Thursday, July 15, 2021

भीली अस्मिता के संरक्षण हेतु भील प्रदेश राज्य बनाए जाने की मांग को लेकर सौंपा ज्ञापन

भीली अस्मिता के संरक्षण हेतु भील प्रदेश राज्य बनाए जाने की मांग को लेकर सौंपा ज्ञापन 


धार/बदनावर। गोंडवाना समय।

भील प्रदेश मुक्ति मोर्चा के तत्वाधान में भील प्रदेश की मांग को लेकर 4 राज्यों में ज्ञापन 15 जुलाई 2021 को दिया गया। इसी के तहत धार जिले के बदनावर व अन्य ब्लॉकों में भी ज्ञापन दिया गया। बदनावर मेंं भील प्रदेश की मांग को लेकर भीली बोली, भीली संस्कृति, भीली पूजा पद्धति  भीली विवाह पद्धति गणतंत्र समाज व्यवस्था के अस्तित्व रक्षार्थ यानी भीली अस्मिता के संरक्षण हेतु भील प्रदेश राज्य बनाए जाने ब्की मांग को लेकर समस्त आदिवासी परिवार भील सेना, जयस द्वारा ज्ञापन दिया गया। 

ज्ञापन सौंपते समय ये रहे मौजूद 


जिसमें भेरूलाल वसुनिया, कन्हैयालाल वसुनिया, अशोक भाभर, शिवा गिरवाल, दिलीप मेडा, सूरज गिरवाल, मनोहर वसुनिया, अजय गामड़, अर्जुन मेडा, अंबाराम बिलवाल, मनोहर मकवाना, विक्रम भाभर, महेंद्र कटारा, अंबाराम बिलवाल, कन्हैया गिरवाल, विजय वसुनिया, राकेश खराड़ी, राकेश मुनिया, राकेश निनामा, राजकुमार चौहान, जयंती मेडा, परमेश वसुनिया, मदन डामोर, राहुल बारदेव, कालु मोरी, नन्द लाल, भीम ओसारी, निलेश भूरिया, अमबाराम बिलवाल, दयाराम वसुनिया, मुकेश राजेश राज वसुनिया, कार्यकारिणी अध्यक्ष दिलीप निनामा, विजय वसुनिया एवं समस्त आदिवासी समाज के कार्यकर्ता मौजूद थे। वहीं ज्ञापन का वाचन रवि डांवर ने किया एवं आभार विक्रम सोलंकी भील सेना जिला अध्यक्ष धार ने माना। 

No comments:

Post a Comment

Translate