Sunday, April 4, 2021

कोरोना मीडिया बुलेटिन की पारदर्शिता पर सीएमएचओ के दिमागदार क्यों डाल रहे पर्दा ?

कोरोना मीडिया बुलेटिन की पारदर्शिता पर सीएमएचओ के दिमागदार क्यों डाल रहे पर्दा ?

कोरोना संक्रमण मीडिया बुलेटिन यदि पादर्शिता के साथ सही बात सामने रखे तो अफवाहों का कहीं कोई स्थान नहीं होगा। अफवाहों को बढ़ावा देने में संबंधित विभाग की बड़ी भूमिका है क्योंकि पारदर्शिता के साथ कोरोना संक्रमण के मीडिया बुलेटिन की जारी नहींं किया जा रहा है। मृतकों को लेकर सोशल मीडिया में चर्चा का विषय बनी हुई है। ऐसे अनेक कारण है जो पादर्शिता के अभाव में अफवाह का रूप ले रहे है। 


सिवनी। गोंडवाना समय।

कोरोना संक्रमण को लेकर जिस तरह से आंकड़े प्रतिदिन स्वास्थ्य विभाग सिवनी के द्वारा जारी किए जा रहे हैं, उनमें बीते साल की तरह ही इस वर्ष भी पारदर्शिता का अभाव स्पष्ट दिखाई दे रहा है। आखिर इसके पीछे क्या कारण है? यह स्वास्थ्य विभाग सिवनी के जिम्मेदार अधिकारी और जिले की जनता का प्रतिनिधित्व करने वाले जनप्रतिनिधि ही जानते हैं क्योंकि हम यदि मंडला, नरसिंहपुर और अन्य जिले से जारी होने वाले मीडिया बुलेटिन की बात करें तो पारदर्शिता कम ही सही पर स्पष्ट दिखाई देती है। मंडला जिले में कोरोना संक्रमण मरीजों की जानकारी के लिए जारी समाचारों में स्थान व क्षेत्र का नाम स्पष्ट उल्लेखित होता है, यहां तक की संबंधित मरीज की उम्र आदि की भी जानकारी होती है लेकिन सिवनी जिले में पिछले वर्ष की तरह इस वर्ष भी आज तक यह समझ नहीं आया है कि कोरोना संक्रमण को लेकर जारी समाचार में जांच रिपोर्ट के आंकड़े किस तारीख के है और ना ही क्षेत्र की जानकारी दी जाती है, ऐसा क्यों यह संबंधित ही जानते हैं और समझते हैं। गाईडलॉइन के अनुसार गोपनीयता रखना अनिवार्य है तो सभी जिले में यह आवश्यक होना चाहिये लेकिन वहीं जानकारी करीब के जिले में पारदर्शिता के साथ सामने आ रही है लेकिन सिवनी जिले में पर्दा डाला डाला जा रहा है।  

सिवनी जिले की जनता को मूर्ख समझकर जनप्रतिनिधियों को भी बना रहे मामू


हम आपको बता दें कि कोरोना संक्रमित मरीजों की मृत्यू होने पर नरसिंहपुर जिले में मृतकों के अंतिम संस्कार के  संबंध में भी समाचार जारी होता है बकायदा स्थान, क्षेत्र का नाम का उल्लेख होता है, उसी तरह अन्य जिलों में भी यही स्थिति है। कोरोना संक्रमण के मामले में जारी होने वाले मीडिया बुलेटिन में देखने को मिलता है। वहीं सिवनी जिले में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय द्वारा जारी किए जाने वाला मीडिया बुलेटिन पहले की तरह आज भी पारदर्शिता पर पर्दा डालने का प्रयास कर रहा है, इसके पीछे सीएमएचओ कार्यालय में मठाधीश बनकर वर्षों से मलाईदार शाखाओं में बैठकर मलाई खाने वालों का ज्यादा दिमाग चल रहा है, जो सिवनी जिले की जनता को मूर्ख समझते हैं और जनप्रतिनिधियों को भी यह मूर्ख बनाने के साथ मामू बनाने में कोई कमी नहीं छोड़ रहे हैं। 

कोड़ियों को मोहताज थे, आज करोड़ों के आसामी बन गये

सीएमएचओ कार्यालय सिवनी में यदि देखा जाए तो वर्षों से स्वास्थ्य विभाग की योजनाओं में भ्रष्टाचार का दीमक लगाकर खोखला करने का काम करते आ रहे हैं। वहीं दिमाग कोरोना महामारी जैसी गंभीर बीमारी के मामले में भी लगा रहे हैं। सीएमएचओ कार्यालय में बरसों से जमे कुछ कर्मचारी कोरोना की रोकथाम के लिए आने वाले बजट में भी सेंधमारी करने के लिए अपना दिमाग ज्यादा लगा रहे हैं। इसके साथ ही सीएमएचओ के अंतर्गत स्वास्थ मिशन के नाम से संचालित अनेकों योजनाओं में जमे अधिकारी कर्मचारी भी इस मामले में बड़ी भूमिका निभा रहे हैं। उनके द्वारा स्वास्थ्य विभाग के योजनाओं में किस तरह से भ्रष्टाचार को शिष्टाचार बनाना है, इसमें अब वे पूरी तरह पारंगत हो चुके हैं। कुछ ऐसे कर्मचारी अधिकारी हैं जिनका कुछ वर्ष पहले का इतिहास देखें तो कोड़ियों को भी मोहताज थे लेकिन वर्तमान में करोड़ों के आसामी बन चुके हैं। इनके द्वारा सत्ताधारी कुछ नेताओं की स्वार्थ पूर्ति करने का भी काम किया जाता है जिसके जिसके बदले में यह योजनाओं में आर्थिक अनियमितता को बढ़ावा देते चले आ रहे हैं बहरहाल यह तो भ्रष्टाचार की बात है लेकिन पारदर्शिता पर पर्दा डालने का जिस तरह से काम सीएमएचओ कार्यालय द्वारा किया जा रहा है वह है कहां तक उचित है।

