Wednesday, April 21, 2021

भ्रष्टाचार के साथ गुणवत्ता हीन निर्माण का सच उगल रही कान्हीवाड़ा से बरघाट सड़क

भ्रष्टाचार के साथ गुणवत्ता हीन निर्माण का सच उगल रही कान्हीवाड़ा से बरघाट सड़क

बिना रायल्टी के मिट्टी युक्त रेत लाकर घटिया निर्माण का जनपद सदस्य ने लगाया आरोप 

सिवनी। गोंडवाना समय। 

कान्हीवाड़ा से बरघाट रोड का निर्माण कार्य कब पूरा होगा, तकनीकि प्रावधान के अनुसार निर्माण कार्य किया जायेगा। सड़क निर्माण का कार्य पहले ही अधूरा काम छोड़कर ठेकेदार के भाग जाने से क्षेत्रिय ग्रामीणजन परेशान है।
    


वहीं जब फिर से निर्माण कार्य प्रारंभ हुआ है तो क्षेत्रिय जनप्रतिनिधि का आरोप है कि सड़क निर्माण में घटिया सामग्री का प्रयोग किया जा रहा है। तकनीकि प्रावधान के अनुसार सड़क का निर्माण नहीं किया जा रहा है। वहीं अनियमितता और भ्रष्टाचार के आरोप लगाए गए हैं। वहीं ठेकेदार के द्वारा अधूरा काम छोड़कर भाग जाने पर एस्कॉन कंपनी को नया ठेका मिला है। 

पूर्व ठेकेदार ने अधूरा काम छोड़र अब नये कर रहे घटिया निर्माण  


सिवनी जिले की सबसे महत्वपूर्ण रोड का निर्माण कार्य एमपीआरडीसी के अंतर्गत कान्हीवाड़ा से बरघाट रोड का निर्माण कराया जा रहा है। जिसकी लंबाई 21 किलोमीटर और लागत करोड़ों में है। वहीं 3 वर्ष से भी अधिक से यह रोड का काम अधूरा पड़ा हुआ था पुराने ठेकेदार के काम अधूरा छोड़ कर भाग जाने के बाद नए सिरे से ठेका हुआ है। वहीं सड़क निर्माण का कार्य प्रारंभ हुआ है किंतु पूर्व में की गई भारी लापरवाही के बाद अब उक्त सड़क भ्रष्टाचार और घटिया निर्माण का सच प्रारंभ में ही खोल रहा है। 

नदी नालों से अवैध रूप से ला रहे रेत 


ग्रामीणों ने आरोप लगाया है कि निर्माण कंपनी इस्कॉन द्वारा गुणवत्ता को ध्यान में रख्कर रोड निर्माण का कार्य नहीं कराया जा रहा है।

सड़क निर्माण कार्य में लगने वाली रेत को आसपास के नदी नालों से अवैध तरीके से रेत निकाल कर बड़े पैमाने पर डंप किया गया है। इसमें निर्माण कंपनी के साथ-साथ कई रेत माफिया लगे हुए हैं। जनपद सदस्य श्री सुरेंद्र पटेल ने सड़क निर्माण के मामले में घटिया सामग्री, भ्रष्टाचार का आरोप लगाने के साथ क्षेत्रिय विधायक को इस मामले में संरक्षण देने की बात कहा है। 

गांव में बना दिया प्लांट, डस्ट से ग्रामीणजन परेशान 

सड़क निर्माण कंपनी ने भटेखारी गांव में बीच बस्ती में अपना डम्प और मटेरियल प्लांट लगाया है। जिसमें भारी मात्रा में डंपर व अन्य वाहनों की आवाजाही लगी रहती है। जिस से निकलने वाली डस्ट से ग्रामीण काफी परेशान है। नियमानुसार पानी की सिंचाई होना चाहिए किंतु सिंचाई ना होने के कारण लोगों का डस्ट के कारण सांस लेना भी दूभर हो रहा है, ऐसे में ग्रामीणों में भारी आक्रोश है। ग्रामीणों ने बताया कि जो पुरानी रोड थी उसके ऊपर ही परत बना दी गई है। 


No comments:

Post a Comment

Translate