Friday, May 7, 2021

स्वतंत्रता सेनानी स्व. रघुनाथ प्रसाद तिवारी के पोते रिसभ तिवारी जबलपुर में कर रहे सिवनी के मरीजो की सेवा

स्वतंत्रता सेनानी स्व. रघुनाथ प्रसाद तिवारी के पोते रिसभ तिवारी जबलपुर में कर रहे सिवनी के मरीजो की सेवा


सिवनी/जबलपुर। गोंडवाना समय।

जरूरतमंद, पीड़ित मानव हो या पशु पक्षी उनकी सेवा करना प्रचार-प्रसार, प्रशंसा व सराहना की भूखी नहीं होती है वरन वह दूसरों को प्रेरित करने के लिये प्रमाण होती है। अच्छे कार्य को प्रोत्साहित करने से अन्य लोगों को प्रोत्साहन मिलता है। वहीं सहयोग और मदद का न कोई आकार होता है और न ही कीमत होती है वरन यह नि:स्वार्थ भावना से किया जाने वाला सकारात्मक कार्य होता है।
        संकट के समय जो साथ दे वह मददगार होता है और फिर जिनके यहां यदि बुजुर्गों के अच्छे कर्म उनके परिवार में परिलक्षित होते है तो वहां पर यदि परिवार के सदस्य उनके पदचिह्नों पर चलकर कार्य कर बजुर्गों के सपनों को साकार करने की दिशा में अग्रसर हो तो वे अपने बजुर्गों के तरह इतिहास बनाते है।
         ऐसा ही सहयोग का कार्य केवलारी क्षेत्र के ख्यातिप्राप्त व्यक्तित्व एवं स्वतंत्रता संग्राम सेनानी  स्व. श्री रघुनाथ प्रसाद तिवारी के पोते इंजीनियर रिसभ तिवारी नेताजी सुभाषचंद्र बोस मेडिकल कालेज जबलपुर में आक्सीजन की सप्लाई का कार्य के साथ मरीजों का सहयोग भी कर रहे है। इंजिनियर रिसभ तिवारी जहाँ 24 घंटे इमरजेंसी डयूटी करने के साथ-साथ सिवनी जिले के मरीजो का भी विशेष ध्यान रख रहे है। 

जन्मभूमि के कर्ज को अदा करने निभा रहे फर्ज 


जबलपुर में भर्ती हुए कई परिजनों के द्वारा इंजिनियर रिसभ तिवारी की जानकारी अनेक सोशल मीडिया व अन्य माध्यमों से लग रही है। विगत महीने जब सभी जगह स्वस्थ सुविधायें कम होने व मरीजों की संख्या अधिक होने के कारण स्थिति गंभीर बनी हुई थी। ऐसे समय में मरीज व उनके परिजन जबलपुर मेडिकल उपचार हेतु पहुंच रहे थे।
        उस दौरान मरीजो के आग्रह पर पर्ची कटवाने से लेकर वार्ड की और ले जाने और अन्य मार्गदर्शन के लिए इंजिनियर रिसभ तिवारी कोरोना महामारी जो कि संक्रमित बीमारी है उसके बावजूद उन्होंने सुरक्षित साधनों का प्रयोग कर मरीजों व परिजनों का सहयोग करने में विशेष भूमिका निभाया। कोरोना संक्रमित मरीजों को कोविड वार्उ में पहुंचाने के साथ ही मरीजो को अन्य सामग्रियां और साहस व आत्मविश्वास बढ़ाने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे है।
        वहीं संकट के समय सहयोग करने वाले इंजिनियर रिसभ तिवारी कहते है कि वे अपने परिवार के बजुर्गों की राह पर चलने के साथ सिवनी जिले की जन्मभूमि के कर्ज को अदा करने के लिये फर्ज अदा करने में सहयोग कर रहे है।

No comments:

Post a Comment

Translate