Friday, June 4, 2021

जिले की जनता को कोरोना से सुरक्षित रखने के लिये कर्मठ कर्मचारियों की टीम कर रही है टीकाकरण का कुशल प्रबंधन

जिले की जनता को कोरोना से सुरक्षित रखने के लिये कर्मठ कर्मचारियों की टीम कर रही है टीकाकरण का कुशल प्रबंधन 


सिवनी। गोंडवाना समय।

ऐसे ही भारत देश को दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण करने वाला देश नहीं माना जाता है। पिछले कई वर्षो से हम बच्चों का नियमित टीकाकरण देखते आ रहे है और टीकाकरण को संचलित करने के लिए एक टीम होती है, जो कि एक चैन सिस्टम में काम करती है। कोविड-19 की महामारी से निपटने के लिए टीकाकरण आज सबसे जयादा जरुरी है। अभी तक सिवनी जिले का टीकाकरण लगभग 3 लाख के करीब पहुंच रहा है। 

आपको सुरक्षित रखने के लिये टीकाकरण के कार्य में निभा रहे कर्तव्य  


आपने अभी तक टीकाकरण में सत्र स्थल पर एएनएम या स्टाफ नर्स को टीके लगाते देखा होगा लेकिन यह टीका निर्माण कंपनियों से निकल कर विभिन माध्यम से हो कर जिले के स्टोर रूम से निकल कर जिले के टीकाकरण केंद्रों तक सुरक्षित कैसे और किनके माध्यम से आप तक पहुंचता है, यह जानना जरुरी है। आपको टीका लगा कर सुरक्षित रखने के कार्य में परदे के पीछे बहुत कर्मठ और जुझारू टीम काम कर रही है। हम आपको आज ऐसे ही टीम के कर्मठता के साथ कर्तव्य निभाने वाले स्वास्थ्य विभाग टीम से आपको अवगत करवाते है। ये सभी टीम के सदस्य बहुत ही महवपूर्ण है जो कि बीते कई दिनों से कोरोना से बचाव के लिये टीकाकरण के कार्य में दिन-रात आपको सुरक्षित रखने के लिए मेहनत कर रहे है। 

सफल टीकाकरण कार्य में ये निभा रहे महत्वपूर्ण भूमिका 


जैसा कि संगीत में 7 सुरों का महत्व होता है, रंगों में सात रंगों का महत्व है, वैसे ही सिवनी जिले में भी टीकाकरण कार्य में ये कर्मचारी सिवनी कलेक्टर डॉ राहूल हरिदास फटिंग, जिला पंचायत सीईओ श्री पार्थ जायसवाल के निर्देशन व सीएमएचओ डॉ के सी मेश्राम, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ लोकेश चौहान के निरंतर मार्गदर्शन में धनीराम ब्रोकर, डॉ ओम प्रकाश लोवंशी, धीरज पाल, अनिल पंद्रे, दुर्गेश राहंगडाले, आरिंजय दयाल, आदेश मालवीय, श्री संजय दुबे और राजेश चौकसे टीकाकरण को सुरक्षित रखने व पहुंचाने सहित सफल टीकाकरण कार्य में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे है। सबसे दुखद यह संदेश भी है टीकाकरण कार्य में स्व श्री मस्तराम तुमराम टीकाकरण कार्य में कर्तव्य निभाते समय हुई दुघर्टना में मृत हो गये उनका योगदान को भुलाया नहीं जा सकता है। 

धनीराम ब्रोकर का शहरी क्षेत्र में टीकाकरण में है विशेष योगदान 


श्री धनीराम ब्रोकर पिता स्व श्री दयाराम ब्रोकर जिनका जन्म स्थान महामाया वार्ड भैरागंज सिवनी है। इनकी शिक्षा एमएसडब्ल्यू, एम ए समाजशास्त्र, एमए भूगोल, बीएड एवं पीजीडीसीए, पीजीआरडी, पद एलडीसी एमआईएस डाटा असिस्टेंट पदस्थापना यूपीएचसी सिवनी जो कि 7 वर्ष से कार्यरत है। टीकाकरण में इनकी भूमिका सिवनी शहर के शहरी क्षेत्र में टीकाकरण में विशेष योगदान है। यही टीम की व्यवस्था बनाते हैं, मॉनिटरिंग करते हैं, रिपोर्टिंग करते हैं। कोई भी समस्या से उसका निदान करते हैं। शहरी क्षेत्र के लिए यह एक महत्वपूर्ण इकाई है। इनके कुशल कार्य से सिवनी शहर में टीकाकरण सफलता के साथ संभव है। 

