Friday, May 21, 2021

छत्तीसगढ़ राज्य के आदिवासियों की संरक्षिका होने के नाते सिलेगड़ गोलीकाण्ड की उच्चस्तरीय जांच करायें

छत्तीसगढ़ राज्य के आदिवासियों की संरक्षिका होने के नाते सिलेगड़ गोलीकाण्ड की उच्चस्तरीय जांच करायें 

छत्तीसगढ़ राज्यपाल सुश्री अनुसुईया को मनावर विधायक डॉ हिरालाल अलावा ने लिखा पत्र 


भोपाल/मनावर। गोंडवाना समय।

जय आदिवासी युवा शक्ति के राष्ट्रीय संरक्षक एवं मनावर विधानसभा क्षेत्र के विधायक डॉ हिरालाल अलावा ने छत्तीसगढ़ राज्य के सिलेगढ़ में गोली चालन काण्ड के दौरान मृत हुये आदिवासियों की घटना पर दु:ख जताया है। वहीं इस घटना की उच्च स्तरीय जांच कर जिम्मेदारों पर कार्यवाही की मांग कराये जाने, मृतकआदिवासियों के परिवारजनों को 50 लाख रूपये एवं घायलों को 20 लाख रूपये दिये जाने की मांग करते हुये छत्तीसगढ़ की महामहिम राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उईके जी को पत्र लिखा है। 

बस्तर संगाग में नक्सली उन्मूलन की आड़ में आदिवासियों को किया जा रहा परेशान 

हम आपको बता दे कि छत्तीसगढ़ के बस्तर क्षेत्र में बीजापूर जिले के सिलेगढ़ में आदिवासियों पर गोलियां चलाये जाने की घटना बीते दिनों हुई। जिसमें कुछ आदिवासियों की मृत्यू हो गई है एवं कुछ आदिवासी घायल हो गये है। उक्त घटनाक्रम को लेकर मध्य प्रदेश राज्य के मनावर विधानसभा क्षेत्र के विधायक एवं जय आदिवासी युवा शक्ति के राष्ट्रीय संरक्षण डॉ हीरालाल अलावा ने छत्तीसगढ़ की महामहिम राज्यपाल राज्यपाल सुश्री अनुसुइया उईके जी को पत्र लिखकर घटना के संबंध में उच्चस्तरीय जांच की मांग करते हुये उल्लेख किया है कि दक्षिण बस्तर के सुकमा और बीजापुर जिले के सरहद सिलेगर में पुलिस कैम्प खोले जाने का विरोध कर रहे हजारों ग्रामीणों की भीड़ पर अचानक गोली चलाई गई, आंसू गैस के गोले छोड़े गये तथा मारपीट भी किया जिसमें 3 ग्रामीण आदिवासियों की मृत्यू हो गई जबकि दो दर्जन से अधिक ग्रामीण घायल हो गये है। मृत हुये तथा घायल लोगों को पुलिस द्वारा माओवादी बताया गया है और ग्रामीणों के विरोध को माओवादी प्रायोजित बताया गया है। आगे अपने पत्र में डॉ हीरालाल अलावा ने उल्लेख किया है कि बस्तर संगाग में नक्सली उन्मूलन की आड़ में आदिवासियों को परेशान किया जा रहा है। कोरोना काल में आदिवासियों की फर्जी मुठभेड़Ñ, फर्जी समपर्ण, फर्जी हत्या के अनेक मामले प्रकाश में आ चुके है। 

मृतकों के परिजनों को 50 लाख व घायलों के परिजनों को 20 लाख रूपये दिये जावे 

महामहिम राज्यपाल को लिखे गये आगे अपने पत्र में डॉ हीरालाल अलावा ने उल्लेख किया है कि जैसा कि आप अवगत है कि छत्तीसगढ के 5 वी अनुसूचिक्षेत्र में समस्त विधायिका शक्ति आपमें निहित है और आप छत्तीसगढ़ राज्य के आदिवासियों की संरक्षिका है। इस मामले में उन्होंने महामहिम राज्यपाल से निवेदन करते हुये मांग किया है कि उपरोक्त घटना की उच्चस्तरीय जांच की जाकर दोषियों पर कार्यवाही करने और मृतकों के परिजनों को 50 लाख रूपये तथा घायलों को 20 लाख रूपये मुआवजा दिये जाने हेतु आवश्यक कार्यवाही की जावे।


 

No comments:

Post a Comment

Translate