Tuesday, March 9, 2021

सामाजिक, आर्थिक, शैक्षणिक विकास उत्थान हेतु गोंड समाज महासभा में जुड़ कर कार्य करने का लिया संकल्प

सामाजिक, आर्थिक, शैक्षणिक विकास उत्थान हेतु गोंड समाज महासभा में जुड़ कर कार्य करने का लिया संकल्प

फड़ापेन स्थापना दिवस पर हुए विविध कार्यक्रम


उगली। गोंडवाना समय।

गोंड समाज महासभा सेक्टर कमेटी उगली/ग्राम कमेटी पौंड़ी के संयुक्त तत्वावधान में 6 मार्च 2021 दिन शनिवार को फड़ापेन स्थापना दिवस पर सर्व प्रथम ग्राम उगली में गोंड राजा दलपत शाह मड़ावी जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर, कलश गोंगो कर, कलश यात्रा ढोल बाजे गाजे डीजे साउंड सिस्टम के साथ पारंपारिक वेशभूषा धोती-कुर्ता, सोलह हाथ साड़ी पहन कर सप्तरंगी ध्वज सहिंत निकाली गई। कलश यात्रा ग्राम उगली, पटबर्रा, खामी होते हुए ग्राम पौंड़ी गांव भ्रमण करते हुए ग्राम पौंडी के खेरोदाई सहित अन्य देवताओं की गोंगो कर कलश यात्रा फड़ापेन ठाना पौंडी पहुंची। 

समाजिक एकता के बैगर समाज का सर्वांगींण विकास होना संभव नहीं

उक्त कलश यात्रा कार्यक्रम की जानकारी देते हुए तिरू टेकचंद उइके सहसचिव गोंड समाज महासभा सर्किल कमेटी उगली ने बताया कि उपस्थित संगठन के पदाधिकारियों ने कलश यात्रा व बाहर से आये अतिथियों का स्वागत गोंडी परंपरा अनुसार पांव धोकर, हल्दी चांवल टीका लगाकर किया। तत्पश्चात फड़ापेन ठाना में गोंगो कार्यक्रम संपन्न कर मंचीय कार्यक्रम में दूर-दूर से पहुंचे अतिथियों का सम्मान पीला गमछा भेंट कर किया गया।             वहीं अतिथियों के उद्धबोधन के साथ बालाघाट जिले से कलश यात्रा में उपस्थित हुए गोंड समाज महासभा युवा प्रकोष्ठ के नवजवानों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए। उद्बोधन में गोंड समाज की मूल संस्कृति परंपराओं, तीज त्योहारों, रीति रिवाजों, गोंडी धर्म भाषा संरक्षण संवर्धन के साथ गोंड समाज की वर्तमान सामाजिक, आर्थिक, शैक्षणिक विकास उत्थान हेतु एक जुट होकर तन-मन धन से गोंड समाज महासभा में जुड़ कर कार्य करने का संकल्प लिया गया। वहीं यह भी कहा गया कि समाजिक एकता के बैगर समाज का सर्वांगींण विकास उत्थान होना संभव नहीं है। इसके लिए संगठन हर क्षेत्र में कार्य करने विभिन्न प्रकोष्ठों का विस्तार कर कार्य कर रहा है जिसके संतोष जनक परिणाम भी सामने आ रहे हैं।

मुख्य रूप से ये रहे मौजूद

इस अवसर पर कार्यक्रम की अध्यक्षता तिरु रुप लाल उइके, मुख्यातिथि गोंड समाज महासभा मध्यप्रदेश के प्रदेश अध्यक्ष तिरु बी एस परतेती, विशेष अतिथि गोंडी धर्म संस्कृति साहित्य प्रकोष्ठ के प्रदेश सचिव तिरु राजेन्द्र सिंह मरावी बालाघाट, गोंडी भाषा संरक्षण-संवर्धन प्रकोष्ठ के प्रदेश सचिव तिरु प्रहलाद सिंह सैयाम बालाघाट, गोंडी भूमका प्रकोष्ठ मध्यप्रदेश के प्रदेश उपाध्यक्ष तिरू जगदीश प्रसाद परते उगली, गोंडी भाषा संरक्षण-संवर्धन प्रकोष्ठ मध्यप्रदेश के प्रदेश उपाध्यक्ष तिरू बसंत कुमार गोंनगे सिवनी, गोंड समाज महासभा जिला कमेटी बालाघाट के अध्यक्ष तिरु राधेलाल मर्सकोले, जिला सचिव तिरु संपत सिंह सिंदराम, युवा प्रकोष्ठ जिला उपाध्यक्ष तिरू कुंदन सिंह उइके, आमंत्रित अतिथियों में सर्किल कमेटी चांगोटोला अध्यक्ष तिरु सिरपत सिंह धुर्वे, सचिव तिरू राजेश सिंह तेकाम, कोषाध्यक्ष तिरू मेहत सिंह उइके, सर्किल कमेटी उगली के उपाध्यक्ष तिरू रतन सिंह उइके, तिरू प्रहलाद सिंह उइके, तिरू हरिप्रसाद भलावी, कोषाध्यक्ष तिरू संग्राम सिंह भलावी, सेक्टर कमेटी उगली के अध्यक्ष तिरु सहत लाल सरूते सचिव तिरू देवीसिंह मर्सकोले सहसचिव तिरु राजकुमार भलावी, कार्यवाहक अध्यक्ष तिरु रामचरन नर्वेती, कोषाध्यक्ष तिरू बसोड़ी लाल उइके, तिरू लिल्हार सिंह कुसरे, तिरू दीपचंद मर्सकोले, तिरू प्रयाग सिंह उइके, तिरू बद्री प्रसाद परते, मलारी सरपंच श्रीमति गेंदा बाई तेकाम, पूर्व सरपंच तिरू संतोष तेकाम सहित अन्य क्षेत्रीय सगाजनों के साथ ग्राम कमेटी अध्यक्ष पदाधिकारी गण शामिल हुए। वहीं कलश यात्रा कार्यक्रम को सफलता व भव्यता पूर्ण संपन्न कराने में ग्राम कमेटी पौंडी की युवा शक्ति मातृशक्ति पितृशक्ति का विशेष योगदान रहा।


No comments:

Post a Comment

Translate