Sunday, October 17, 2021

सत्ता में बैठे लोगों ने भी पीला गमछा डालकर गोंडवाना के इतिहास की बात करना चालू कर दिया है-अनिल सिंह धुर्वे

सत्ता में बैठे लोगों ने भी पीला गमछा डालकर गोंडवाना के इतिहास की बात करना चालू कर दिया है-अनिल सिंह धुर्वे 

दादा हीरा सिंह मरकाम के आंदोलन का परिणाम है कि अब 5 वी व 6 वी अनुसूचि की बात कर रहे है

गोंडवाना महासभा समिति बगैया द्वारा दशहरा के दिन मनाया गया गोंडवाना संस्कृति दशमी जोहार वार्षिक महोत्सव 


सिंगरौली। गोंडवाना समय।

गोंडवाना महासभा समिति बगैया द्वारा दशहरा के दिन गोंडवाना संस्कृति दशमी जोहार वार्षिक महोत्सव का आयोजन गोंडवाना गणतंत्र पार्टी युवा मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल सिंह धुर्वे के मुख्य आथित्य कार्यक्रम की अध्यक्षता राम सिंह आयाम द्वारा किया गया। 

पेन ठाना में गोंगो कार्यक्रम व सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति दी


सर्व प्रथम फड़ा पेन ठाना में गोंगो कार्यक्रम हुआ तत्पश्चात मंचीय कार्यक्रम हुआ। वहीं रात्रिकालीन शैला, करमा, गोंडवाना संदेश लोक कला मंच मझवा टोला की जोर दार सांस्कृतिक प्रस्तुति रही।

इसके साथ ही गोंडवाना स्टूडेंट यूनियन की जिला, ब्लाक एवं हाई सेकंडरी स्कूल के प्रभारी तथा ट्राईबल गोंडवाना अधिकारी कर्मचारी संघ जिला ब्लाक और गोंडवाना गणतंत्र सेना सहित गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के विचारक समाज को सामाजिक, आर्थिक, धार्मिक सांस्कृतिक और राजनैतिक जवलंत विचारों का प्रस्तुति दी गई। 

''जल, जंगल, जमीन हो गोंडवाना के अधीन'' का दिया था नारा 


इस दौरान कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अनिल सिंह धुर्वे ने अपने वक्तव्य के रूप में संदेश दिया कि दादा हीरा सिंह मरकाम जी ने ''जल, जंगल, जमीन हो गोंडवाना के अधीन'' का नारा 13 जनवरी 1991 को अमरकंटक से गोंडवाना गणतंत्र पार्टी बनाकर किया था जिसका ही परिणाम है कि अब लोग 5 वी अनुसूची और 6 वी अनुसूची की बात करते हैं। 

गोंडवाना आंदोलन को बनाए रखना होगा तभी आप राज पाठ करोगे

अब गोंडवाना समग्र विकास क्रांति आंदोलन के माध्यम से सत्ता और राज पाठ की बात करती हैं और दादा हीरा सिंह मरकाम जी के आंदोलन के बदौलत आज सत्ता में बैठे लोग भी पीला गमछा डालकर और गोंडवाना की इतिहास की बात करना चालू कर दिए है। इससे स्पष्ट होता है कि एक दिन गोंडवाना राज्य की स्थापना होना ही है। इसलिये हम सबको मिलकर गोंडवाना आंदोलन को बनाए रखना होगा तभी आप राज पाठ करोगे। 

इसलिए गोंडवाना संस्कृति दशमी जोहार के रूप में मनाते हैं

वहीं कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे दादा राम सिंह आयाम द्वारा अपने संदेश में बताया गया कि ना हम राम के है और ना ही रावण के है, हम लोग तो गोंडवाना के है इसलिए गोंडवाना संस्कृति दशमी जोहार के रूप में मनाते हैं। कार्यक्रम में प्रमुख रूप से राम शिया जायसवाल प्रदेश अध्यक्ष पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ, शैलेन्द्र सिंह आयाम एडवोकेट प्रदेश कार्यवाहक अध्यक्ष युवा मोर्चा, दल प्रताप सिंह पैगाम जिला अध्यक्ष, रमेश कुमार पनिका जिला अध्यक्ष किसान मोर्चा, गोपीचंद त्यागी शामिल रहे। 

गोंडवाना की झलक रीवा संभाग में जनता की सेवा में समर्पित दिखाई देनी चाहिए

गोंडवाना संस्कृति दशमी जोहार कार्यक्रम के दौरान 16 अक्टूबर 2021 को गोंडवाना गणतंत्र पार्टी युवा मोर्चा संगठन का विस्तार किया गया। रीवा संभाग के गोंडवाना गणतंत्र पार्टी युवा मोर्चा के संभागीय अध्यक्ष दुर्गा सिंह आयाम, सिंगरौली जिले के जिला अध्यक्ष को दायित्व सौंपा गया वहीं सिंगरौली जिले के जिला अध्यक्ष सुरजन सिंह मरकाम युवा मोर्चा के बने । शहडोल जिले के युवा मोर्चा के संगठन मंत्री के रूप में राम कृपाल सिंह बड़कड़े को बनाया गया, गोंडवाना गणतंत्र पार्टी अनुसूचित जाति के महिला मोर्चा के जिला अध्यक्ष प्रियंका साकेत को बनाया गया। गोंडवाना स्टूडेंट यूनियन की देवसर ब्लाक के ब्लाक अध्यक्ष कमल सिंह नेटी और सिंगरौली ब्लाक अध्यक्ष गुडडू सिंह उइके नवनिर्वाचित हुए गोंडवाना गणतंत्र पार्टी युवा मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल सिंह धुर्वे द्वारा सभी को हल्दी चावल की टीका लगाकर बधाई देते हुए कहा कि गोंडवाना की झलक रीवा संभाग में स्पष्ट रूप से जनता की सेवा में समर्पित दिखाई देनी चाहिए।


No comments:

Post a Comment

Translate