सभी फोकल पॉइंट पर आवश्यक संसाधन उपलब्ध कराते है डॉ ओमप्रकाश लोवंशी 


हम आपको आगे टीकाकरण कार्य के लिये कर्तव्य निभा रहे डॉ ओमप्रकाश लोवंशी जिनकी उम्र 41 वर्ष है और इनका जन्म स्थान जिला होशंगाबाद ब्लॉक सिवनी मालवा है। इनकी शिक्षा बीएचएमएस रतलाम, एमबीए हॉस्टिपिटल एडमिस्ट्रेशन इंदौर, इनका पद वैक्सीन कोल्ड चेन मैनेजर जिला सिवनी है। जो अपने कर्तवय कार्य के तहत सिवनी जिले के बच्चो का टीकाकरण एव वर्तमान में चल रहे कोविड रोकथाम के लिए टीकाकरण का रिकॉर्ड और सभी फोकल पॉइंट पर आवश्यक संसाधन उपलब्ध कराना है। इसके साथ ही फोकल पॉइंट प्रभारियो से बात कर के सामंजस्य बनाना जिले में टीकाकरण अधिकारी के साथ विजिट करना और समस्या का तत्काल निरकरण करना है। 

टीकाकरण की डेली रिपोर्टिंंग जिले से लेकर प्रदेश तक पहुंचाते है धीरज पाल  


हम आपको आगे अवगत कराते है श्री धीरज पाल से जिनका जन्म 1979 को मध्यप्रदेश के जिला सिवनी के जिला अस्पताल में हुआ था। जिनकी प्रारंभिक शिक्षा मिशन इंग्लिश स्कूल में हुई, फिर हायर सेकेंडरी के लिए बड़ा मिशन व इन्होंने उच्च शिक्षा शासकीय पी जी कॉलेज सिवनी से किया। इन्होंने  एमकॉम, एमएससी, (सीएस) व एमएसडब्ल्यू की डिग्री प्राप्त की है। अपना कर्तव्य कार्य निभाने से पहले श्री धीरज पाल ने सर्वप्रथम शहर के विख्यात कम्प्यूटर कॉलेज में एडमिनिस्ट्रेटर व अध्यापन कराने कार्य किया है।
        वर्ष 2011 में इन्होंने स्वास्थ्य विभाग के बरघाट ब्लॉक में बीसीएम के पद पर अपना कर्तव्य की शुरूआत किया था। वहीं लगभग ढाई वर्ष इसी पद पर कर्तव्य निभाते हुए समाज व विभाग हित में अनेक नवाचार किया। इसके बाद वर्ष 2014 में इनका चयन सीएई अर्बन जबलपुर में हुआ। वर्ष 2016 में इन पदों के विलोपन के बाद वापस सिवनी में डीईओ ओर वर्तमान में जिला टीकाकरण कर्यक्रम में प्रभारी आरआईडीएम के दायित्वो का निर्वहन बखूबी कर रहे है।
        इस पद पर जिले के टीकाकरण की डेली रिपोटिंग सभी ब्लॉक से कलेक्ट कर प्रदेश को व अधिकारियों को उपलब्ध कराने के साथ ही सेशन क्रिएट करना होता है। वहीं कभी कभी डीआईओ टीम के साथ सत्र स्थलों का मुआयना आदि करना होता है। इन सभी कार्यों का निर्वहन श्री धीरज पॉल द्वारा जवाबदारी के साथ निभाया जा रहा है। 

स्व मस्तराम तुमराम का योगदान व बलिदान रखा जायेगा याद 


आगे हम आपको जो अब हमारे बीच में नहीं है लेकिन उनकी योगदान रूपी यादे मौजूद है। सिवनी जिले में कोरोनो से बचाव के लिये टीकाकरण के महाभियान में कर्तव्य निभाते हुये टीम के एक सदस्य की मृत्यू भी हुई। स्व श्री मस्तराम तुमराम जिनकी मृत्यु 22 अप्रैल 2021 को लखनादौन के पास वैक्सीन वाहन जो कि एक भैंस से टकराने के कारण दुर्घटनाग्रस्त होने के कारण से हो गई। सिवनी जिले में टीकाकरण अभियान में स्व श्री मस्तराम तुमराम का योगदान व उनका बलिदान भी याद रखा जाएगा। 

राज्य, जिला से लेकर ब्लॉक के फोकल प्वाइँट तक वैक्सीन सुरक्षित पहुंचाते है अनिल पंद्रे 


सिवनी जिले में टीकाकारण अभियान के कार्य में श्री अनिल पंद्रे जो कि फोर्मसिस्ट पद है। इन्होंने कक्षा 10 वी जवाहर नवोदय विधालय मल्हार बिलासपुर से किया था। वहीं कक्षा 12 वी शास. बालक. उच्च. मा. वि. पचमढ़ी से किया।  डिप्लोमा इन फार्मसी आर. जी. पी. वि. वि. भोपाल से किया। इनका अनुभव स्वाथ्य विभाग में लगभग 8 वर्षो से कार्य करने का है। वहीं इनकी वर्तमान पदस्थापना जिला वैक्सीन स्टोर सिवनी में लगभग 2 वर्ष से है। टीकाकरण में इनका वर्तमान कार्य राज्य से परिवहन माध्यम से आने वाले वैक्सीन को सुरक्षित रखवाकर जिले के हर ब्लाक के फोकल पॉइंट तक पहुंचवाना है।  

