Wednesday, June 9, 2021

भारत का तिरंगा झण्डा बूमरेंग खेल में हुआ शामिल, विवेक मोंट्रोंज के प्रयास भारत को मिली बड़ी उपलब्धी

भारत का तिरंगा झण्डा बूमरेंग खेल में हुआ शामिल, विवेक मोंट्रोंज के प्रयास भारत को मिली बड़ी उपलब्धी 


सिवनी/नई दिल्ली। गोंडवाना समय।

मोगली का अस्त्र जो कि आदिवासियों के अस्त्र के रूप में कई देशों में विख्यात है। जिसे बूमरेंग के खेल के नाम से जाना जाता है। उक्त खेल को अंतराष्ट्रीय स्तर पर खेला जाता है। विशेषकर आस्ट्रेलिया में बूमरेंग की अंतराष्ट्रीय स्तर पर प्रतियोगिता आयोजित की जाती है। कोरोना महामारी के चलते बीते वर्ष से यह प्रतियोगिता आयोजित नहीं की गई है।
        


वहीं अंतराष्ट्रीय स्तर पर आयोजित होने वाली प्रतियोगिता के लिये एवं अंतराष्ट्रीय स्तर पर बूमरेंग खेल में भारत का प्रतिनिधित्व करने के लिये श्री विवेक मोन्ट्रोज ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाया है। इसके साथ ही अब उनके ही प्रयास भारत का तिरंगा झण्डा अंतराष्ट्रीय स्तर पर बूमरेंग खेल में अपना स्थान बनाने में कामयाब हो चुका है। इसके पहले तक भारत का स्थान बूमरेंग खेल में नहीं था। भारत देश का स्थान व नाम बूमरेंग खेल में शामिल कराने में विवेक मोन्ट्रोज ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाया है। 

    


मोगली का अस्त्र बूमरेंग खेल को भारत देश के कई प्रांतों में पहुंचा चुके विवेक मोन्ट्रोज ने देश भर में इसके अनेक प्रशिक्षक भी उन्होंने तैयार कर दिये है। उनके द्वारा देश में बूमरेंग खेल प्रशिक्षकों के द्वारा सिखाया जा रहा है। विवेक मोन्ट्रोज ने बताया कि भारत देश वासियों के लिये यह बड़ी उपलब्धी है कि अब भारत का तिरंगा झंडा भी बूमरेंग खेल में शामिल हो गया है। इसे बूमरेंग में प्रदर्शित किया गया है। बूमरेंग में सभी देशों के झंण्डा का प्रतीक चिह्न को रेखांकित किया गया है। 

केंद्रीय मंत्री फग्ग्न सिंह कुलस्ते ने विवेक मोंट्रोज को प्रदान किया प्रशंसा पत्र 

    


केंद्रीय इस्पात राज्य मंत्री भारत सरकार, श्री फग्गन सिंह कुलस्ते ने 8 जून को ही विवेक मोन्ट्रोज को प्रशंसा पत्र प्रदान करते हुये उन्हें शुभकामनाये दिया है।

हम आपको बता दे कि केंद्रीय मंत्री श्री फग्गन सिंह कुलस्ते ने प्रशंसा पत्र में उल्लेख किया है कि श्री विवेक मोन्ट्रोज अध्यक्ष इंडो बूमरेंग एसोसियन पिछले 30 वर्षों से आदिवासी पारंपरिक खेल बूमरेंग को प्रोत्साहन देने एवं प्रशिक्षण देने का कार्य कर रहे है। बूमरेंग खेल के प्रति सर्मण भाव की सराहना करते हुये उनके उज्जवल भविष्य की कामना किया। इस दौरान उनके साथ गोंड भित्ती चित्रकला के प्रसिद्ध कलाकार आनंद श्याम भी मौजूद रहे। 


No comments:

Post a Comment

Translate