Saturday, July 17, 2021

प्रदेश में कानून व्यवस्था बनाने में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान फेल- तुलेश्वर सिंह मरकाम

प्रदेश में कानून व्यवस्था बनाने में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान फेल- तुलेश्वर सिंह मरकाम

नेमावर में मृतकों दी गई श्रद्धांजलि


मंडला। गोंडवाना समय। 

शनिवार को गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष सहित प्रांतीय पदाधिकारियों का आगमन हुआ है। मण्डला जिले गोंगपा के जिला अध्यक्ष कमलेश तेकाम ने बताया कि हाल ही में देवास जिले के नेमावर तहसील में 5 आदिवासियों की हत्या कर 12 फिट गहरे गड्ढे में गाड़ दिया गया। जिसका विरोध गोंड़वाना गणतंत्र पार्टी द्वारा लगातार किया जा रहा है। बताया गया कि 18 जुलाई को गोंड़वाना गणतंत्र पार्टी द्वारा नेमावर में न्याय यात्रा निकालकर राष्ट्रव्यापी धरना प्रदर्शन किया जाएगा। जिसमें मृत 5 आदिवासियों के परिजनों को 3 करोड़ रुपए का मुआवजा, क्षेत्रीय विधायक को सह आरोपी बनाने के साथ ही इस पूरे मामले की सीबीआई जांच कराने की मांग की जाएगी। मंडला पहुंचे सभी पदाधिकारी शनिवार को मंडला पहुंचे थे, यहां से वे नेमावर के लिए रवाना हो गए।

आदिवासियों की सरेआम हो रही हत्या 




गोंगपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष तुलेश्वर सिंह मरकाम ने कहा कि मध्यप्रदेश  और केन्द्र सरकार कानून व्यवस्था बनाने में पूरी तरह नाकाम साबित हो रही है। एक तरफ तो आदिवासियों के संरक्षण, उत्थान की बातें कही जाती है वहीं दूसरी ओर आदिवासियों की जहां सरेआम हत्या हो रही है। वहीं क्षेत्रीय भाजपा पार्टी से जुड़े विधायक द्वारा आरोपियों को संरक्षण दिया जाता है। गोंगपा अध्यक्ष श्री तुलेश्वर सिंह मरकाम ने कहा कि सीएम श्री शिवराज सिंह चौहान कहते हैं कि वे अपराधियों को 10 फिट गहरे गड्ढे में गाड़ देंगे जबकि सच्चाई यह है कि उनके संरक्षण में भोले-भाले आदिवासियों की हत्या कर उन्हें 12 फिट गड्ढे में गाड़ा जा रहा है। राष्ट्रीय महासचिव श्याम मरकाम ने कहा कि आदिवासी बाहुल्य मंडला जिले में आदिवासियों के उत्थान के लिए तो कोई काम नहीं किए जा रहे हैं बल्कि आदिवासियों को शराब बनाने की छूट देकर आदिवासियों को शराब का आदि बनाया जा रहा है।

कुलस्ते आदिवासियों के उत्थान के लिए कोई काम नहीं कर सके 

राष्ट्रीय प्रवक्ता जयनाथ केराम ने कहा कि मंडला जिले में खनिज संपदा की भरमार है। वर्तमान में केन्द्रीय इस्पात राज्यमंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते जिले से जुड़े हुए हैं वे पिछले कई सालों से जिले के सांसद भी हैं इसके बाद भी आज तक मंडला जिले में एक फैक्ट्री तक नहीं लगा सके हैं। उन्होंने यहां तक कहा कि आदिवासी वर्ग से होने के बाद भी केन्द्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते आदिवासियों के उत्थान के लिए कोई काम नहीं कर सके हैं।

नेमावर की मृतकों को दी गई श्रद्धांजलि


गोंगपा के राष्ट्रीय व प्रांतीय पदाधिकारी मंडला पहुंचे थे, जिनका गोंगपा के जिलाध्यक्ष कमलेश तेकाम के नेतृत्व में बड़ी संख्या में कार्यकतार्ओं के साथ सभी पदाधिकारियों का स्वागत किया गया।

जिसके बाद स्थानीय रेस्ट हाउस में सभी पदाधिकारी एकत्रित हुए और यहां देवास के नेमावर में मारे गए सभी आदिवासी मृतकों को दो मिनिट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी गई है।

ये रहे उपस्थित

इस संपूर्ण कार्यक्रम में गोंगपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष तूलेश्वर मरकाम, राष्ट्रीय महासचिव श्याम मरकाम, राष्ट्रीय प्रवक्ता जयनाथ केराम, मंडला जिला अध्यक्ष कमलेश तेकाम, प्रदेश संगठन मंत्री हरेन्द्र मार्को,  प्रदेश प्रचार मंत्री राम खिलावन तिवारी, संभागीय उपाध्यक्ष देवेन्द्र मरावी, उपाध्यक्ष विकास लखपति, अंकित सेंदराम, योगेन्द्र चक्रवर्ती सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित रहे। कार्यक्रम के बाद सभी पदाधिकारी नेमावर के लिए रवाना हो गए।

No comments:

Post a Comment

Translate