादु लाल कुङापे ने कहा कि नर्मदा घाटी के लिए चुटका परमाणु परियोजना अभिशाप साबित होगा। चुटका के सरपंच ने दोनों यात्रियों का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि शांतिपूर्ण एवं अहिंसक आंदोलन के समर्थन में यात्रा संगठन को विस्तार देगा। चुटका महिला मोर्चा की अध्यक्ष श्रीमति मीरा बाई मरावी ने बरगी विस्थापन की त्रासदी को रखते हुए कहा कि हमारी कोई सुनवाई नहीं हो रही है। सरकार एकतरफा निर्णय लेकर हमें संघर्ष के लिए बाध्य कर रही है। 

नदी की जैव विविधता एवं मत्स्य जीव पर होगा प्रतिकूल असर


बरगी मत्स्य संघ के अध्यक्ष मुन्ना बर्मन ने कहा कि इस परियोजना से नदी की जैव विविधता एवं मत्स्य जीव पर प्रतिकूल असर होगा और मछुआरों की आजीविका संकट में आ जाएगा। नर्मदा चेतना यात्री गोपाल राठी ने अपने उद्बोधन में कहा कि हम अपने यात्रा के पड़ाव में चुटका परमाणु परियोजना के दुष्प्रभाव को लेकर नर्मदा प्रेमियों से संवाद स्थापित करेंगे। आगे उन्होंने कहा कि मैं नर्मदा परिक्रमा यहीं समाप्त करूंगा। कार्यक्रम के बाद यात्रा को दादु लाल कुड़ापे ने हरी झंडी दिखा कर रवाना किया। कार्यक्रम में नारायणगंज जयस प्रभारी काशीराम बरकड़े, मुन्ना यादव, अच्छे लाल, हल्के राम, श्रीमति सोनाबाई की उपस्थिति रही। वहीं कार्यक्रम का संचालन बरगी बांध विस्थापित एवं प्रभावित संघ के संयोजक राज कुमार सिन्हा ने किया।

No comments:

Post a Comment

Translate