Sunday, August 22, 2021

''इनर वॉइस ग्रुप'' ने पेड़ो पर रक्षासूत्र बांधकर लिया सुरक्षा का वचन

''इनर वॉइस ग्रुप'' ने पेड़ो पर रक्षासूत्र बांधकर लिया सुरक्षा का वचन

4 वर्षों से लगातार पेड़ों को बांध रहे हैं रक्षा सूत्र 


अजय नागेश्‍वर संवाददाता
मण्डला। गोंडवाना समय।

आज पूरा देश रक्षाबंधन का त्यौहार बड़े धूम धाम से मनाते हैं। प्रत्येक बहने अपने भाई की कलाई पर रक्षा सूत्र बांधकर उनकी दीघार्यु और ऊज्जवल भविष्य की कामना करती है। वहीं भाई अपनी बहन की सुरक्षा के लिए वचन देता है। भाई- बहन के अटूट प्रेम का ये त्यौहार प्रसिद्ध है। भाई- बहन दोनों एक दूसरे के ऊज्जवल भविष्य की कामना करते हैं।

आज हमारा पर्यावरण अपनी सुरक्षा की मांग रहा है भीख


आज हमारा पर्यावरण अपनी सुरक्षा की भीख मांग रहा है। जिस तरह से मानव ने अपने विकास के लिए पर्यावरण को क्षति पहुंचाई है वह अशोभनीय है। कोरोना ने प्रकृति के साथ खिलवाड़ करने का बदला दिखाया है। आज विश्‍व के प्रत्येक व्यक्ति को पर्यावरण की जिम्मेदारी समझना चाहिए। जबकि पर्यावरण किसी एक व्यक्ति का नहीं अपितु समस्त जगमण्डल की सुरक्षा का वचन लिए हुए है। रक्षाबंधन के इस मौके पर ग्रुप के सभी सदस्य भाई-बहन दोनों ने आप-पास के पेड़-पौधों को रक्षा सूत्र बांधा व जीवन भर उनकी सुरक्षा करने का संकल्प लिया। 

पर्यावरण ने हमें सब कुछ दिया है क्यों न हम बदले पर सिर्फ उन्हें सुरक्षित रखें


ग्रुप के सदस्य इस मुहिम को आगे बढा़ते हुए पास के जंगल पर जाकर वृक्ष को बड़ी राखी बांधे, इसके साथ ही तिलक वंदन करते हुये अगरबत्ती प्रसाद से पूजन अर्चन भी किया। सभी सदस्यों ने अपने परिवार की तरह पर्यावरण के देखभाल का वचन लिया। ''इनर वॉइस ग्रुप'' के संस्थापक दीपमणी ने बताया कि यह मुहिम हम पिछले चार वर्षों से करते आये हैं। पहले वर्ष पर लोगों का रूझान कम था पर इस वर्ष बड़े उत्साह से लोग इस मुहिम में हिस्सा लिए। हम सभी यह मुहिम पर्यावरण को सुरक्षित करने के लिए करते हैं। पर्यावरण ने हमें सब कुछ दिया है क्यों न हम बदले पर सिर्फ उन्हें सुरक्षित रखें। इनर वाइस ग्रुप के सदस्यों ने जन मानस से अपील की है कि अभी भी वक्त है पर्यावरण के प्रति सजग होने का।

No comments:

Post a Comment

Translate