Saturday, October 2, 2021

11 लाख की धोखाधड़ी में कार्यवाही कराने कलेक्टर कार्यालय के समक्ष धरना जारी

11 लाख की धोखाधड़ी में कार्यवाही कराने कलेक्टर कार्यालय के समक्ष धरना जारी

जयस ने किया एलान न्याय मिलने तक कलेक्टर के आॅफिस पर ही डटे रहेंगे


झाबुआ। गोंडवाना समय।

गरीब आदमी के साथ 11 लाख रुपए की मुआवजा राशि की धोखाधड़ी के संबन्ध में एसडीएम साहब, झाबुआ कलेक्टर के नाम शिकायत सौंप दी है। इस संबंध में कलेक्टर से चर्चा करेंगे और न्याय मिलने तक कलेक्टर के आॅफिस पर ही डटे रहेंगे।

भूखे प्यासे कलेक्टर कार्यालय झाबुआ में बैठे रहेंगे


उक्त संबंध में कमलेश्वर डोडियार भील, संस्थापक अध्यक्ष, जयस-जय आदिवासी युवा संगठन भील एकता मिशन ने जानकारी देते हुये बताया कि कोरोना गाइडलाइन के मद्देनजर बहुत कम आए हैं। मास्क लगाकर सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए भूखे प्यासे कलेक्टर कार्यालय झाबुआ में बैठे रहेंगे। रातें भी यहीं गुजरेगी 3 अक्टूबर की देर रात तक नरू भाई को न्याय नहीं मिलता है तो कल रात 9 बजे से आमरण अनशन शुरू करेंगे। वहीं उन्होंने यह भी कहा है कि माहौल किसी भी स्थिित में खराब नहीं होने देंगे, अप्रिय स्थिति बिलकुल नहीं बनेगी क्योंकि गांधी जी, बाबा साहेब अंबेडकर जी को साथ लेकर आए हैं।

षडयंत्र करके धोखे से जमीन अपने नाम कर ली और ले लिया 11 लाख मुआवजा 

8 लेन एक्सप्रेस में मुआवजा राशि 11 लाख रूपये की धोखाधड़ी संबंधी शिकायते कई बार करने के बाद भी कार्यवाही होने की स्थिति पर पीड़ित परिवार के साथ झाबुआ कलेक्टेÑट कार्यालय में जयस के धरातल पर कार्य करने वाले कमलेश डोडियार धरना पर बैठ गये है। मामला यह है कि झाबुआ जिले के थांदला थाना अंतर्गत गांव तलवाड़ा निवासी नरू पिता कचरा कटारा के साथ कुछ लोगों ने षडयंत्र करके धोखे से जमीन अपने नाम कर ली इसके साथ ही डेढ़ साल पहले 8 लाईन एक्सप्रेस वे में मुआवजा राशि 11 लाख रूपये भी ले लिया है और वास्तविक भूमि मालिक नरू पिता कचरा को एक रूपया भी नहीं दिया गया है। वहीं रूपया मांगने पर भूमि स्वामी को धोखाधड़ी करने वाले जान से मारने की धमकी देते है। 


No comments:

Post a Comment

Translate