Tuesday, March 9, 2021

परीक्षा परिणाम बेहतर लाने माखन सिंह सिन्द्राम सहायक संचालक शिक्षा के कड़े तेवर, लापरवाह प्राचार्य को कड़े शब्दों में दी समझाईस

परीक्षा परिणाम बेहतर लाने माखन सिंह सिन्द्राम सहायक संचालक शिक्षा के कड़े तेवर, लापरवाह प्राचार्य को कड़े शब्दों में दी समझाईस

विद्यालयों के निरीक्षण की समीक्षा प्रति सप्ताह होने वाली टी.एल. बैठक में की जावेगी


मंडला। गोंडवाना समय।

जनजाति बाहुल्य जिला मंडला में शिक्षा का स्तर में सुधार व आगामी समय में होने वाली परीक्षाओं में बेहतर परिणाम लाने के लिए मंडला कलेक्टर श्रीमति हर्षिता सिंह द्वारा बैठक लेकर स्कूलों के निरीक्षण करने व विद्यार्थियों की समस्याओं को जानने के साथ ही उनका समाधान कराए जाने के निर्देश दे रही हैं। इसके साथ ही कार्यालय कलेक्टर (शिक्षा विभाग) जिला मण्डला के आदेश कमांक/शिक्षा/बोर्ड परीक्षा/2021/5 व मण्डला, 17 फरवरी 2021 जो कि कलेक्टर मंडला के हस्ताक्षर से जारी हुआ है।
        


जिसमें में उल्लेखित है कि माध्यमिक शिक्षा मण्डल द्धारा आयोजित की जाने वाली हाईस्कूल एवं हायर सैकेण्डरी बोर्ड परीक्षा 2020 में जिले का परीक्षा परिणाम अपेक्षाकृत कम रहा है। जिस कारण जिले के विभिन्न विभागों के अधिकारियों को आदेशित किया गया है कि वे उन्हें आवंटित विद्यालयों का निरीक्षण अपने पदीय दायित्वों के साथ-साथ किया जाना सुनिश्चित करें।
         विद्यालयों के निरीक्षण उपरान्त निरीक्षण की जानकारी जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा उपलब्ध कराई गई गूगल फार्म एवं संलग्न प्रपत्र में उचित माध्यम से प्रस्तुत किया जाने के निर्देश दिए गए हैं। निरीक्षणकर्ता अधिकारी विद्यालयों का निरीक्षण करते समय विद्यालयों की शैक्षणिक गतिविधियों पर विशेष ध्यान देते हुये बोर्ड परीक्षा 2021 के परिणाम में वृद्धि हेतु सुझावों का पालन कराते हुये पालन प्रतिवेदन जिला शिक्षा अधिकारी के माध्यम से प्रस्तुत किया जाना सुनिश्चित करेंगे। 

महत्वपूर्ण प्रश्नों का टेस्ट लेकर प्राचार्य तथा विषय शिक्षकों से कराएं मूल्यांकन


जनजाति बाहुल्य जिला मंडला में शिक्षा का स्तर में सुधार व आगामी समय में होने वाली परीक्षाओं में बेहतर परिणाम लाने के लिए जारी कि ये गए आदेश में निर्देश दिए गए हैं जिसमें ब्लूप्रिन्ट के आधार पर वस्तुनिष्ठ प्रश्न तैयार कराया जावे, विद्यालय द्वारा लिये गये रिवीजन टेस्ट एवं अर्द्धवार्षिक परीक्षा में प्राप्तांकों के आधार पर कम अंक प्राप्त करने वाले छात्र/छात्राओं के लिये महत्वपूर्ण प्रश्नों एवं उत्तर का संकलन कर तैयार कराया जावे, कक्षा दसवीं एवं बारहवीं में सी तथा सी, डी एवं ई ग्रेड वाले विद्यार्थियों को चिन्हित कर 10-15 विद्यार्थियों का पालक शिक्षक ग्रुप बनाकर प्राचार्यों एवं शिक्षकों से उनकी सतत मानीटरिंग कराई जावे, प्रत्येक 07 दिन में महत्वपूर्ण प्रश्नों का टेस्ट कराया जाकर प्राचार्य तथा सम्बंधित विषय शिक्षकों से इसका मूल्यांकन कराया जाकर रिकार्ड को विधिवत संधारित कराया जावेगा।

सी, डी, ई ग्रेड वाले विद्यार्थियों को अवकाश अवधि में भी दें गृहकार्य

इसी तरह उक्त आदेश में यह भी उल्लेख किया गया है कि सी, डी एवं ई ग्रेड वाले छात्र/छात्राओं के लिये अवकाश अवधि में अतिरिक्त कक्षा लगाई जावेंगी तथा महत्वपूर्ण प्रश्न तैयार कराकर गृहकार्य दिलाया जावेगा, विद्यालय में समस्त शिक्षकों की शत प्रतिशत उपस्थिति हो, अनावश्यक रूप से अनुपस्थित शिक्षकों के विरूद्ध अविलम्ब नियमानुसार अनुशासनात्मक कार्यवाही प्रस्तावित की जावे, बोर्ड परीक्षा 2020 के परीक्षा परिणाम में 25 प्रतिशत की वृद्धि के लिये किये जाने वाले उपाय, विद्यार्थियों की नियमित उपस्थिति हेतु क्या-क्या कार्यवाही की जा रही है उसकी समीक्षा की जावे, सम्बंधित अधिकारियों को आवंटित विद्यालयों के निरीक्षण की समीक्षा प्रति सप्ताह होने वाली टी.एल. बैठक में की जावेगी। 

हाई स्कूल बाजाबोरिया की कार्यप्रणाली पर जताया असन्तोष

इस आदेश के परिपालन में जिले भर के अधिकारी हाई स्कूल और हायर सेकेंडरी स्कूलों का निरीक्षण कर रहे हैं। जिसके कारण सम्पूर्ण जिले में बोर्ड परीक्षा की तैयारी को लेकर अच्छा माहौल बनते जा रहा है। स्कूल के प्राचार्यों के साथ-साथ शैक्षिणिक अमले की कार्यप्रणाली सामने आ रही है। कुछ प्राचार्य अच्छा कार्य कर रहे है तो कुछ अभी भी कोताही बरत रहे हैं। विगत दिवस शिक्षा विभाग के सहायक संचालक श्री माखन सिंह सिन्द्राम ने हाई स्कूल बाजाबोरिया तथा हाई स्कूल दिवारा का आकस्मिक निरीक्षण किया। हाई स्कूल बाजाबोरिया की कार्यप्रणाली से उन्होंने असन्तोष जाहिर किया तथा प्रभारी प्राचार्य व शिक्षकों को कड़ी चेतावनी देते हुए निर्देशित किया कि अगले निरीक्षण के दौरान यदि व्यवस्था नही सुधरी तो अनुशासनात्मक कार्यवाही झेलने के लिए तैयार रहें। 

हाई स्कुल दिवारा का प्रदर्शन अच्छा रहा

वहीं हाई स्कुल दिवारा का प्रदर्शन अच्छा रहा तीन विद्यार्थी मजबूरीबश स्कुल नही आ रहे हैं। जिसके लिए प्राचार्य को निर्देशित किया गया कि सतत प्रयास करते रहें, पालकों को समझाएं ताकि शतप्रतिशत बच्चे नियमित स्कूल आएं।

No comments:

Post a Comment

Translate