नरसिंहपुर में ऐसे जारी होता है अंतिम संस्कार का समाचार 

हम आपको बता दे कि कोरोना से मृत्यू के मामले में सिवनी जिले में पारदर्शिता के अभाव में अनावश्यक चर्चा का विषय बनता है वहीं करीब के नरसिंहपुर जिले में कोरोना संक्रमित मृतकों का समाचार इस तरह से जारी होता है। कोविड- 19 के कारण हुई मृत्यु के मामले में एक व्यक्ति का अंतिम संस्कार जिला प्रशासन की निगरानी में हुआ। शुक्रवार को दोपहर में कोविड- 19 के प्रोटोकॉल के तहत मृत व्यक्ति का अंितम संस्कार झिरना रोड शमशान घाट में जिला प्रशासन के अधिकारियों की मौजूदगी में हुआ। प्राप्त जानकारी के अनुसार उक्त गाडरवारा निवासी व्यक्ति को कल दोपहर जिला चिकित्सालय नरसिंहपुर में भर्ती किया गया था जिन्हें सर्दी, बुखार और साँस लेने में तकलीफ थी। उक्त व्यक्ति की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव होने के कारण कोविड 19 के प्रोटोकॉल के तहत अंतिम संस्कार किया गया। अंतिम संस्कार के दौरान नगरपालिका, राजस्व और स्वास्थ्य विभाग का अमला मौजूद था।

मण्डला में ऐसे जारी होता है कोरोना मीडिया बुलेटिन 

हम आपको बता दे कि मंडला जिले में कोरोना मीडिया बुलेटिन जारी किया जाता है जिसमें इस तरह से समाचार पाठकों व जनता तक पहुुचाने के लिये पहुंचाया जात है। जैसे कि 1 अप्रैल 2021 की शाम 4 बजे से 2 अप्रैल 2021 की शाम 4 बजे तक 16 नए कोरोना पॉजिटिव केस मिले। जानकारी के अनुसार ग्राम सलवाह निवासी 55 वर्षीय पुरुष, मंडला उदयचंद्र वार्ड निवासी 41 वर्षीय पुरुष, कंमपोस कॉलोनी बड़ी खेरी मंडला निवासी 38 वर्षीय महिला, किंगफिशर होटल ग्राम पोंडी निवासी 23 वर्षीय पुरुष, ग्राम मानेगांव निवासी 41 वर्षीय पुरुष, मृदकिशोर कॉलोनी ग्राम कटरा निवासी 31 वर्षीय महिला, मंडला श्रीराम वार्ड निवासी 56 वर्षीय पुरुष, बिछिया वार्ड नंबर 7 निवासी 40 वर्षीय महिला, बिछिया वार्ड नंबर-2 निवासी 44 वर्षीय पुरुष, बम्हनी वार्ड नंबर-11 निवासी 38 वर्षीय महिला, ग्राम सलवाह निवासी 35 वर्षीय पुरुष, 28 वर्षीय पुरुष, शक्तिनगर ग्राम देवदरा निवासी 18 वर्षीय पुरुष, ग्राम जावैधा निवासी 24 वर्षीय पुरुष, जिला जेल परिसर मंडला निवासी 34 वर्षीय पुरुष, लाल बहादुर शास्त्री वार्ड मंडला निवासी 50 वर्षीय पुरुष की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। संक्रमित को आईसोलेशन में रखा गया है। कलेक्टर हर्षिका सिंह ने जनसामान्य से मॉस्क लगाने तथा सोशल डिस्टेसिंग का पालन करने का आव्हान किया है। 

और सिवनी जिले में जारी होता है ऐसे मीडिया बुलेटिन

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ के.सी. मेशराम द्वारा जानकारी देते हुए बताया गया कि विगत दिवस प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार 42 व्यक्तियों की कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट है। वही 17 मरीज स्वस्थ हुए है। प्राप्त जानकारी अनुसार अब तक जिले में कुल 77599 संदिग्ध व्यक्तियों के नमूने जांच हेतु लिए गए हैं। जिसमें से 1862 कोरोना पॉजिटिव मरीज पाये गए हैं। जिनमें 1739 मरीज पूरी तरह स्वस्थ हो चुके हैं।  वर्तमान में कोरोना के 113 एक्टिव केस हैं। जिनमें से 77 मरीज होंम कोरोनटाइन हैं। जिनकी मॉनिटरिंग कोविड़ कमांड एवं कंट्रोल सेंटर से की जा रहीं।

No comments:

Post a Comment

Translate