वैक्सीन लाते समय दुघर्टना में चोटिल गये थे दुर्गेश राहंगडाले  


सिवनी जिले में टीकाकरण में कर्तव्य निभाने वाले में आगे हम आपको श्री दुर्गेश राहंगडाले के कार्यों से अवगत कराते है। श्री दुर्गेश राहंगडाले मेहरा पिपरिया, तहसील बरघाट, जिला सिवनी के निवासी हैं। यह सर्पोटिंग स्टाफ के पद पर जिला टीकाकरण आॅफिस में पदस्थ हैं। इनके द्वारा बहुत महत्वपूर्ण कार्य किया जा रहा है। इनका भी एक्सीडेंट जबलपुर से सिवनी वैक्सीन लाते समय हो गया था, इन्हें गंभीर चोटें आई थी। इसके बाद भी इन्होंने अपने कर्तव्य का पूरे ईमानदारी के साथ में अपने कर्तव्यों का निर्वाहन किया।

तकनीकि समस्या का फौरन समाधान करते है आरिंजय दयाल 


हम आपको बता दे कि कोविड-19 टीकाकरण एवं बच्चो के टीकाकरण में अहम भूमिका निभाने वाले श्री आरिंजय दयाल जो कि कोल्ड चैन टेक्सियन है। बीते लगभग 28 साल से ये अपनी सेवाए दे रहे है। राष्टय कोल्ड चैन प्रबंधन के द्वारा आयोजित होने वाले प्रशिक्षण केंद्र पूणे, देहली, ग्वालियर, भोपाल, इंदौर, जबलपुर में इन्होने कोल्ड चैन में रखे जाने वाले उपकरणों के बारे में प्रशिक्षण लिया। आई एल आर डीप फ्रीजर और स्तेलैजर के रख रखाव के बारे में तकनिकी जानकारी देते है। इसके साथ ही पूरे जिले में तकनीकि समस्या आने पर फौरन उसे ठीक करना भी बखूबी जानते है। वैक्सीन को सुरक्षित रखने में आरिंजय दयाल महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे है। 

उच्चाधिकारियों के निर्देश को पत्र के माध्यम से समन्वय स्थापित करते है आदेश मालवीय 


टीकाकरण के कार्य में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वालों में श्री आदेश मालवीय पिता श्री बाबूलाल मालवीय रिटार्यड प्रोजेक्ट्निस्ट स्वास्थ्य विभाग सिवनी। इनकी प्रारंभिक शिक्षा हिंदी मेन बोर्ड नगरपालिका के सामने सिवनी से हुई वही मिडिल/हाय /हायरसेकण्ड्री मिशन उ .मा .शाला सिवनी से किया है। वहीं इन्होंने स्नातक बी ए पी जी कालेज सिवनी से किया है।
         आगे शैक्षणिक अध्ययन इन्होंने एम एस डब्लू म. प्र. भोज  वि विद्यालय छिंदवाडा किया है। वहीं स्वास्थ्य विभाग में ये वर्ष 2005 से सेवाए दे रहे है। वर्तमान में जिला प्रबंधन इकाई सिवनी में कंप्यूटर आॅपरेटर के पद में कार्य कर रहे है। श्री आदेश मालवीय का कार्य कोविड कमांड सेण्टर से जिले के कोविड मरीजो से बात करना, स्वास्थ्य विभाग के सभी राष्टय कार्यकर्मो में विभाग और अधिकारियो के आदेश निदेर्शों को पत्र के माध्यम से समन्वय स्थापित करना और अपने सभी स्वास्थ्य विभाग साथियों की किसी भी प्रकार की समस्या के लिए हमेशा सहयोग करते है।  

कोविड कार्य योजना एवं शहरी टीकाकरण में अहम भूमिका निभा रहे संजय दुबे


हम आपको बता दे कि श्री संजय दुबे स्वास्थय विभाग में कार्यरत है। श्री संजय दुबे का जन्म घुघरी जिला मण्डला में हुआ है। इन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा मण्डला जिले के घुघरी ग्राम से किया है। वहीं माध्यमिक व हाईस्कूल की शिक्षा खबासा से करने के पश्चात हायर सेकेण्ड्री का शैक्षणिक अध्ययन कुरई से किया  है। वहीं श्री संजय दुबे ने महाविद्यालयीन शैक्षणिक अध्ययन पी जी कॉलेज सिवनी से एम ए समाजशास्त्र से किया है। वर्तमान में जिला मलेरिया कार्यालय में सेवाए दे रहे है। इसके साथ ही स्वास्थय विभाग के राष्ट्रीय कार्यकर्मों के प्रचार-प्रसार में महतत्वपूर्ण भूमिका निभाते है। अभी कोरो ना महामारी में मलेरिया कार्य के साथ-साथ जिले में कोविड कार्य योजना एवं शहरी टीकाकरण में अहम भूमिका निभा रहे है। 

No comments:

Post a Comment

Translate